हाइलाइट्स

  • गुजरात चुनाव में इस बार कांटे की टक्कर
  • 27 सालों से गुजरात की सत्ता पर काबिज है BJP
  • AAP और कांग्रेस से मिल रही कड़ी टक्कर
  • बीजेपी को पीएम मोदी के चेहरे पर भरोसा

लेटेस्ट खबर

Rahul Gandhi ने बीच भाषण में ऐसा क्या किया कि स्पीकर ओम बिरला को टोकना पड़ा

Rahul Gandhi ने बीच भाषण में ऐसा क्या किया कि स्पीकर ओम बिरला को टोकना पड़ा

Border Gavaskar Trophy: जानें भारत और ऑस्ट्रेलिया की इस महत्वपूर्ण सीरीज से जुड़े रोचक तथ्य और आंकड़े

Border Gavaskar Trophy: जानें भारत और ऑस्ट्रेलिया की इस महत्वपूर्ण सीरीज से जुड़े रोचक तथ्य और आंकड़े

Turkey Earthquake: तुर्की...टर्की या तुर्किये...जानिए भूकंप पीड़ित इस देश का नाम कैसे बदला ?

Turkey Earthquake: तुर्की...टर्की या तुर्किये...जानिए भूकंप पीड़ित इस देश का नाम कैसे बदला ?

Ronit Roy ने करण जौहर की फिल्म 'Student of the Year' के लिए छोड़ दी थी हॉलीवुड की 'Zero Dark Thirty'

Ronit Roy ने करण जौहर की फिल्म 'Student of the Year' के लिए छोड़ दी थी हॉलीवुड की 'Zero Dark Thirty'

Mumbai Airport: मुंबई एयरपोर्ट पर धमकी भरा कॉल, इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकी की तलाश जारी

Mumbai Airport: मुंबई एयरपोर्ट पर धमकी भरा कॉल, इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकी की तलाश जारी

Gujarat Election: गुजरात की सत्ता पर काबिज होगी BJP ? भगवा दल के लिए राहें कितनी आसान और कितना मुश्किल ?

गुजरात में इस बार किसके ‘अच्छे दिन’ आएंगे, इसका पता 8 दिसंबर को चल जाएगा. लेकिन उससे पहले तमाम सियासी दलों ने प्रदेश की सत्ता पर काबिज होने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. खासकर बीजेपी, जो पिछले 27 सालों से सत्ता पर काबिज है. 

गुजरात (Gujarat) में इस बार किसके ‘अच्छे दिन’ आएंगे, इसका पता 8 दिसंबर को चल जाएगा. लेकिन उससे पहले तमाम सियासी दलों ने प्रदेश की सत्ता पर काबिज होने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. खासकर बीजेपी, जो पिछले 27 सालों से सत्ता पर काबिज है. हालांकि इस बार बीजेपी (BJP) की राहें आसान रहने वाली नहीं हैं, क्योंकि कांग्रेस (Congress) और आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) से उसे कड़ी टक्कर मिल रही है. बावजूद इसके कुछ चीजें ऐसी हैं, जो बीजेपी के पक्ष में जाती है और इसकी काट दूसरे दलों के पास नहीं है. तो वहीं कुछ कमजोरियां और चुनौतियां भी हैं, जो उसकी राह में रोड़ा बन सकती हैं.

BJP की रणनीति

बीजेपी ने हर बार की तरह इस बार भी 'नो रिपीट थ्योरी' का फॉर्मूला (No Repeat Theory Formula) अपनाया है. बीजेपी का ये ऐसा अचूक प्लान है, जिसकी काट विरोधी नहीं ढूंढ़ पाए हैं. बीजेपी ने इस बार बुजुर्गों के बजाय नए चेहरों और युवाओं पर दांव खेला है. कई पुराने और सीनियर नेताओं को टाटा-बाय-बाय कह दिया. पार्टी ने इस बार करीब 38 मौजूदा विधायकों के टिकट काट दिए. बीजेपी ने सभी जातियों को टिकट देकर जातीय समीकरण साधने की कोशिश की है. साथ ही बूथ जीतो, चुनाव जीतो के फॉर्मूले पर काम करने की रणनीति बनाई. इसको लेकर पार्टी ने माइक्रो मैनेजमेंट लेवल (Micro Management Level) पर तैयारी की है और ग्रामीण (Rural Area) इलाकों में खासा जोर लगा रही है.

