It's true that terrorism still exists. They are wrong when they say that it has ended. If we want to end terrorism, then we must speak to our neighbours. I remember Vajpayee's remark that friends can be changed but not neighbours: National Conference lead | Editorji Hindi
  1. home
  2. > भारत
  3. > महबूबा के बाद फारूक अब्दुल्ला भी बोले- हमें अपने पड़ोसियों से करनी चाहिए बात
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

महबूबा के बाद फारूक अब्दुल्ला भी बोले- हमें अपने पड़ोसियों से करनी चाहिए बात

Feb 22, 2021 08:15 IST

पाकिस्तान के साथ बातचीत को लेकर अब नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने भी पैरवी की है. उन्होंने कहा कि यह सच है कि आतंकवाद अभी भी मौजूद है. उन्होंने कहा कि वे गलत हैं जो कहते हैं कि आंतकवाद समाप्त हो गया है. अगर हम आतंकवाद को खत्म करना चाहते हैं, तो हमें अपने पड़ोसियों से बात करनी चाहिए. फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि मुझे वाजपेयी की टिप्पणी याद है कि दोस्त बदले जा सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं. बता दें महबूबा मुफ्ती ने भी जम्मू-कश्मीर में शांति बहाली के लिए पाकिस्तान से बात करने की वकालत की है. महबूबा ने कहा था कि 30 सालों से हमारे लोग शहीद हो रहे हैं.

भारत