हाइलाइट्स

  • बच्चों से ड्रग्स के बारे में बात करना ज़रूरी
  • वक़्त रहते ड्रग्स के बारे में जानकारी देने से टल सकता है भविष्य का खतरा
  • हर उम्र के बच्चों से अलग तरह से की जानी चाहिए ड्रग्स से जुड़ी बातचीत

लेटेस्ट खबर

Booster Dose: 'बूस्टर डोज़ है वक्त की जरूरत', SII ने ये कहते हुए DCGI से मांगी इजाजत

Booster Dose: 'बूस्टर डोज़ है वक्त की जरूरत', SII ने ये कहते हुए DCGI से मांगी इजाजत

Punjab Election: चुनाव से पहले BJP ने SAD से मनजिंदर सिंह सिरसा को झटका, क्या चुनाव में होगा फायदा? 

Punjab Election: चुनाव से पहले BJP ने SAD से मनजिंदर सिंह सिरसा को झटका, क्या चुनाव में होगा फायदा? 

Omicron Scare: महाराष्ट्र सरकार की अलग गाइलाइन पर केंद्र खफा, स्वास्थ्य मंत्रालय ने पत्र लिख जताई नाराजगी

Omicron Scare: महाराष्ट्र सरकार की अलग गाइलाइन पर केंद्र खफा, स्वास्थ्य मंत्रालय ने पत्र लिख जताई नाराजगी

सलमान खान के 'Da-Bangg' टूर का एलान, कटरीना कैफ हुईं OUT

सलमान खान के 'Da-Bangg' टूर का एलान, कटरीना कैफ हुईं OUT

UP Election: यूपी के डिप्टी सीएम ने कहा- अयोध्या काशी में मंदिर निर्माण जारी है, अब मथुरा की तैयारी है

UP Election: यूपी के डिप्टी सीएम ने कहा- अयोध्या काशी में मंदिर निर्माण जारी है, अब मथुरा की तैयारी है

बच्चों से ड्रग्स के बारे में बात करना चाहते हैं लेकिन समझ नहीं आ रहा कैसे करें? काम आएंगे ये टिप्स

बच्चों को ये समझाना कि ड्रग्स क्या होते हैं, उनका क्या काम है, हम बड़ों की ज़िम्मेदारी होती है. यूके की एलकोहल एंड ड्रग फॉउंडेशन का मानना है कि बच्चे के 8 साल का होने पर आप उनसे ड्रग्स से जुड़ी चर्चा की शुरुआत कर सकते हैं.

आपका बच्चा कभी न कभी किसी ना किसी तरह के ड्रग्स के संपर्क में आएगा ही. वो डॉक्टर की प्रिस्क्राइब की हुई दवाइयां हो सकती हैं, एलकोहल या तम्बाकू हो सकता है और वो हार्ड ड्रग्स भी हो सकते हैं. अगर इन सबके संपर्क में नहीं भी आया तो हो सकता है ड्रग्स से जुड़े किसी तरह के मैसेज को पढ़ के उसके मन में उत्सुकता पैदा हो इसके बारे में जानने की.

ऐसे में बच्चों को ये समझाना कि ड्रग्स क्या होते हैं, उनका क्या काम है और कौन से ड्रग्स नुकसानदायक या अवैध होते हैं, हम बड़ों की ज़िम्मेदारी हो जाती है. यूके की एलकोहल एंड ड्रग फॉउंडेशन का मानना है कि बच्चे के 8 साल का होने पर आप उनसे ड्रग्स से जुड़ी चर्चा की शुरुआत कर सकते हैं. लेकिन बच्चे की बातें सुनकर आपको ड्रग्स के बारे में उनसे बातचीत जल्दी शुरू करनी पड़ सकती है. ऐसा करने से उनकी जिज्ञासा शांत होगी और ड्रग्स से जुड़ी उनकी जानकारी भी बढ़ेगी.

