1. home
  2. > भारत
  3. > अकाली सांसद ने दिल्ली पुलिस को फटकारा, कहा- 1984 जैसा रोल निभाया
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

अकाली सांसद ने दिल्ली पुलिस को फटकारा, कहा- 1984 जैसा रोल निभाया

Feb 27, 2020 18:22 IST

भाजपा की सहयोगी शिरोमणी अकाली दल के सांसद नरेश गुजराल ने दिल्ली दंगों की तुलना 1984 से की है. अकाली दल नेता गुजराल ने कहा कि 1984 की ही तरह इस बार भी दिल्ली पुलिस ने अल्पसंख्यकों के जान माल की सुरक्षा नहीं की, ये हमें 1984 के सिख विरोधी दंगों की याद दिलाता है. आपको बता दें कि शिरोमणी अकाली दल एनडीए में शामिल है और सरकार का हिस्सा भी है. नरेश गुजराल ने नाराजगी भरी एक चिट्ठी दिल्ली पुलिस कमिश्नर को लिखी है, इसमें उन्होंने कहा है कि दिल्ली के कई इलाकों में अस्पसंख्यक खौफ में हैं और डरे हुए हैं क्योंकि उनकी जान माल की पुलिस ने रक्षा नहीं की और ये हैरान कर देने वाला है. नरेश गुजराल ने लिखा कि उन्होंने दंगों में फंसे अल्पसंख्यक समुदाय के 16 लोगों की जान बचाने के लिए दिल्ली पुलिस को फोन किया लेकिन पुलिस ने मदद से इनकार कर दिया. नरेश गुजराल ने कहा है कि जब एक सांसद की बात दिल्ली पुलिस नहीं सुन रही है तो सोचिए दंगे में फंसे आम गरीब इंसान की वो क्या मदद करेगी. New Delhi, Feb 27 (PTI) Shiromani Akali Dal MP Naresh Gujral said on Thursday that the Delhi Police's "inaction" towards protecting the lives and properties of minorities in the national capital is "reminiscent" of what happened during the 1984 anti-Sikh riots. The lawmaker, whose party is a BJP ally, said no one would want a repeat of 1984. Speaking to PTI after shooting off a letter to Delhi Police chief Amulya Patnaik, Gujral, the son of former prime minister I K Gujral, said that minorities in certain parts of the city are "frightened". "Because their lives and properties have not been protected by the Delhi Police, which is very similar to what we saw in 1984. It's shocking." In his letter, the MP has slammed the Delhi Police for allegedly not acting on his complaint in which he had requested the police to come to the aid of 16 people of the minority community. "When a member of parliament's complaint is not paid heed to, one can imagine the plight of the common man. No sane Indian wants a repeat of 1984," Gujral said. PTI JTR ASG ASG TIR

भारत