हाइलाइट्स

  • 3 मई यानि मंगलवार को मनाई जा रही है अक्षय तृतीया
  • अक्षय तृतीया को आखा तीज भी कहा जाता है
  • सोना खरीदने के लिए ये तिथि सबसे शुभ मानी जाती है

लेटेस्ट खबर

Bhagwant Maan Marriage: भगवंत मान से पहले यह दिग्गज नेता कर चुके हैं एक से ज्यादा शादी

Bhagwant Maan Marriage: भगवंत मान से पहले यह दिग्गज नेता कर चुके हैं एक से ज्यादा शादी

Viral Video: बोरिस जॉनसन की बिल्ली भी मुश्किल में

Viral Video: बोरिस जॉनसन की बिल्ली भी मुश्किल में

Bihar News: प्रोफेसर ने लौटाई 24 लाख की सैलरी, वजह जानकर सैल्यूट करेंगे

Bihar News: प्रोफेसर ने लौटाई 24 लाख की सैलरी, वजह जानकर सैल्यूट करेंगे

7 July Jharokha: फ्रांस से उड़ा हवाई जहाज मुंबई में खराब हुआ और भारत में हो गई सिनेमा की शुरुआत!

7 July Jharokha: फ्रांस से उड़ा हवाई जहाज मुंबई में खराब हुआ और भारत में हो गई सिनेमा की शुरुआत!

CM Bhagwant Mann करने जा रहे हैं दूसरी शादी, जानें- कौन थी उनकी पहली पत्नी और क्यों हुआ था तलाक

CM Bhagwant Mann करने जा रहे हैं दूसरी शादी, जानें- कौन थी उनकी पहली पत्नी और क्यों हुआ था तलाक

Akshaya Tritiya 2022: कब है अक्षय तृतीया? जानिये इस दिन सोना खरीदने का क्या है महत्व

Akshaya Tritiya 2022 Date: वैशाख महीने की शुक्ल पक्ष की अधिष्ठात्री देवी देवी मां गौरी हैं. इसीलिए इस दिन माता गौरी को साक्षी मानकर किया गया दान-पुण्य अक्षय हो जाता है यानि कभी नष्ट नहीं होता है. इसीलिए इस तिथि को अक्षय तृतीया कहा जाता है.

Akshaya Tritiya 2022: हिंदू धर्म में अक्षय तृतीया को बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है. अक्षय तृतीया हर साल वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है. इस साल ये 3 मई यानि मंगलवार को मनाया जा रहा है. हर शुभ (Positive) और मांगलिक कार्यों के लिए ये तिथि बेहद शुभ है. यही वजह है कि लोग अक्षय तृतीया के दिन विवाह, गृह-प्रवेश, नया बिजनस, धार्मिक अनुष्ठान और पूजा-पाठ कराते हैं. इसे आखा तीज भी कहा जाता है.

ये भी देखें: Hanuman Jayanti 2022: उत्तर भारत के ये पांच हनुमान मंदिरों से जुड़ी है लोगों की आस्था

मां लक्ष्मी की होती है पूजा

इस दिन देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती है. मान्यता है कि दीपावली की ही तरह इस दिन भी मां लक्ष्मी की पूजा करने से उनकी असीम कृपा बरसती है और जीवन धन-धान्य से भरा रहता है. सोना खरीदने के लिए ये तिथि सबसे शुभ मानी जाती है

अक्षय तृतीया (Akshaysa Tritiya) का महत्व

हिंदू मान्यातों के मुताबिक, वैशाख महीने की शुक्ल पक्ष की अधिष्ठात्री देवी देवी मां गौरी हैं. इसीलिए इस दिन माता गौरी को साक्षी मानकर किया गया दान-पुण्य अक्षय हो जाता है यानि कभी नष्ट नहीं होता है. इसीलिए इस तिथि को अक्षय तृतीया कहा जाता है. इसे एक अबूझ मुहूर्त भी माना जाता है, क्योंकि इस दिन किसी भी तरह के शुभ कार्य को किया जा सकता है.

अक्षय तृतीया शुभ मुहूर्त (Akshaysa Tritiya 2022 Shubh Muhurt)

पूजा के लिए शुभ मुहूर्त- सुबह 05 बजकर 39 मिनट से दोपहर 12 बजकर 18 मिनट तक.

सोना-चांदी खरीदने का शुभ मुहूर्त- सुबह 05 बजकर 39 मिनट से अगले दिन सुबह 05 बजकर 38 मिनट तक

चौघड़िया मुहूर्त (Akshaya Tritiya 2022 Chaugharia Muhurt)

प्रात:काल के लिए मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत)- सुबह 08 बजकर 59 मिनट से दोपहर 01 बजकर 58 मिनट तक

दोपहर के लिए मुहूर्त (शुभ)- दोपहर 03 बजकर 38 मिनट से शाम 05 बजकर 18 मिनट तक

शाम के लिए मुहूर्त (लाभ)- रात 08 बजकर 18 मिनट से रात 09 बजकर 38 मिनट तक

रात का मुहूर्त (शुभ, अमृत, चर)- रात 10 बजकर 58 मिनट से देर रात 02 बजकर 58 मिनट तक