ये भी देखें: कहीं आपका बच्चा भी तो नहीं हैं नशे की लत का शिकार? इन लक्षणों से करें पता

कई बार पेरेंट्स असमंजस की स्थिति में फंस जाते हैं कि ड्रग्स के बारे में बच्चे से बातचीत की शुरुआत कैसे करें. बच्चे बहुत सेंसिटिव होते हैं और हर उम्र के बच्चे से उनके हिसाब से बात किया जाना ज़रूरी है. आज हम आपको बता रहे हैं कुछ टिप्स कि कैसे आप बच्चे की उम्र के हिसाब से उनसे ड्रग्स से जुड़ी बातचीत की शुरुआत कर सकते हैं.

4 से 7 साल की उम्र

  • जब भी आप घर में किसी दवा का उपयोग करें तो बच्चे को उस दवा के बारे में जानकारी दें. उन्हें बताएं कि इस दवा का इस्तेमाल क्यों किया जाता है और ये सिर्फ बीमार व्यक्ति ही ले सकता है.
  • बच्चों को समय समय पर बताते रहें कि ड्रग्स, स्मोकिंग और एलकोहल शरीर के लिए क्यों नुकसानदायक है और साथ ही हेल्दी डाइट क्यों ज़रूरी है ये भी उन्हें बताएं.
  • अगर आपको पता चले कि टीवी या रेडियो के ज़रिये आपके बच्चे ने हेरोइन या किसी दूसरे हार्ड ड्रग का नाम सुन लिया है तो उनसे पूछें की क्या वो जानते हैं ये क्या होता है? उन्हें उसके बारे में जानकारी दें और बताएं कि कैसे हेरोइन, स्मोकिंग और एलकोहल का सेवन उनके शरीर को नुकसान पंहुचा सकता है और उन्हें इसकी आदत पड़ सकती है.

ये भी देखें: Cannabis and Mental Health: भांग का इस्तेमाल करने वालों में मानसिक बीमारियों का ख़तरा 7 गुना अधिक

8 से 12 साल के बच्चे से

  • अपने बच्चे से ये पूछकर शुरुआत करें कि वो ड्रग्स के बारे में क्या सोचते हैं. अगर आप ये सवाल कैजुअली और उन्हें जज न करते हुए पूछेंगे तो आपका बच्चा आपसे खुल कर बात कर पायेगा.
  • अगर आपका बच्चा इन सवालों से अनकम्फर्टेबल महसूस कर रहा है या किसी तरह की कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है तो उन्हें फोर्स करने की बजाय उन्हें ये बताएं कि वो जब भी बात करना चाहें आपके पास आ सकते हैं.
  • कोई भी सवाल बेवकूफाना नहीं होता. उनके सवालों पर गौर करें और उनसे बात करने की कोशश करें. हर तरह के सवाल के लिए तैयार रहें.
  • इस बात का ध्यान रखें कि किसी सेलिब्रिटी या प्लेयर की ड्रग्स से जुड़ी कोई खबर उन्हें इंफ़्ल्युएन्स तो नहीं कर रही? अपने बच्चे को बताएं कि ड्रग्स का इस्तेमाल कितना नुकसानदायक हो सकता है.

13 से 17 साल के बच्चे

  • इस उम्र के बच्चों के साथ थोड़ा सावधानी बरतने की ज़रूरत होती है. हो सकता है आपका बच्चा ऐसे बच्चों के बारे में जानता हो जो एलकोहल या ड्रग का सेवन करते हैं तो तैयार रहिये आपको कई सवालों के जवाब देने पड़ सकते हैं.
  • ड्रग्स के बारे में अपने बच्चे के विचार जानने की कोशिश करें और उन्हें साथ में उदहारण देकर ये भी समझाएं कि इसका इस्तेमाल कैसे उनके लिए खतरनाक हो सकता है. जैसे - उन्हें समझाएं कि शराब पीकर गाडी चलना इललीगल है और जो ऐसा करता है उसे जेल जाना पड़ सकता है. इतना ही नहीं, उन्हें ये भी बताएं कि शराब पीकर गाडी चलाने से एक्सीडेंट हो सकता है और आपकी या किसी दूसरे की जान भी जा सकती है.
  • ड्रग स्ट्रीट में इस्तेमाल होने वाली टर्म्स और नामों और उनसे शरीर को होने वाले खतरों की जानकारी रखें ताकि समय आने पर आप अपने बच्चों को सही जानकारी दे सकें.

