हाइलाइट्स

  • 2 फरवरी 1946 को लियाकत अली खान ने पेश किया बजट
  • मेरठ-मुजफ्फरनगर से चुनाव लड़ते थे लियाकत अली खान
  • लियाकत अली खान के बजट को हिंदू विरोधी बताया गया

लेटेस्ट खबर

Morning News Brief: तुर्की-सीरिया में मरने वालों का आंकड़ा 7 हजार के पार, अडानी संकट पर मूडीज की रिपोर्ट

Morning News Brief: तुर्की-सीरिया में मरने वालों का आंकड़ा 7 हजार के पार, अडानी संकट पर मूडीज की रिपोर्ट

Women's IPL: 409 खिलाड़ियों के नामों पर लगेगी बोली, मंधाना और हरमनप्रीत कौर ने रखा 50 लाख का बेस प्राइस

Women's IPL: 409 खिलाड़ियों के नामों पर लगेगी बोली, मंधाना और हरमनप्रीत कौर ने रखा 50 लाख का बेस प्राइस

Mahua Moitra: संसद में ऐसा क्या बोल गईं TMC नेता महुआ मोइत्रा कि मच गया बवाल...

Mahua Moitra: संसद में ऐसा क्या बोल गईं TMC नेता महुआ मोइत्रा कि मच गया बवाल...

Turkey Earthquake: गहराता जा रहा है भूंकप से तबाही का मंजर, मिडिल ईस्ट में करीब 8 हजार लोगों की मौत

Turkey Earthquake: गहराता जा रहा है भूंकप से तबाही का मंजर, मिडिल ईस्ट में करीब 8 हजार लोगों की मौत

India Weather Update: दिल्ली-NCR में लोगों को ठंड से राहत, लेकिन चलेंगी तेज हवाएं, जानें कैसा रहेगा मौसम

India Weather Update: दिल्ली-NCR में लोगों को ठंड से राहत, लेकिन चलेंगी तेज हवाएं, जानें कैसा रहेगा मौसम

Interim Budget of India Before 1947 : वो बजट जिसने भारत को बांट दिया और बना दिया पाकिस्तान!

Interim Budget of India Before 1947 : क्या आप जानते हैं कि आजादी से पहले भारत का अंतरिम बजट लियाकत अली खान ने पेश किया था और वह आगे चलकर पाकिस्तान के पहले प्रधानमंत्री भी बने थे...

Interim Budget of India Before 1947 : 1 फरवरी 2023 को मोदी सरकार (Modi Government) अपने दूसरे कार्यकाल का अंतिम पूर्ण बजट पेश करने वाली है...लेकिन क्या आप जानते हैं हमारे मौजूदा संसद भवन में एक ऐसे शख्स ने देश का बजट पेश किया था जो बाद में पाकिस्तान का प्रधानमंत्री (Prime Minister of Pakistan) बना...दरअसल ये ऐसा वाक्या है जिसने देश के बंटवारे की बुनियाद को और भी पुख्ता कर दिया. अपने बजट स्पेशल में आज हम बात करेंगे इसी वाक्ये की....

2 फरवरी 1946 को लियाकत अली खान ने पेश किया बजट

सेंट्रल लेजिस्लेटिव असेंबली (Central Legislative Assembly) में पंडित जवाहर लाल नेहरू के नेतृत्व में गठित अंतरिम सरकार के वित्त मंत्री लियाक़त अली ख़ान (Liaquat Ali Khan) ने दो फ़रवरी 1946 को बजट पेश किया, उसी इमारत में जिसे आज संसद भवन कहा जाता है.

मेरठ-मुजफ्फरनगर से चुनाव लड़ते थे लियाकत अली खान

लियाक़त अली खान (Liaquat Ali Khan), मोहम्मद अली जिन्ना (Muhammad Ali Jinnah) के काफी करीबी थे. कैबिनेट में सरदार पटेल (Sardar Vallabh Bhai Patel), अंबेडकर (Dr. Bhimrao Ambedkar), बाबू जगजीवन राम (Babu Jagjivan Ram) जैसे दिग्गज कांग्रेसी भी थे. बात करें लियाकत अली खान की, तो वे बंटवारे से पहले यूपी के मेरठ और मुजफ्फरनगर से यूपी विधानसभा के लिए चुनाव लड़ते थे. संबंध था करनाल के राज परिवार से...

लियाकत अली खान के बजट को हिंदू विरोधी बताया गया

लियाकत का बजट (Liaquat Ali Khan's Budget) कांग्रेस के गले नहीं उतरा था...कांग्रेस का कहना था कि बजट से उद्योगपतियों को चोट पहुंची थी... और वह बजट हिंदू विरोधी था... भारत में तब मुस्लिम उद्योगपति न के बराबर थे. बजट में कारोबारियों के कुल मुनाफे पर 25 फीसदी टैक्स लगा दिया गया था और कॉर्पोरेट टैक्स भी दोगुना कर दिया गया था.

सरदार पटेल ने लियाकत के बजट पर की थी टिप्पणी

टैक्स चोरी करने वालों पर कठोर कार्रवाई के मकसद से एक आयोग बनाने का वादा भी किया गया... जिसके बाद सरदार पटेल ने राय दी कि ये बजट बिड़ला, बजाज और वालचंद जैसे हिंदू उद्योगपतियों के खिलाफ सोची समझी रणनीति थी. क्योंकि ये सभी कांग्रेस से जुड़े थे..

