हाइलाइट्स

  • राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी एकता तार-तार
  • कांग्रेस समेत पूरे विपक्ष के लिए खतरे की घंटी
  • यशवंत सिन्हा की हार से टूटे विपक्ष के सपने
  • कांग्रेस समेत विपक्ष की रणनीति पर उठ रहे सवाल
  • रेस की शुरुआत में ही हारता नजर आया विपक्ष

लेटेस्ट खबर

ओलंपिक पदक विजेता Vijender Singh ने पेशेवर मुक्केबाजी में की शानदार वापसी, इलियासू सूले को किया नॉकआउट

ओलंपिक पदक विजेता Vijender Singh ने पेशेवर मुक्केबाजी में की शानदार वापसी, इलियासू सूले को किया नॉकआउट

Vicky- Katrina की शादी से पहले, नशे में Karan Johar और Alia Bhatt ने Vicky Kaushal को किया था कॉल

Vicky- Katrina की शादी से पहले, नशे में Karan Johar और Alia Bhatt ने Vicky Kaushal को किया था कॉल

Video: MP में 45 पैसे किलो मिल रहा लहसुन, परेशान होकर किसानों ने नदी में फेंका, देखें वीडियो

Video: MP में 45 पैसे किलो मिल रहा लहसुन, परेशान होकर किसानों ने नदी में फेंका, देखें वीडियो

लुसाने डाइमंड लीग की लिस्ट में ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट Neeraj Chopra का नाम, Avinash Sable ने भी बनाई जगह

लुसाने डाइमंड लीग की लिस्ट में ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट Neeraj Chopra का नाम, Avinash Sable ने भी बनाई जगह

R Madhavan ने 'Laal Singh Chaddha' के बॉक्स ऑफिस पर न चलने की बताई वजह, कहा-'लोगों की पसंद बदल गई'

R Madhavan ने 'Laal Singh Chaddha' के बॉक्स ऑफिस पर न चलने की बताई वजह, कहा-'लोगों की पसंद बदल गई'

President Elections: रायसीना की रेस में यशवंत सिन्हा नहीं, 'कांग्रेस' हारी है! जानिए कैसे?

राष्ट्रपति चुनाव (President Election) के नतीजे कई मायनों में बेहद खास है. चुनाव नतीजों में समूचे विपक्ष (Opposition) के लिए संदेश छिपे हैं. लेकिन कांग्रेस (Congress) के लिए तो खतरे की घंटी जैसा है.

द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) देश की अगली राष्ट्रपति (President) निर्वाचित हुई हैं. राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Election) के नतीजे कई मायनों में बेहद अहम हैं. चुनाव नतीजों में समूचे विपक्ष (Opposition) के लिए संदेश छिपे हैं. लेकिन कांग्रेस (Congress) के लिए तो खतरे की घंटी जैसा है.

इस चुनाव में यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) के लिए विपक्षी दलों को लामबंद करना तो दूर कांग्रेस अपने घर तक को एकजुट नहीं रख पाई. कई राज्यों में कांग्रेस विधायकों ने द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में क्रॉस वोटिंग (Cross Voting) कर पार्टी के अरमानों को पलीता लगा दिया. वैसे भी विपक्षी उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की हार पहले से ही तय मानी जा रही थी. लेकिन उन्हें इतनी बड़ी हार नसीब होगी यह किसी ने सोचा नहीं था.

एनडीए उम्मीदवार (NDA Candidate) मुर्मू को कुल 6,76,803 वोट और यशवंत सिन्हा को कुल 3,80,177 वोट मिले. आखिरी राउंड की गिनती के बाद जब मुर्मू के 64.03 फीसदी मतों के साथ चुनाव जीतने का आधिकारिक ऐलान किया गया. उस वक्त सिर्फ यशवंत सिन्हा के रायसीना हिल्स (Raisina Hills) जाने के अरमानों पर ही पानी नहीं फिरा था. बल्कि कांग्रेस समेत पूरे विपक्ष की रणनीति पर भी सवाल उठे थे. जाहिर है राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों का बड़ा असर आने वाले दिनों में देश सियासत पर देखने को मिल सकता है.

इसे भी पढ़ें : Gujarat News: गुजरात कांग्रेस के दफ्तर पर बजरंग दल का हंगामा, ऑफिस पर लिखा- 'हज हाउस'

राष्ट्रपति चुनाव: कहां कितनी क्रॉस वोटिंग ?

द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में वैसे तो हर राज्य में क्रॉस वोटिंग हुई. लेकिन सबसे ज्यादा असम में हुई. यहां करीब 25 विधायकों (MLA) ने क्रॉस वोटिंग की. इसके अलावा मध्य प्रदेश 16, महाराष्ट्र में 16, उत्तर प्रदेश में 12 गुजरात में 10, झारखंड में 10, बिहार में 6, छत्तीसगढ़ में 6, राजस्थान में 5, मेघालय में 7, गोवा में 4, हिमाचल प्रदेश में 2, और अरुणाचल प्रदेश और हरियाणा में 1-1 विधायक ने क्रॉस वोटिंग की. यहां तक की 17 विपक्षी सांसदों ने भी सिन्हा के खिलाफ वोट किया. आंध्र प्रदेश, नागालैंड और सिक्किम में तो यशवंत सिन्हा का खाता ही नहीं खुला.