अप नेक्स्ट

Akshaya Tritiya 2022: कब है अक्षय तृतीया? जानिये इस दिन सोना खरीदने का क्या है महत्व

Akshaya Tritiya 2022: कब है अक्षय तृतीया? जानिये इस दिन सोना खरीदने का क्या है महत्व

Sawan Somvar Vrat 2022: जानिये सावन में सोमवार के व्रत का विशेष महत्त्व और तरीका

Sawan Somvar Vrat 2022: जानिये सावन में सोमवार के व्रत का विशेष महत्त्व और तरीका

Sawan 2022: कब से शुरू हो रहा सावन का सोमवार? भगवान शिव होंगे प्रसन्न, नोट कर लें पूजा की विधि और मुहूर्त

Sawan 2022: कब से शुरू हो रहा सावन का सोमवार? भगवान शिव होंगे प्रसन्न, नोट कर लें पूजा की विधि और मुहूर्त

Jagannath Rath Yatra 2022: दुनियाभर में मशहूर है पुरी की जगन्नाथ रथयात्रा, जानिये इससे जुड़े रोचक तथ्य

Jagannath Rath Yatra 2022: दुनियाभर में मशहूर है पुरी की जगन्नाथ रथयात्रा, जानिये इससे जुड़े रोचक तथ्य

Monsoon prediction: मानसून की सटीक भविष्यवाणी करता है मंदिर, साइंस भी नतमस्तक है इसके आगे

Monsoon prediction: मानसून की सटीक भविष्यवाणी करता है मंदिर, साइंस भी नतमस्तक है इसके आगे

Gupt Navratri 2022: दुर्गा मां के भक्त गुप्त नवरात्रि की कर लें तैयारी, शुभ मुहूर्त में करें कलश स्थापना

Gupt Navratri 2022: दुर्गा मां के भक्त गुप्त नवरात्रि की कर लें तैयारी, शुभ मुहूर्त में करें कलश स्थापना

और वीडियो

Amarnath Yatra 2022: 3 साल के बाद अमरनाथ यात्रा शुरू, घाटी में गूंज रहे भोलेनाथ के जयकारे

Amarnath Yatra 2022: 3 साल के बाद अमरनाथ यात्रा शुरू, घाटी में गूंज रहे भोलेनाथ के जयकारे

Ganga Dussehra 2022: हरिद्वार से लेकर प्रयागराज तक, गंगा दशहरा पर आस्था की डुबकी के लिए उमड़े श्रद्धालु

Ganga Dussehra 2022: हरिद्वार से लेकर प्रयागराज तक, गंगा दशहरा पर आस्था की डुबकी के लिए उमड़े श्रद्धालु

Vat Savitri Puja 2022: 30 मई को है सुहागिनों का व्रत वट सावित्री पूजा, जानिये क्यों होती है बरगद की पूजा

Vat Savitri Puja 2022: 30 मई को है सुहागिनों का व्रत वट सावित्री पूजा, जानिये क्यों होती है बरगद की पूजा

Guru Teg Bahadur Prakash Parv: क्या होता है प्रकाश पर्व? जानें सिखों के 9वें गुरू तेग बहादुर को

Guru Teg Bahadur Prakash Parv: क्या होता है प्रकाश पर्व? जानें सिखों के 9वें गुरू तेग बहादुर को

Vaishakh 2022: महाकालेश्वर शिवलिंग पर बांधे गए 11 कलश, क्या है धार्मिक मान्यता

Vaishakh 2022: महाकालेश्वर शिवलिंग पर बांधे गए 11 कलश, क्या है धार्मिक मान्यता

Hanuman Jayanti 2022: उत्तर भारत के ये पांच हनुमान मंदिरों से जुड़ी है लोगों की आस्था

Hanuman Jayanti 2022: उत्तर भारत के ये पांच हनुमान मंदिरों से जुड़ी है लोगों की आस्था

Hanuman Jayanti 2022: इस बार की हनुमान जयंती पर है ये शुभ संयोग, विधिवत पूजा करने से मिलेगी सफलता

Hanuman Jayanti 2022: इस बार की हनुमान जयंती पर है ये शुभ संयोग, विधिवत पूजा करने से मिलेगी सफलता

Chaitra Navratri 2022: मां सिद्धिदात्री की उपासना से होती है सिद्धियों की प्राप्ति

Chaitra Navratri 2022: मां सिद्धिदात्री की उपासना से होती है सिद्धियों की प्राप्ति

Chaitra Navratri 2022: मां दुर्गा का मोहक रूप हैं महागौरी, महाअष्टमी पर ऐसे करें मां गौरी की पूजा अर्चना

Chaitra Navratri 2022: मां दुर्गा का मोहक रूप हैं महागौरी, महाअष्टमी पर ऐसे करें मां गौरी की पूजा अर्चना

Ramnavmi 2022: कब है रामनवमी, जानें तिथि और पूजा का शुभ मुहूर्त

Ramnavmi 2022: कब है रामनवमी, जानें तिथि और पूजा का शुभ मुहूर्त

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.