ये भी देखें: CBD क्या है? जानिए स्वास्थ्य से जुड़े इसके फायदे

कैसे करें बातचीत?

उन्हें समझाएं कि ड्रग्स अलग अलग तरह के होते हैं -

- पहले वो जो आप रोज़ लेते हैं जैसे कॉफी या डॉ द्वारा बताई गई दवाइयां

- दूसरे लीगल ड्रग्स जैसे सिगरेट और अलकोहल

- तीसरे इललीगल ड्रग्स जैसे - स्पीड, कोकेन, आइस और एक्सटेसी

अपने बच्चे से बात कर के आपको कम से कम ये जानकारी होगी कि उनकी ज़िन्दगी में क्या चल रहा है और आपसे बातचीत कर के आपका बच्चा सही निर्णय लेने में सक्षम हो सकता है.

ये भी देखें: Use of Marijuana in teens: टीनएजर्स में क्यों आम है गांजे का सेवन? जानिये क्या हैं इसके साइड-इफेक्ट्स

अप नेक्स्ट

बच्चों से ड्रग्स के बारे में बात करना चाहते हैं लेकिन समझ नहीं आ रहा कैसे करें? काम आएंगे ये टिप्स

बच्चों से ड्रग्स के बारे में बात करना चाहते हैं लेकिन समझ नहीं आ रहा कैसे करें? काम आएंगे ये टिप्स

Covid-19 and Mental Health: कोरोना महामारी का बुज़ुर्गों की मेंटल हेल्थ पर पड़ा सबसे अधिक असर - स्टडी

Covid-19 and Mental Health: कोरोना महामारी का बुज़ुर्गों की मेंटल हेल्थ पर पड़ा सबसे अधिक असर - स्टडी

Adulteration in Ragi: FSSAI से जानें मिलावटी रागी की कैसे करें पहचान

Adulteration in Ragi: FSSAI से जानें मिलावटी रागी की कैसे करें पहचान

World AIDS Day 2021: सावधानी ही सुरक्षा है, जानिये क्यों मनाया जाता है ये दिन

World AIDS Day 2021: सावधानी ही सुरक्षा है, जानिये क्यों मनाया जाता है ये दिन

क्या है डाइट की दुनिया का नया कॉन्सेप्ट 'क्लीन ईटिंग'? जानिये इसके फायदे

क्या है डाइट की दुनिया का नया कॉन्सेप्ट 'क्लीन ईटिंग'? जानिये इसके फायदे

टेस्ट और न्यूट्रिशन दोनों से भरपूर होती हैं चीज़ की ये वैराइटीज़, आपने ट्राई की क्या?

टेस्ट और न्यूट्रिशन दोनों से भरपूर होती हैं चीज़ की ये वैराइटीज़, आपने ट्राई की क्या?

और वीडियो

प्रदूषण पहुंचा रहा है आपके फेफड़ों को नुकसान...डाइट में करें कुछ बदलाव
Magnetic Eyelashes: ट्रेंड में हैं मैग्नेटिक आईलैशेज़...जानिए इन्हें लगाने का सही तरीका
क्या भारतीयों में जन्म से ही हो जाता है डायबिटीज़ का खतरा ज़्यादा? जानें क्या कहती है रिसर्च
सिर्फ एल्कोहल ही नहीं, रोज़ाना पिए जाने वाला ये ड्रिंक भी करता है आपके लिवर को नुकसान
मज़बूत हड्डियां, अच्छा मेटाबॉलिज़्म, सर्दियों में खजूर खाने के हैं कई फायदे
Salmon Fish Benefits: आपको डायट मे क्यों शामिल करना चाहिए साल्मन मछली, जानिये कारण
Winter workout tips: सर्दियों में ठंड का नहीं चलेगा कोई बहाना, वर्कआउट के लिए ऐसे करें खुद को मोटिवेट
क्या आप जानते हैं नमक का ज़्यादा सेवन आपकी ब्रेन हेल्थ को पहुंचा सकता है नुकसान?
Air pollution: वायु प्रदूषण बन सकता है अंधेपन का कारण, रिसर्च में खुलासा
क्या आप अपने किचन में मौजूद सामान को सही तरीके से कर रहे हैं स्टोर?