Crypto Crash: 7 lakh crores of cryptocurrency investors drowned, Bitcoin came down to 30 thousand dollars - Crypto Crash: क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों के 7 लाख करोड़ डूबे, 30 हजार डॉलर के नीच आया Bitcoin | Editorji Hindi
  1. home
  2. > बिज़नेस
  3. > Crypto Crash: क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों के 7 लाख करोड़ डूबे, 30 हजार डॉलर के नीच आया Bitcoin
prev icon/Assets/images/svg/play_white.svgnext button of playermute button of playermaximize icon
mute icontap to unmute
video play icon
00:00/00:00
prev iconplay paus iconnext iconmute iconmaximize icon
close_white icon

Crypto Crash: क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों के 7 लाख करोड़ डूबे, 30 हजार डॉलर के नीच आया Bitcoin

Jul 20, 2021 22:06 IST | By Editorji News Desk

Cryptocurrency Crash: क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वालों के लिए बुरी खबर है. क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin एक महीने में पहली बार 30 हजार डॉलर से नीचे पहुंच गया. मंगलवार दोपहर बिटक्वॉइन की कीमत 6.22% की गिरावट के साथ 29,831.70 डॉलर प्रति यूनिट पर आ गई. तो वहीं दूसरी क्रिप्टोकरेंसी जैसे इथेरियम, टीथर और डॉगक्वाइन में भी बड़ी गिरावट दर्ज की गई. 

माना जा रहा है कि इस गिरावट से क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों के 98 अरब डॉलर यानि करीब 7 लाख करोड़ रुपए डूब गए. इसकी बड़ी वजह बताई जा रही है आर्थिक विकास की धीमी रफ्तार और कोरोना के थर्ड वेव का खतरा. 

अमेरिकी शेयर बाजार Dow Jones में भी अक्टूबर 2020 के बाद सोमवार (अमेरिकी समय) को सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई. माना जा रहा है कि इसका असर क्रिप्टोकरेंसी और भारतीय बाजार पर भी पड़ा.

यह भी पढ़ें: HDFC Life Q1 Results: कंपनी को हुआ 303 करोड़ रुपये का मुनाफा, बीते साल से 33% कम

Crypto Crash: क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों के 7 लाख करोड़ डूबे, 30 हजार डॉलर के नीच आया Bitcoin

1/3

Crypto Crash: क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों के 7 लाख करोड़ डूबे, 30 हजार डॉलर के नीच आया Bitcoin

Elon Musk: एलन मस्क ने बताया, Tesla को भारत आने में क्यों हो रही है देरी

2/3

Elon Musk: एलन मस्क ने बताया, Tesla को भारत आने में क्यों हो रही है देरी

Mukesh Ambani: उदारीकरण के 30 साल पूरे होने पर मुकेश अंबानी ने बताया, कब तक चीन-US को टक्कर देगा भारत

3/3

Mukesh Ambani: उदारीकरण के 30 साल पूरे होने पर मुकेश अंबानी ने बताया, कब तक चीन-US को टक्कर देगा भारत

बिज़नेस