घनश्याम दास बिड़ला (Ghanshyam Das Birla) और जमनालाल बजाज (Jamnalal Bajaj) बापू के करीबियों में थे... हालांकि तब सिप्ला समूह भी था जिसके संस्थापक मुस्लिम समुदाय से आने वाले केए हामिद (Cipla Founder KA Hamid) थे लेकिन कारोबार में मुस्लिमों की संख्या न के ही बराबर थी. लियाकत पर आरोप लगे कि वे हिंदू मंत्रियों के खर्च और प्रस्ताव पास करने में कई कई दिन लगा देते थे.

जिसके बाद मुस्लिम लीग और कांग्रेस के बीच विरोध इतना बढ़ गया कि दोनों पार्टियों के नेता एक दूसरे को नीचा दिखाने पर उतर आए. इस तरह अंतरिम सरकार का सपना धूल में मिल गया.

26 नवंबर 1947 को पेश हुआ था आजाद भारत का पहला बजट

बात करें आजाद भारत के पहले बजट की, तो इसे 26 नवंबर, 1947 को आर के षणमुगम शेट्टी (R. K. Shanmukham Chetty) ने पेश किया था. लेकिन ये सही मायने में अर्थव्यवस्था की समीक्षा ही थी. इसे 1948-49 के बजट से 95 दिन पहले ही पेश किया गया था.

अप नेक्स्ट

Interim Budget of India Before 1947 : वो बजट जिसने भारत को बांट दिया और बना दिया पाकिस्तान!

Interim Budget of India Before 1947 : वो बजट जिसने भारत को बांट दिया और बना दिया पाकिस्तान!

Turkey Earthquake: तुर्की...टर्की या तुर्किये...जानिए भूकंप पीड़ित इस देश का नाम कैसे बदला ?

Turkey Earthquake: तुर्की...टर्की या तुर्किये...जानिए भूकंप पीड़ित इस देश का नाम कैसे बदला ?

Indo China War in 1962: 1962 में जीतकर भी चीन ने क्यों खाली कर दिया अरुणाचल? जंग का अनसुना किस्सा

Indo China War in 1962: 1962 में जीतकर भी चीन ने क्यों खाली कर दिया अरुणाचल? जंग का अनसुना किस्सा

Story of India: भारत ने मिटाई दुनिया की भूख, चांद पर ढूंढा पानी..जानें आजाद वतन की उपलब्धियां | EP #5

Story of India: भारत ने मिटाई दुनिया की भूख, चांद पर ढूंढा पानी..जानें आजाद वतन की उपलब्धियां | EP #5

Russia-Ukraine War: ‘वैक्यूम बम’ यानी फॉदर ऑफ ऑल बम ? जानिए सबकुछ

Russia-Ukraine War: ‘वैक्यूम बम’ यानी फॉदर ऑफ ऑल बम ? जानिए सबकुछ

UP Elections 2022: अंदर से कैसा दिखता है योगी आदित्यनाथ का मठ, देखें Exclusive Video

UP Elections 2022: अंदर से कैसा दिखता है योगी आदित्यनाथ का मठ, देखें Exclusive Video

और वीडियो

UP Elections : यूपी चुनाव में क्या प्रियंका पलटेंगी बाजी?

UP Elections : यूपी चुनाव में क्या प्रियंका पलटेंगी बाजी?

UP Elections 2022: क्या जाति फैक्टर बिगाड़ेगा BJP का खेल?

UP Elections 2022: क्या जाति फैक्टर बिगाड़ेगा BJP का खेल?

छात्र आंदोलन में FIR झेलने वाले Khan Sir को कितना जानते हैं आप?

छात्र आंदोलन में FIR झेलने वाले Khan Sir को कितना जानते हैं आप?

सोतीगंज: उत्तर प्रदेश का 'बदनाम बाज़ार' जिसपर योगी ने जड़ा ताला!

सोतीगंज: उत्तर प्रदेश का 'बदनाम बाज़ार' जिसपर योगी ने जड़ा ताला!

UP Elections 2022: राज्य में क्या है मुस्लिम वोटों का सच?

UP Elections 2022: राज्य में क्या है मुस्लिम वोटों का सच?

UP Elections 2022 : मायावती के बिना क्यों अधूरी है यूपी की राजनीति? जानें पूरी कहानी

UP Elections 2022 : मायावती के बिना क्यों अधूरी है यूपी की राजनीति? जानें पूरी कहानी

UP Elections: स्वामी प्रसाद मौर्य के कॉन्फिडेंस की वजह क्या है?

UP Elections: स्वामी प्रसाद मौर्य के कॉन्फिडेंस की वजह क्या है?

UP Elections: अयोध्या-मथुरा छोड़ योगी ने क्यों चुनी गोरखपुर सदर सीट?

UP Elections: अयोध्या-मथुरा छोड़ योगी ने क्यों चुनी गोरखपुर सदर सीट?

UP Elections 2022 : 35 सालों की 'टाइम मशीन'!

UP Elections 2022 : 35 सालों की 'टाइम मशीन'!

Pervez Musharraf Death: कैसी थी भारत पाक के बीच सुलह और जंग में परवेज मुशर्रफ की भूमिका ?

Pervez Musharraf Death: कैसी थी भारत पाक के बीच सुलह और जंग में परवेज मुशर्रफ की भूमिका ?

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.