हाइलाइट्स

  • Evil Eye की उत्पति लगभग 3 हज़ार साल पहले प्राचीन ग्रीन और रोम में हुई थी
  • दुनिया में लगभग 40% कल्चर्स का Evil Eye के मिथक में विश्वास
  • Tiger’s eye और hamsa hand भी बुरी नज़र से बचने के लिए होते हैं इस्तेमाल

लेटेस्ट खबर

जीत के साथ टीम इंडिया ने दी झूलन गोस्वामी को विदाई,हरमनप्रीत हुईं भावुक, इंग्लिश टीम ने दिया गार्ड ऑफ ऑनर

जीत के साथ टीम इंडिया ने दी झूलन गोस्वामी को विदाई,हरमनप्रीत हुईं भावुक, इंग्लिश टीम ने दिया गार्ड ऑफ ऑनर

Chandigarh MMS Case: पुलिस को मिली एक और सफलता, अरुणाचल प्रदेश से सेना का जवान गिरफ्तार

Chandigarh MMS Case: पुलिस को मिली एक और सफलता, अरुणाचल प्रदेश से सेना का जवान गिरफ्तार

J&K: आतंकियों ने फिर बनाया गैर कश्मीरियों को निशाना, बिहार के 2 मजदूरों को मारी गोली

J&K: आतंकियों ने फिर बनाया गैर कश्मीरियों को निशाना, बिहार के 2 मजदूरों को मारी गोली

Ankita Murder Case: पहले भी वनंतरा रिजॉर्ट से गायब हुई थी लड़की, अंकिता हत्याकांड के 10 बड़े अपडेट

Ankita Murder Case: पहले भी वनंतरा रिजॉर्ट से गायब हुई थी लड़की, अंकिता हत्याकांड के 10 बड़े अपडेट

 Kangana Ranaut: कंगना रनौत कहां से लड़ेंगी लोकसभा चुनाव? भड़क गईं हेमा मालिनी

Kangana Ranaut: कंगना रनौत कहां से लड़ेंगी लोकसभा चुनाव? भड़क गईं हेमा मालिनी

Explained: क्या होती है Evil Eye? फैशन से लेकर इमोजी तक में है इस सिंबल का काफी ट्रेंड

Evil Eye सदियों से ज्वेलरी की तरह काफी पॉपुलर रही है और अब ये फैशन की दुनिया में और सेलेब्स के बीच में कमबैक कर रही है.

Evil Eye Trend : क्या आप आये दिन सोशल मीडिया पर बुरी नज़र वाले इमोजी यूज़ करते रहते है या फिर बुरी नज़र यानि कि Evil Eye वाले ब्रेसलेट और नेकपीस जैसी एक्सेसरीज़ से ऑबसेस्ड हैं तो बता दें कि इस ऑब्सेशन की दुनिया में आप अकेले नहीं हैं.

क्या होता है Evil Eye? (What is The Evil Eye)

लेकिन सवाल ये है कि आखिर Evil Eye वास्तव में है क्या और क्या ये नज़र चीज़ काम भी करती है? लोक कथाओं की स्टडी करने वाले जॉन रॉबर्ट्स की मानें तो दुनिया में लगभग 40% कल्चर्स Evil Eye के मिथक में विश्वास रखती हैं. ऐसा माना जाता है कि Evil Eye आपको लोगों की बुरी नज़र और ईर्ष्या यानि जलन से बचाती है. इसे आप पहन सकते हैं, इसे ज्वेलरी में या फिर ताबीज़ की तरह इसे धारण किया जा सकता है.

Evil Eye का इतिहास

Evil Eye की उत्पति (Evil Eye history and origin) लगभग 3 हज़ार साल पहले प्राचीन ग्रीन और रोम में हुई थी.

क्या आप जानते हैं कि Evil Eye ही सिर्फ एकमात्र प्रतीक यानि सिंबल नहीं है जिसका इस्तेमाल लोग लोगों की बुरी नज़रों के असर को विफल करने के लिए करते हैं. दो और भी ऐसे सिंबल हैं जिसका बड़े तौर पर बुरी नज़र से बचने के लिए किया जाता है वो हैं Tiger’s eye और hamsa hand

सेलेब्स में है ये काफी पॉपुलर

Evil Eye सदियों से ज्वेलरी (Evil Eye jewellery) की तरह काफी पॉपुलर रही है और अब ये फैशन की दुनिया में और सेलेब्स के बीच में कमबैक कर रही है. कई इवेंट्स पर किम कार्दशियन, मेगन मर्केल और रिहाना जैसे ए-लिस्टर्स हॉलीवुड सेलेब्स को Evil Eye वाली ज्वेलरी पहने स्पॉट किया गया है और सिर्फ हॉलीवुड ही नहीं बॉलीवुड सेलेब्स भी इसे ज्वेलरी को बड़े शौक से पहने देखे जाते हैं

ज्वेलरी की तरह Evil Eye का इस्तेमाल

लेकिन आखिर आपने सोचा है कि आखिर ये Evil eye सिंबल इतना अट्रैक्टिव क्यों हैं, खैर, लोग इसके कंफर्ट सेंस की वजह से पसंद करते हैं. और ये भी सच है कि जब-जब लोग डिस्कंफर्ट या इनसिक्योर फील कर रहे हैं तो वो अक्सर कंफर्ट फील करने के लिए superstitions यानि अंधविश्वास की तरफ मुड़ जाते हैं. यहां तक जो लोग इन सबमें विश्वास नहीं रखते वो भी इन्हें ज्वेलरी, एक्सेसरीज़ या फिर सजावट के तौर पर इसे इस्तेमाल करते हैं.