राष्ट्रपति चुनाव: कांग्रेस के लिए झटका क्यों?

कांग्रेस ने राष्ट्रपति चुनाव की रणनीति बनाने का जिम्मा अपने सीनियर नेता मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) और जयराम रमेश (Jairam Ramesh) को दिया था. कांग्रेस, यशवंत सिन्हा के साथ खड़ी नजर तो आई. लेकिन वो अपने ही विधायकों के वोट उन्हें नहीं दिला पाई. तमाम राज्यों में कांग्रेस के विधायकों ने मुर्मू के पक्ष में क्रॉस वोटिंग की. ओडिशा (Odisha) के कांग्रेस विधायक मोहम्मद मोकीम ने बकायदा मुर्मू को वोट देने का दावा किया.

असम से AIUDF के विधायक करीमुद्दीन बारभुइया के दावों की मानें तो प्रदेश के करीब 20 से ज्यादा कांग्रेस विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की. जाहिर है अगर वाकई में इतनी बड़ी संख्या में कांग्रेसी विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की है. तो यह निश्चित तौर पर पार्टी के लिए बड़ा झटका है.

इतना ही नहीं महाराष्ट्र और झारंखड में कांग्रेस के सहयोगी भी एनडीए के साथ खड़े नजर आए. कुल मिलाकर कांग्रेस इस चुनाव के जरिए कोई सियासी संदेश देने में भी नाकाम रही. उल्टे उसे सियासी नकुसान उठाना पड़ गया.

राष्ट्रपति चुनाव: कांग्रेस पर होगा असर ?

माना जा रहा है कि कांग्रेस को यशवंत सिन्हा को समर्थन करने का खामियाजा आने वाले दिनों में भुगतना पड़ सकता है. इस चुनाव से साफ हो गया है कि कांग्रेस का अपने विधायकों पर कोई नियंत्रण नहीं है. विधायक पार्टी आलाकमान की बजाय अपने मन की सुनते हैं. ऐसे में अगर महाराष्ट्र, असम, मध्य प्रदेश और झारखंड जैसे राज्यों में पार्टी में कोई और पालाबदल का खेल हो जाए. तो इसमें किसी को हैरानी नहीं होनी चाहिए.

गुजरात में भी इसी साल चुनाव होने हैं. ऐसे में चुनाव से पहले ये क्रॉस वोटिंग कांग्रेस के लिए कहीं से भी शुभ नहीं हैं. इससे कांग्रेस के विपक्ष के नेतृत्व करने के अरमानों पर भी पानी फिरेगा. टीएमसी (TMC) पहले ही कांग्रेस का नेतृत्व स्वीकार करने से इनकार कर चुकी हैं. इस फेहरिस्त में कुछ और दल शामिल हो सकते हैं.

राष्ट्रपति चुनाव: रेस की शुरुआत में ही हारा विपक्ष

रायसीना की रेस शुरू होने से पहले ही विपक्ष के हाथ से बाजी खिसकती नजर आई. राष्ट्रपति उम्मीदवार को लेकर NDA ने जैसे ही अपने पत्ते खोले विपक्ष के दिग्गज भी बंगले झांकने लगे. वजह द्रौपदी मुर्मू के नाम का मास्टर स्ट्रोक (Master Stroke) था. सबसे पहला असर झारखंड और बंगाल में दिखा.

झारखंड में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) को अलग राह पकड़नी पड़ी तो बंगाल (Bengal) में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को राज्य में हर साल ट्राइबल दिवस (Tribal Day) मनाने जैसे ऐलान करने पड़े. दीदी ने बंगाल में यशवंत सिन्हा को प्रचार करने से रोक दिया. दूसरी तरफ महाराष्ट्र में शिवसेना सांसद जो अब तक उद्धव के साथ दिख रहे थे वो भी बगावत पर उतर आए. इसका नतीजा यह हुआ कि शिवसेना (Shiv Sena) को मुर्मू के समर्थन के लिए मजबूर होना पड़ गया.

इसे भी पढ़ें : Delhi: केजरीवाल सरकार की नई एक्साइज पॉलिसी की CBI जांच की सिफारिश, LG ने लिया एक्शन

राष्ट्रपति चुनाव के बाद विपक्ष होगा कमजोर !

राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों का असर विपक्ष पर भी पड़ना तय है. भविष्य में इसके बड़े साइड इफेक्ट्स देखने को मिल सकते हैं. जिसके संकेत मिलने भी शुरू हो गए हैं. ममता बनर्जी ने आगामी उपराष्ट्रपति चुनाव (Vice President Election) से अलग रहने का ऐलान कर चुकी हैं.

विपक्ष में फूट का असर यह हुआ कि बीजेडी, बीएसपी, सुभासपा, YSR कांग्रेस, शिवसेना, जेएमएम, जनता दल (एस), अकाली दल और टीडीपी जैसे दल एनडीए के पक्ष में खड़े नजर आए. इससे विपक्षी दलों की एकता पर सवाल उठ रहे हैं. विपक्षी एकजुटता की बात हर कोई करता है. लेकिन मजबूत होने के बजाय कमजोर ही होता चला जा रहा है. इतना ही नहीं असर 2024 के लोकसभा चुनाव में देखने को मिल सकता है.

