हाइलाइट्स

  • शिक्षा मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइन
  • देशभर के कोचिंग इंस्टीट्यूट्स को निर्देश
  • 16 साल से कम उम्र के विद्यार्थियों को दाखिला नहीं

लेटेस्ट खबर

एलन मस्क के खिलाफ ट्विटर के पूर्व सीईओ पराग अग्रवाल ने किया केस

एलन मस्क के खिलाफ ट्विटर के पूर्व सीईओ पराग अग्रवाल ने किया केस

Jaunpur अपहरण, रंगदारी मामले में पूर्व एमपी धनंजय सिंह दोषी करार, कल होगा सजा का ऐलान

Jaunpur अपहरण, रंगदारी मामले में पूर्व एमपी धनंजय सिंह दोषी करार, कल होगा सजा का ऐलान

IND vs ENG: हेलिकॉप्टर से धर्मशाला पहुंचे रोहित शर्मा, वायरल हुआ वीडियो

IND vs ENG: हेलिकॉप्टर से धर्मशाला पहुंचे रोहित शर्मा, वायरल हुआ वीडियो

Rahul Gandhi को लोगों ने दिए आलू, कहा- अब सोना दीजिए, BJP ने शेयर किया VIDEO

Rahul Gandhi को लोगों ने दिए आलू, कहा- अब सोना दीजिए, BJP ने शेयर किया VIDEO

UP News: योगी कैबिनेट का हुआ विस्तार, राजभर- दारा सिंह समेत इन लोगों को मिली जगह

UP News: योगी कैबिनेट का हुआ विस्तार, राजभर- दारा सिंह समेत इन लोगों को मिली जगह

Punjab में 6 साल बाद साथ आएंगे बादल और ढींडसा, शिरोमणि अकाली दल और अकाली दल संयुक्त का होगा विलय

Punjab में 6 साल बाद साथ आएंगे बादल और ढींडसा, शिरोमणि अकाली दल और अकाली दल संयुक्त का होगा विलय

Kangana Ranaut ने फिर साधा सेलेब्स पर निशाना, बताई अनंत के प्री-वेडिंग सेलिब्रेशन में न शामिल होने की वजह

Kangana Ranaut ने फिर साधा सेलेब्स पर निशाना, बताई अनंत के प्री-वेडिंग सेलिब्रेशन में न शामिल होने की वजह

Dry Ice: गुरुग्राम के कैफे में लोगों को क्यों हुई खून की उल्टियां? क्या है ड्राई आइस जिसने बिगाड़ी हालत

Dry Ice: गुरुग्राम के कैफे में लोगों को क्यों हुई खून की उल्टियां? क्या है ड्राई आइस जिसने बिगाड़ी हालत

Coaching Centres के लिए गाइडलाइन जारी, 16 साल के कम उम्र के छात्रों को न करें दाखिल

शिक्षा मंत्रालय द्वारा घोषित नए दिशानिर्देश के मुताबिक कोचिंग संस्थान 16 साल से कम उम्र के विद्यार्थियों को अपने यहां दाखिल नहीं कर सकेंगे और अच्छे नंबर या रैंक दिलाने की गारंटी जैसे भ्रामक वादे भी नहीं कर सकेंगे. 

Coaching Centres के लिए गाइडलाइन जारी, 16 साल के कम उम्र के छात्रों को न करें दाखिल

शिक्षा मंत्रालय द्वारा घोषित नए दिशानिर्देश के मुताबिक कोचिंग संस्थान 16 साल से कम उम्र के विद्यार्थियों को अपने यहां दाखिल नहीं कर सकेंगे और अच्छे नंबर या रैंक दिलाने की गारंटी जैसे भ्रामक वादे भी नहीं कर सकेंगे. कोचिंग संस्थानों को विनियमित करने के लिए दिशानिर्देश एक कानूनी ढांचे की आवश्यकता को पूरा करने और बेतरतीब तरीके से निजी कोचिंग संस्थानों की बढ़ोतरी को रोकने के लिए हैं. दिशानिर्देश के मुताबिक राज्य सरकार कोचिंग संस्थान की गतिविधियों की निगरानी के लिए जिम्मेदार होंगे.

आत्महत्या के बढ़ते मामलों के तहत उठाया कदम

मंत्रालय ने यह दिशानिर्देश विद्यार्थियों की आत्महत्या के बढ़ते मामलों, आग की घटनाओं, कोचिंग संस्थानों में सुविधाओं की कमी के साथ-साथ उनके द्वारा अपनाई जाने वाली शिक्षण पद्धतियों के बारे में सरकार को मिली शिकायतों के बाद तैयार किए हैं. दिशानिर्देश में कहा गया, ‘‘कोई भी कोचिंग संस्थान स्नातक से कम योग्यता वाले शिक्षकों को नियुक्त नहीं करेगा... कोचिंग संस्थान विद्यार्थियों के नामांकन के लिए माता-पिता को भ्रामक वादे या रैंक या अच्छे अंक की गारंटी नहीं दे सकते, संस्थान 16 वर्ष से कम उम्र के छात्रों का नामांकन नहीं कर सकते, विद्यार्थियों का कोचिंग संस्थान में नामांकन माध्यमिक विद्यालय परीक्षा के बाद ही होना चाहिए.’’

