हाइलाइट्स

  • 26 जनवरी का संबंध कांग्रेस के अधिवेशन से
  • 1930 में इसी दिन दिया गया था पूर्ण स्वराज का नारा
  • पंडित नेहरू ने फहराया था तिरंगा

लेटेस्ट खबर

Bharat Jodo Yatra : राहुल की सुरक्षा चूक मामले में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने दी प्रतिक्रिया, जानें क्या कहा?

Bharat Jodo Yatra : राहुल की सुरक्षा चूक मामले में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने दी प्रतिक्रिया, जानें क्या कहा?

 टेस्ट सीरीज में इस कंगारू गेंदबाज से बचकर रहना Kohli, पूर्व ऑस्ट्रेलियाई बॉलर है जंग देखने को बेकरार

टेस्ट सीरीज में इस कंगारू गेंदबाज से बचकर रहना Kohli, पूर्व ऑस्ट्रेलियाई बॉलर है जंग देखने को बेकरार

Mohalla Clinic: पंजाब को मिले 400 नए मोहल्ला क्लीनिक, केजरीवाल के साथ सीएम भगवंत मान ने किया उद्घाटन

Mohalla Clinic: पंजाब को मिले 400 नए मोहल्ला क्लीनिक, केजरीवाल के साथ सीएम भगवंत मान ने किया उद्घाटन

BBC documentary Row: दिल्ली यूनिवर्सिटी में जमकर बवाल, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया

BBC documentary Row: दिल्ली यूनिवर्सिटी में जमकर बवाल, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया

करियर का आखिरी ग्रैंड स्लैम मैच खेलने के बाद भावुक हो गईं सानिया मिर्जा, आंखों से निकले आंसू

करियर का आखिरी ग्रैंड स्लैम मैच खेलने के बाद भावुक हो गईं सानिया मिर्जा, आंखों से निकले आंसू

Why 26 January Chosen for Republic Day?: 26 जनवरी को ही क्यों मनाते हैं गणतंत्र दिवस? जानिए वजह

Why 26 January Chosen for Republic Day? : आखिर 26 जनवरी को ही क्यों भारत का गणतंत्र दिवस मनाया जाता है. क्यों इसी तारीख को गणतंत्र दिवस के लिए चुना गया? आइए जानते हैं इसी तथ्य को...

Why 26 January Chosen for Republic Day? : 26 जनवरी को हम सभी गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाते हैं. इसी दिन 26 जनवरी 1950 को भारतीय संविधान (Constitution of India) लागू हुआ था. गणतंत्र दिवस के अवसर पर कर्तव्य पथ (Kartavya Path) की झांकी खास आकर्षण रहती है. परेड नई दिल्ली के कर्तव्य पथ से शुरू होती है और इंडिया गेट (India Gate) पर खत्म होती है. इसमें देश की सैन्य शक्ति, सांस्कृतिक विरासत का प्रदर्शन किया जाता है..

भारत भर में इस दिन उत्सव का माहौल होता है. हालांकि एक बड़ा सवाल इस दिन से जुड़ा हुआ है, और वो ये कि आखिर 26 जनवरी के दिन ही गणतंत्र दिवस (Gantantra Diwas) क्यों मनाते हैं. आखिर इस तारीख में ऐसा क्या है जो इसी दिन से भारत का संविधान लागू किया गया? आइए समझते हैं इसी तथ्य को...

26 जनवरी को ही क्यों मनाते हैं गणतंत्र दिवस? || Why Republic Day celebrated only on 26 January?

भारत ने 15 अगस्त 1947 (India Independence Day) को ब्रिटिश शासन से आजादी पाई थी. हालांकि, देश का शासन पहले 3 सालों तक 1935 के औपनिवेशिक भारत सरकार अधिनियम (Government of Colonial India Act) के हिसाब से चलता रहा था. इसके बाद भारत का संविधान 26 नवंबर 1949 को भारत की संविधान सभा ने तैयार कर लिया था. भारतीय संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था. 26 जनवरी की तारीख इसलिए चुनी गई थी क्योंकि 1930 में इसी तारीख के दिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (Indian National Congress) ने पूर्ण स्वराज का नारा दिया था.

साल 1929 में 31 दिसंबर के दिन रावी नदी के तट पर कांग्रेस अधिवेशन (Congress Session) की शुरुआत हुई. इसकी अध्यक्षता पंडित जवाहर लाल नेहरू (Pandit Jawaharlal Nehru) ने की थी. इसी अधिवेशन में 26 जनवरी 1930 को पंडित जवाहर लाल नेहरू ने कांग्रेस अधिवेशन में तिरंगा फहराया था और पूर्ण आजादी या पूर्ण स्वराज का नारा दिया था....

अधिवेशन में पंडित नेहरू ने पूर्ण स्वराज (Purna Swaraj) का प्रस्ताव रखा और कहा कि अगर ब्रिटिश सरकार 26 जनवरी 1930 तक भारत को उसका प्रभुत्व यानी (डोमिनियन का पद) नहीं देती तो भारत खुद को आजाद घोषित कर देगा. कांग्रेस ने 26 जनवरी को पूर्ण स्वराज दिवस (स्वतंत्रता दिवस) घोषित कर दिया.