Evil Eye का इमोजी बेहद पॉपुलर

फैशन से दुनिया के बाद अब तो ये Evil Eye डिजिटल वर्ल्ड में भी छा चुका है वो इमोजी (Evil Eye Emoji) के तौर पर. सोशल मीडिया यूजर्स इस इमोजी को अक्सर मैसेजेस, कैप्शन, व्हाट्स ऐप स्टोरीज़ और इंस्टाग्राम रील्स में इसका इस्तेमाल कर रहे हैं. और इसका श्रेय जाता है मिलेनियल जेनेरेशन को.

वैसे ट्रेंड्स को आते हैं और चले जाते हैं लेकिन ये Evil Eye का ये सिंबल यकीनन लंबे समय तक चलने वाला है क्योंकि सच तो ये है कि जाने या अनजाने में आपने भी इसका इस्तेमाल तो ज़रूर ही किया है. हैं ना!

अप नेक्स्ट

Explained: क्या होती है Evil Eye? फैशन से लेकर इमोजी तक में है इस सिंबल का काफी ट्रेंड

Explained: क्या होती है Evil Eye? फैशन से लेकर इमोजी तक में है इस सिंबल का काफी ट्रेंड

Durga Puja : मां दुर्गा के 500 साल पुराने हलदर घर की पूजा की परंपरा, जानिए पूजा विधि

Durga Puja : मां दुर्गा के 500 साल पुराने हलदर घर की पूजा की परंपरा, जानिए पूजा विधि

Mahalaya 2022: कब है महालया, आकाशवाणी का ये 'शो' क्यों है महालया के दिन बेहद ख़ास?

Mahalaya 2022: कब है महालया, आकाशवाणी का ये 'शो' क्यों है महालया के दिन बेहद ख़ास?

Durga Puja: 'महिषासुर मर्दिनी' का अंग्रेजी अनुवाद दिलाएगा ग्लोबल पहचान! सुप्रियो सेनगुप्ता की अनूठी पहल

Durga Puja: 'महिषासुर मर्दिनी' का अंग्रेजी अनुवाद दिलाएगा ग्लोबल पहचान! सुप्रियो सेनगुप्ता की अनूठी पहल

रात में जागने वाले हो जाएं सावधान, हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां

रात में जागने वाले हो जाएं सावधान, हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां

Shardiya Navratri 2022: सिर्फ 48 मिनट का है घटस्थापना का शुभ मुहूर्त, जानिए नवरात्रि से जुड़ी सभी जानकारी

Shardiya Navratri 2022: सिर्फ 48 मिनट का है घटस्थापना का शुभ मुहूर्त, जानिए नवरात्रि से जुड़ी सभी जानकारी

और वीडियो

Viral Food Trend: गुलाब जामुन परांठा के बाद अब खाइये गुलाब जामुन बर्गर, सदमे में सोशल मीडिया यूज़र्स

Viral Food Trend: गुलाब जामुन परांठा के बाद अब खाइये गुलाब जामुन बर्गर, सदमे में सोशल मीडिया यूज़र्स

Menstrual Acne: पीरियड्स के समय होने वाले पिंपल्स से हैं परेशान, ये उपाय आएंगे आपके काम

Menstrual Acne: पीरियड्स के समय होने वाले पिंपल्स से हैं परेशान, ये उपाय आएंगे आपके काम

World Ozone Day 2022: क्यों मनाया जाता है 'वर्ल्ड ओज़ोन डे', जानिए क्या है इस साल की थीम

World Ozone Day 2022: क्यों मनाया जाता है 'वर्ल्ड ओज़ोन डे', जानिए क्या है इस साल की थीम

Seat Belt in Car: गाड़ी में सीट बेल्ट लगाने पर चालान से बचने के अलावा मिलते हैं ये फायदे

Seat Belt in Car: गाड़ी में सीट बेल्ट लगाने पर चालान से बचने के अलावा मिलते हैं ये फायदे

Mind Diet: क्या होती है Mind Diet और बढ़ती उम्र की ब्रेन हेल्थ का कैसे रखती है ध्यान?

Mind Diet: क्या होती है Mind Diet और बढ़ती उम्र की ब्रेन हेल्थ का कैसे रखती है ध्यान?

Stress Eating: तनाव में ज़्यादा खाने की आदत से परेशान हैं तो ये टिप्स आएंगे आपके काम

Stress Eating: तनाव में ज़्यादा खाने की आदत से परेशान हैं तो ये टिप्स आएंगे आपके काम

Dogs Emotions: वो समय जब आपका डॉग रोता है, नई स्टडी में हुआ खुलासा

Dogs Emotions: वो समय जब आपका डॉग रोता है, नई स्टडी में हुआ खुलासा

Adoption Leave: हिमाचल सरकार ने मंज़ूर की बच्चा गोद लेने वाली मांओं की 6 महीने की मैटरनिटी लीव

Adoption Leave: हिमाचल सरकार ने मंज़ूर की बच्चा गोद लेने वाली मांओं की 6 महीने की मैटरनिटी लीव

Bathing Benefits: क्या नहाने से सच में कम होती है तनाव और चिंता? जानिये क्या कहती है स्टडी

Bathing Benefits: क्या नहाने से सच में कम होती है तनाव और चिंता? जानिये क्या कहती है स्टडी

ICMR Guidelines: डायबिटीक या प्री-डायबिटीक हैं तो खाने में कीजिए बस इतना बदलाव, ब्लड शुगर रहेगा कंट्रोल

ICMR Guidelines: डायबिटीक या प्री-डायबिटीक हैं तो खाने में कीजिए बस इतना बदलाव, ब्लड शुगर रहेगा कंट्रोल

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.