भ्रामक विज्ञापन प्रकाशित करने पर लगाई रोक

दिशानिर्देश के मुताबिक, ‘‘कोचिंग संस्थान कोचिंग की गुणवत्ता या उसमें दी जाने वाली सुविधाओं या ऐसे कोचिंग संस्थान या उनके संस्थान में पढ़े छात्र द्वारा प्राप्त परिणाम के बारे में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से किसी भी दावे को लेकर कोई भ्रामक विज्ञापन प्रकाशित नहीं कर सकते हैं या प्रकाशित नहीं करवा सकते हैं या प्रकाशन में भाग नहीं ले सकते हैं. ’’कोचिंग संस्थान किसी भी शिक्षक या ऐसे व्यक्ति की सेवाएं नहीं ले सकते, जो नैतिक कदाचार से जुड़े किसी भी अपराध के लिए दोषी ठहराया गया हो। कोई भी संस्थान तब तक पंजीकृत नहीं होगा जब तक कि उसके पास इन दिशानिर्देशों की आवश्यकता के अनुसार परामर्श प्रणाली न हो.

कोचिंग संस्थानों की होगी एक वेबसाइट

दिशानिर्देश में कहा गया, ‘‘कोचिंग संस्थानों की एक वेबसाइट होगी जिसमें पढ़ाने वाले शिक्षकों (ट्यूटर्स) की योग्यता, पाठ्यक्रम/पाठ्य सामग्री, पूरा होने की अवधि, छात्रावास सुविधाएं और लिए जाने वाले शुल्क का अद्यतन विवरण होगा.’’ नए दिशानिर्देशों के अनुसार, विद्यार्थियों पर कड़ी प्रतिस्पर्धा और शैक्षणिक दबाव के कारण कोचिंग संस्थानों को उन्हें तनाव से बचाने के लिए कदम उठाने चाहिए और उन पर अनावश्यक दबाव डाले बिना कक्षाएं संचालित करनी चाहिए. दिशानिर्देश में कहा गया, ‘‘कोचिंग संस्थानों को संकट और तनावपूर्ण स्थितियों में छात्रों को निरंतर सहायता प्रदान करने के लिए तत्काल हस्तक्षेप के लिए एक तंत्र स्थापित करना चाहिए। सक्षम प्राधिकारी यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठा सकता है कि कोचिंग संस्थान द्वारा एक परामर्श प्रणाली विकसित की जाए जो छात्रों और अभिभावकों के लिए आसानी से उपलब्ध हो.’’

कोटा में रिकॉर्ड संख्या में छात्रों की आत्महत्या के मामले आए

दिशानिर्देश में विद्यार्थियों के मानसिक कल्याण को लेकर विस्तृत रूपरेखा पिछले साल कोटा में रिकॉर्ड संख्या में छात्रों की आत्महत्या करने की घटना के बाद आई है. दिशानिर्देश में कहा गया कि विभिन्न पाठ्यक्रमों का शुल्क पारदर्शी और तार्किक होना चाहिए और वसूले जाने वाले शुल्क की रसीद दी जानी चाहिए. इसमें साफ किया गया है कि अगर छात्र बीच में ही पाठ्यक्रम छोड़ता है तो उसकी बची हुई अवधि की फीस लौटाई जानी चाहिए. नीति को सशक्त बनाते हुए केंद्र ने सुझाव दिया है कि कोचिंग संस्थनों पर दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने पर एक लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जाना चाहिए या अत्यधिक शुल्क वसूलने पर उनका पंजीकरण रद्द कर दिया जाना चाहिए. कोचिंग संस्थानों की उचित निगरानी के लिए सरकार ने दिशानिर्देश के प्रभावी होने के तीन महीने के भीतर नए और मौजूदा कोचिंग संस्थानों का पंजीकरण करने का प्रस्ताव किया है.