इसे भी पढ़ें: Gujarat Election: गुजरात में थमा पहले फेज का चुनाव प्रचार, अब वोटर तय करेंगे किस्मत

क्या है BJP की मजबूती ?

बीजेपी के पास पीएम मोदी (PM Modi) जैसा एक ऐसा तुरूप का इक्का है, जिनकी लोकप्रियता आज भी लोगों के सिर चढ़कर बोल रही है. इसके साथ ही बीजेपी के चाणक्य कहे जाने वाले गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) हैं, जो चुनावों की न सिर्फ खुद रणनीति बनाते हैं, बल्कि उसे अमलीजामा भी पहनाते हैं. पिछले चुनाव में बीजेपी के खिलाफ पाटीदारों का गुस्सा अपने चरम पर था, लेकिन इस बार हालात अलग हैं. भूपेंद्र पटेल सीएम (CM Bhupendra Patel) हैं और हार्दिक पटेल (Hardik Patel) भी बीजेपी में शामिल हो चुके हैं, जिसका फायदा पार्टी को मिल सकता है. माना जा रहा है कि बीजेपी के इस कदम से पाटीदारों का गुस्सा कम होगा. इतना ही नहीं प्रदेश में बीजेपी का बूथ स्तर (Booth Level) तक मजबूत संगठनात्मक ढांचा है, जिसे पार्टी के लिए प्लस प्वाइंट माना जाता है. इसके अलावा हिन्दुत्व (Hindutva), विकास और ‘डबल इंजन’ जैसे मुद्दे बीजेपी की राहें आसान कर सकती हैं.

क्या है BJP की कमजोरी ?

बीजेपी भले ही प्रदेश की सत्ता पर ढाई दशक से ज्यादा वक्त से काबिज हो, लेकिन 2014 में नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के दिल्ली कूच करने के बाद से ही पार्टी में कोई ऐसा दूसरा नेता उभर कर सामने नहीं आया, जो पीएम मोदी की कमी की भरपाई कर सके. नरेंद्र मोदी लगातार 13 साल तक प्रदेश के सीएम रहे, लेकिन उनके दिल्ली (Delhi) जाने के बाद से लेकर अब तक तीन सीएम बनाए जा चुके हैं. इसके अलावा ग्रामीण इलाकों में पकड़ कमजोर होने का खामियाजा भी बीजेपी को भुगतना पड़ सकता है.

गुजरात में BJP की चुनौती

चूंकि बीजेपी प्रदेश की सत्ता पर 27 सालों से काबिज है, लिहाजा इस बार उसे सत्ता विरोधी लहर (Anti Incumbency) का सामना करना पड़ सकता है. साथ ही बेरोजगारी, महंगाई और आर्थिक संकट जैसे कई ऐसे मुद्दे हैं, जो बीजेपी की उम्मीदों को पलीता लगा सकते हैं. हालिया मोरबी पुल हादसे (Morbi Bridge Accident) का असर भी बीजेपी के खिलाफ जा सकता है. इसके अलावा युवा वोटर खासकर फर्स्ट टाइम वोटर (First Time Voter) को साथ लाना बीजेपी के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है. टिकट नहीं मिलने से नाराज कई नेता निर्दलीय (Independent) चुनाव मैदान में ताल ठोक रहे हैं, ऐसे में इन बागियों से पार पाना भी बीजेपी के लिए आसान रहने वाला नहीं है. दूसरे दलों के नेताओं के पार्टी में आने और उन्हें टिकट मिलने से पार्टी कार्यकर्ताओं में खासी नाराजगी हैं और इस वजह से उनके उत्साह की कमी देखने को मिल रही है.