नेहरू ने इसी तारीख की घोषणा आजादी के दिन के रूप में की, तबसे लेकर 1947 तक स्वतंत्रता दिवस 26 जनवरी को मनाया जाने लगा, लेकिन जब 1947 में 15 अगस्त के दिन देश आजाद हुआ, तो भारत को आजादी की नई तारीख मिल गई. लेकिन कांग्रेस के नेताओं ने 26 जनवरी की तारीख को याद रखना जरूरी समझा. इसीलिए इस तारीख को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाने की शुरुआत हुई.

कैसे बना था भारत का संविधान || How was the Constitution of India made?

15 अगस्त 1947 को भारत की आजादी के बाद संविधान सभा का गठन हुआ था. इसके बाद बाबा साहब भीमराव अंबेडकर (Dr. Bhimrao Ambedkar) की अध्यक्षता में तकरीबन दो साल, 11 महीने और 18 दिन में दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान तैयार किया गया था. 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू कर दिया गया. तब से इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है. भारतीय संविधान की हिंदी और अंग्रेजी में दो लिखित प्रतिलिपियां हैं, जिन्हें संसद में हीलियम से भरे केस में रखा गया है.

ये भी देखें- गणतंत्र दिवस पर PM मोदी ने पहनी खास 'पगड़ी', जानिये खासियत

अप नेक्स्ट

Why 26 January Chosen for Republic Day?: 26 जनवरी को ही क्यों मनाते हैं गणतंत्र दिवस? जानिए वजह

Why 26 January Chosen for Republic Day?: 26 जनवरी को ही क्यों मनाते हैं गणतंत्र दिवस? जानिए वजह

First Republic Day History: दिल्ली में उमड़ा था देशप्रेम का समंदर, जानें क्या हुआ था 26 जनवरी 1950 को?

First Republic Day History: दिल्ली में उमड़ा था देशप्रेम का समंदर, जानें क्या हुआ था 26 जनवरी 1950 को?

Why Joshimath is sinking : जोशीमठ में क्यों धंस रही है जमीन? जानें INSIDE STORY

Why Joshimath is sinking : जोशीमठ में क्यों धंस रही है जमीन? जानें INSIDE STORY

Free Ration Card Application Process: बस ये स्टेप फॉलो करने से आपको मिलेगा एक साल तक फ्री राशन!

Free Ration Card Application Process: बस ये स्टेप फॉलो करने से आपको मिलेगा एक साल तक फ्री राशन!

Indo China War in 1962: 1962 में जीतकर भी चीन ने क्यों खाली कर दिया अरुणाचल? जंग का अनसुना किस्सा

Indo China War in 1962: 1962 में जीतकर भी चीन ने क्यों खाली कर दिया अरुणाचल? जंग का अनसुना किस्सा

Story of India: भारत ने मिटाई दुनिया की भूख, चांद पर ढूंढा पानी..जानें आजाद वतन की उपलब्धियां | EP #5

Story of India: भारत ने मिटाई दुनिया की भूख, चांद पर ढूंढा पानी..जानें आजाद वतन की उपलब्धियां | EP #5

और वीडियो

Field Marshal General Sam Manekshaw: 9 गोलियां खाकर सर्जन से कहा- गधे ने दुलत्ती मार दी, ऐसे थे मानेकशॉ

Field Marshal General Sam Manekshaw: 9 गोलियां खाकर सर्जन से कहा- गधे ने दुलत्ती मार दी, ऐसे थे मानेकशॉ

Russia-Ukraine War: ‘वैक्यूम बम’ यानी फॉदर ऑफ ऑल बम ? जानिए सबकुछ

Russia-Ukraine War: ‘वैक्यूम बम’ यानी फॉदर ऑफ ऑल बम ? जानिए सबकुछ

UP Elections 2022: अंदर से कैसा दिखता है योगी आदित्यनाथ का मठ, देखें Exclusive Video

UP Elections 2022: अंदर से कैसा दिखता है योगी आदित्यनाथ का मठ, देखें Exclusive Video

UP Elections : यूपी चुनाव में क्या प्रियंका पलटेंगी बाजी?

UP Elections : यूपी चुनाव में क्या प्रियंका पलटेंगी बाजी?

UP Elections 2022: क्या जाति फैक्टर बिगाड़ेगा BJP का खेल?

UP Elections 2022: क्या जाति फैक्टर बिगाड़ेगा BJP का खेल?

छात्र आंदोलन में FIR झेलने वाले Khan Sir को कितना जानते हैं आप?

छात्र आंदोलन में FIR झेलने वाले Khan Sir को कितना जानते हैं आप?

सोतीगंज: उत्तर प्रदेश का 'बदनाम बाज़ार' जिसपर योगी ने जड़ा ताला!

सोतीगंज: उत्तर प्रदेश का 'बदनाम बाज़ार' जिसपर योगी ने जड़ा ताला!

UP Elections 2022: राज्य में क्या है मुस्लिम वोटों का सच?

UP Elections 2022: राज्य में क्या है मुस्लिम वोटों का सच?

UP Elections 2022 : मायावती के बिना क्यों अधूरी है यूपी की राजनीति? जानें पूरी कहानी

UP Elections 2022 : मायावती के बिना क्यों अधूरी है यूपी की राजनीति? जानें पूरी कहानी

UP Elections: स्वामी प्रसाद मौर्य के कॉन्फिडेंस की वजह क्या है?

UP Elections: स्वामी प्रसाद मौर्य के कॉन्फिडेंस की वजह क्या है?

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.