अप नेक्स्ट

President Elections: रायसीना की रेस में यशवंत सिन्हा नहीं, 'कांग्रेस' हारी है! जानिए कैसे?

President Elections: रायसीना की रेस में यशवंत सिन्हा नहीं, 'कांग्रेस' हारी है! जानिए कैसे?

Bihar Crime News: पटना में कोचिंग से घर लौट रही लड़की को मारी गोली, CCTV फुटेज आया सामने

Bihar Crime News: पटना में कोचिंग से घर लौट रही लड़की को मारी गोली, CCTV फुटेज आया सामने

Janmashtami 2022: श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर कब है सरकारी छुट्टी, राज्यों ने की घोषणा

Janmashtami 2022: श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर कब है सरकारी छुट्टी, राज्यों ने की घोषणा

Shahnawaz Hussain: बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन पर दर्ज होगा रेप का केस, दिल्ली HC का आदेश

Shahnawaz Hussain: बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन पर दर्ज होगा रेप का केस, दिल्ली HC का आदेश

UPPCL Recruitment 2022: सरकारी नौकरी तलाश रहे यूपी के युवाओं के लिए अच्छी खबर, इस विभाग में निकली भर्ती

UPPCL Recruitment 2022: सरकारी नौकरी तलाश रहे यूपी के युवाओं के लिए अच्छी खबर, इस विभाग में निकली भर्ती

Bihar Politics: लालू यादव ने मजाक-मजाक में नीतीश से कह दी बहुत बड़ी बात

Bihar Politics: लालू यादव ने मजाक-मजाक में नीतीश से कह दी बहुत बड़ी बात

और वीडियो

Delhi: IAS अधिकारी पर 50 लाख की घूस लेने का आरोप, LG ने की कार्रवाई की सिफारिश

Delhi: IAS अधिकारी पर 50 लाख की घूस लेने का आरोप, LG ने की कार्रवाई की सिफारिश

UP News: बिटक्वाइन में किडनैपर्स ने ली फिरौती की रकम, Lucknow से सामने आया मामला 

UP News: बिटक्वाइन में किडनैपर्स ने ली फिरौती की रकम, Lucknow से सामने आया मामला 

Indian Railway: पांच साल तक के बच्चे को भी लगेगा टिकट? रेल मंत्रालय ने दिया ये जवाब

Indian Railway: पांच साल तक के बच्चे को भी लगेगा टिकट? रेल मंत्रालय ने दिया ये जवाब

क्या Pandit Nehru की बहन विजयलक्ष्मी को पता था कि सुभाष चंद्र बोस जिंदा हैं? | 18 August Jharokha

क्या Pandit Nehru की बहन विजयलक्ष्मी को पता था कि सुभाष चंद्र बोस जिंदा हैं? | 18 August Jharokha

Domestic Violence: घरेलू हिंसा पर Madras HC की सख्त टिप्पणी, बोले-पति को किया जा सकता है घर से बाहर

Domestic Violence: घरेलू हिंसा पर Madras HC की सख्त टिप्पणी, बोले-पति को किया जा सकता है घर से बाहर

Indian Railway: 3.5 किलोमीटर लंबी ट्रेन, 295 डिब्बे और 6 इंजन! रेलवे ने तोड़ दिए सारे रिकॉर्ड

Indian Railway: 3.5 किलोमीटर लंबी ट्रेन, 295 डिब्बे और 6 इंजन! रेलवे ने तोड़ दिए सारे रिकॉर्ड

Sexual Harassment Case: केरल कोर्ट- महिला ने भड़काऊ ड्रेस पहना, इसलिए यौन उत्पीड़न का केस नहीं...

Sexual Harassment Case: केरल कोर्ट- महिला ने भड़काऊ ड्रेस पहना, इसलिए यौन उत्पीड़न का केस नहीं...

Nitish Cabinet: नीतीश कैबिनेट के विस्तार के साथ ही जेडीयू की 'कलह' आई सामने, 5 विधायक हुए नाराज

Nitish Cabinet: नीतीश कैबिनेट के विस्तार के साथ ही जेडीयू की 'कलह' आई सामने, 5 विधायक हुए नाराज

Bihar News: नीतीश के मंत्री कार्तिकेय सिंह को करना था सरेंडर, लेकिन राजभवन पहुंच गए शपथ लेने

Bihar News: नीतीश के मंत्री कार्तिकेय सिंह को करना था सरेंडर, लेकिन राजभवन पहुंच गए शपथ लेने

FIFA Suspends AIFF Case: सुप्रीम कोर्ट ने भारत सरकार को दिया निर्देश, कहा- FIFA से AIFF का हटवाएं निलंबन

FIFA Suspends AIFF Case: सुप्रीम कोर्ट ने भारत सरकार को दिया निर्देश, कहा- FIFA से AIFF का हटवाएं निलंबन

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.