बहरहाल, इन कमजोरियों और चुनौतियों को बीजेपी अपनी रणनीति और मजबूती के कैसे पार पाती है, ये देखना दिलचस्प होगा.

इसे भी पढ़ें: Gujarat Election: 32 साल से सत्ता से बाहर है कांग्रेस, यहां समझिए वापसी के लिए क्या है रणनीति और चुनौती ?

अप नेक्स्ट

Gujarat Election: गुजरात की सत्ता पर काबिज होगी BJP ? भगवा दल के लिए राहें कितनी आसान और कितना मुश्किल ?

Gujarat Election: गुजरात की सत्ता पर काबिज होगी BJP ? भगवा दल के लिए राहें कितनी आसान और कितना मुश्किल ?

UP Elections 2022 : मायावती ने तैयार किया अखिलेश की हार का रास्ता, साथ होते तो BJP को लगता झटका!

UP Elections 2022 : मायावती ने तैयार किया अखिलेश की हार का रास्ता, साथ होते तो BJP को लगता झटका!

UP Elections 2022 : क्या अस्त हो गया मायावती का सूरज?

UP Elections 2022 : क्या अस्त हो गया मायावती का सूरज?

Western UP Results 2022 : क्यों फेल हो गई अखिलेश-जयंत की जोड़ी? सीटें बढ़ीं पर नहीं मिली सत्ता

Western UP Results 2022 : क्यों फेल हो गई अखिलेश-जयंत की जोड़ी? सीटें बढ़ीं पर नहीं मिली सत्ता

UP Elections 2017 : मोदी की प्रचंड लहर में भी बीजेपी को हराने वाले दिग्गज

UP Elections 2017 : मोदी की प्रचंड लहर में भी बीजेपी को हराने वाले दिग्गज

Exit Poll Results 2022: जानें कब कब गलत साबित हुए एग्जिट पोल?

Exit Poll Results 2022: जानें कब कब गलत साबित हुए एग्जिट पोल?

और वीडियो

Elections 2022: जानें क्या है Exit Poll और Opinion Poll ? ये रही पूरी ABCD

Elections 2022: जानें क्या है Exit Poll और Opinion Poll ? ये रही पूरी ABCD

UP elections 2022 : 7th Phase की वोटिंग की पूरी जानकारी

UP elections 2022 : 7th Phase की वोटिंग की पूरी जानकारी

Uttar Pradesh Election 2022 : 7वें चरण में किन दिग्गजों की किस्मत दांव पर, जानिए

Uttar Pradesh Election 2022 : 7वें चरण में किन दिग्गजों की किस्मत दांव पर, जानिए

UP Elections 2022: छठे चरण में इन दिग्गजों की किस्मत दांव पर, देखें लिस्ट

UP Elections 2022: छठे चरण में इन दिग्गजों की किस्मत दांव पर, देखें लिस्ट

UP Elections 2022: 6th Phase की वोटिंग की पूरी जानकारी यहां लें

UP Elections 2022: 6th Phase की वोटिंग की पूरी जानकारी यहां लें

UP Elections 2022: अंदर से कैसा दिखता है योगी आदित्यनाथ का मठ, देखें Exclusive Video

UP Elections 2022: अंदर से कैसा दिखता है योगी आदित्यनाथ का मठ, देखें Exclusive Video

UP Elections 2022: पांचवें चरण में इन दिग्गजों की किस्मत दांव पर, देखें लिस्ट

UP Elections 2022: पांचवें चरण में इन दिग्गजों की किस्मत दांव पर, देखें लिस्ट

UP Elections 2022: 5th Phase की वोटिंग की पूरी जानकारी यहां लें

UP Elections 2022: 5th Phase की वोटिंग की पूरी जानकारी यहां लें

UP Elections 2022 : तीसरे चरण में इन दिग्गजों की किस्मत दांव पर

UP Elections 2022 : तीसरे चरण में इन दिग्गजों की किस्मत दांव पर

UP Elections 2022 : 3rd Phase की वोटिंग को समझिए

UP Elections 2022 : 3rd Phase की वोटिंग को समझिए

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.