सचिन तेंदुलकर के डीप फेक वीडियो पर मुंबई पुलिस का एक्शन, गेमिंग साइट के खिलाफ दर्ज की FIR


अप नेक्स्ट

Coaching Centres के लिए गाइडलाइन जारी, 16 साल के कम उम्र के छात्रों को न करें दाखिल

Coaching Centres के लिए गाइडलाइन जारी, 16 साल के कम उम्र के छात्रों को न करें दाखिल

Jaunpur अपहरण, रंगदारी मामले में पूर्व एमपी धनंजय सिंह दोषी करार, कल होगा सजा का ऐलान

Jaunpur अपहरण, रंगदारी मामले में पूर्व एमपी धनंजय सिंह दोषी करार, कल होगा सजा का ऐलान

Rahul Gandhi को लोगों ने दिए आलू, कहा- अब सोना दीजिए, BJP ने शेयर किया VIDEO

Rahul Gandhi को लोगों ने दिए आलू, कहा- अब सोना दीजिए, BJP ने शेयर किया VIDEO

Punjab में 6 साल बाद साथ आएंगे बादल और ढींडसा, शिरोमणि अकाली दल और अकाली दल संयुक्त का होगा विलय

Punjab में 6 साल बाद साथ आएंगे बादल और ढींडसा, शिरोमणि अकाली दल और अकाली दल संयुक्त का होगा विलय

UP News: योगी कैबिनेट का हुआ विस्तार, राजभर- दारा सिंह समेत इन लोगों को मिली जगह

UP News: योगी कैबिनेट का हुआ विस्तार, राजभर- दारा सिंह समेत इन लोगों को मिली जगह

Haryana में पहली बार फायदे में है बिजली निगम -रणजीत सिंह

Haryana में पहली बार फायदे में है बिजली निगम -रणजीत सिंह

और वीडियो

Supreme Court पहुंचा Sandeshkhali केस, हाई कोर्ट के आदेश को ममता सरकार की चुनौती, कहा- 'होता है पक्षपात'

Supreme Court पहुंचा Sandeshkhali केस, हाई कोर्ट के आदेश को ममता सरकार की चुनौती, कहा- 'होता है पक्षपात'

Bengal: संदेशखाली मामले की जांच करेगी CBI, कोलकाता हाईकोर्ट का आदेश 

Bengal: संदेशखाली मामले की जांच करेगी CBI, कोलकाता हाईकोर्ट का आदेश 

Ujjain: महाकाल की शरण में पहुंचे Rahul Gandhi, नंदी के कान में मांगी मन्नत...BJP ने कहा- पश्चाताप करो

Ujjain: महाकाल की शरण में पहुंचे Rahul Gandhi, नंदी के कान में मांगी मन्नत...BJP ने कहा- पश्चाताप करो

Karnataka: बेंगलुरु को बम से दहलाने की धमकी, अलर्ट पर सरकार

Karnataka: बेंगलुरु को बम से दहलाने की धमकी, अलर्ट पर सरकार

Justice Ganguly: बीजेपी का दामन थामेंगे कोलकाता हाईकोर्ट के पूर्व जस्टिस अभिजीत गांगुली, लड़ेंगे चुनाव

Justice Ganguly: बीजेपी का दामन थामेंगे कोलकाता हाईकोर्ट के पूर्व जस्टिस अभिजीत गांगुली, लड़ेंगे चुनाव

Rahul Gandhi On PM Modi: एमपी में बोले राहुल गांधी 'मोदी चाहते हैं आप जय श्रीराम बोलें और भूखे मर जाएं'

Rahul Gandhi On PM Modi: एमपी में बोले राहुल गांधी 'मोदी चाहते हैं आप जय श्रीराम बोलें और भूखे मर जाएं'

Kala Jatheri Marriage: गैंगस्टर काला जठेड़ी और लेडी डॉन अनुराधा की होगी शादी, 6 घंटे की मिली पैरोल

Kala Jatheri Marriage: गैंगस्टर काला जठेड़ी और लेडी डॉन अनुराधा की होगी शादी, 6 घंटे की मिली पैरोल

Punjab के सीएम का एलान, बाढ़ के दौरान खेतों में जमा हुई रेत को बैच सकते हैं किसान

Punjab के सीएम का एलान, बाढ़ के दौरान खेतों में जमा हुई रेत को बैच सकते हैं किसान

UP Cabinet: यूपी में किसानों को करोड़ों की सौगात, जानिए क्या-क्या मिलेगा?

UP Cabinet: यूपी में किसानों को करोड़ों की सौगात, जानिए क्या-क्या मिलेगा?

Indian Army का छोटा एयरक्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त, गया में ग्रामीणों ने पायलट को सुरक्षित निकाला

Indian Army का छोटा एयरक्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त, गया में ग्रामीणों ने पायलट को सुरक्षित निकाला

हमारे बारे में

एडिटरजी भारत में स्थित एक लोकप्रिय वीडियो समाचार और सूचना प्लेटफार्म है. इसकी शुरुआत साल 2018 में भारत के प्रमुख पत्रकारों में से एक, विक्रम चंद्रा, ने की थी, और कुछ ही सालों में एडिटर्जी ने  डिजिटल समाचार की दुनिया में अपनी अलग पहचान बना ली है. ये प्लेटफ़ॉर्म मुख्य रूप से मोबाइल उपकरणों के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिसमें एंड्रॉइड और आईओएस के लिए एप्लिकेशन उपलब्ध हैं.

हमसे संपर्क करें

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.