हाइलाइट्स

  • मुलायम सिंह का जन्म 22 नवम्बर 1939 को इटावा में हुआ
  • पहला विधानसभा चुनाव 1967 में लड़ा और जीते
  • 1967 से लेकर 1996 तक 8 बार विधायक
  • 1982 से 87 तक विधान परिषद के सदस्य
  • 1996 से अबतक 7 बार लोकसभा में पहुंचे

लेटेस्ट खबर

Landslide in italy: इटली में भारी भूस्खलन, 100 लोग फंसे , राहत बचाव कार्य जारी

Landslide in italy: इटली में भारी भूस्खलन, 100 लोग फंसे , राहत बचाव कार्य जारी

Lamborghini Urus Performante: भारत में लॉन्च हुई सुपरकार 'यूरूस', 3.3 सेकंड में 300km की रफ्तार

Lamborghini Urus Performante: भारत में लॉन्च हुई सुपरकार 'यूरूस', 3.3 सेकंड में 300km की रफ्तार

Gujarat assembly election: अमित शाह बोले- वोट बैंक की वजह से कांग्रेस ने कभी आतंकी हमलों की निंदा नहीं की

Gujarat assembly election: अमित शाह बोले- वोट बैंक की वजह से कांग्रेस ने कभी आतंकी हमलों की निंदा नहीं की

Baba Ramdev: 'साड़ी और सलवार' में फिर फंस गए रामदेव! देखती रह गई महिलाएं...देखें Video

Baba Ramdev: 'साड़ी और सलवार' में फिर फंस गए रामदेव! देखती रह गई महिलाएं...देखें Video

Bihar News: CM नीतीश ने किया बड़ा ऐलान, शराब का धंधा छोड़ने वाले को 1 लाख रुपये देगी सरकार

Bihar News: CM नीतीश ने किया बड़ा ऐलान, शराब का धंधा छोड़ने वाले को 1 लाख रुपये देगी सरकार

Mulayam Singh Yadav: पहलवान से नेताजी कैसे बने मुलायम सिंह यादव? लखनऊ की सड़कों पर दौड़ती थी साइकिल

मुलायम सिंह ने अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत महज 15 वर्ष की आयु में की. उन्होंने 1954 में महान समाजवादी नेता डॅा. राममनोहर लोहिया के नहर रेट आंदोलन में भाग लिया और जेल गए. राजनीति के दांवपेंच उन्होंने 60 के दशक में लोहिया और चरण सिंह से सीखने शुरू किए. 

Mulayam Singh Yadav Biography : पहले पहलवानी, फिर शिक्षक और उसके बाद नेतागिरी...! मुलायम सिंह यादव की शुरूआत तो ऐसे ही हुई, लेकिन मुलायम बाबू अपने व्यक्तित्व और अंदाज की वजह से देश और उत्तर प्रदेश (UP News) की सियासत (politics) में हर वक्त छाए रहे. कहते हैं शुरुआती दौर में मुलायम सिंह लखनऊ (lucknow) में साइकिल (cycle) से सवारी करते भी नजर आ जाते थे. दर-दर जाकर लोगों से मिलते थे. अखबारों और पत्रकारों के दफ्तर तक वो साइकिल दौड़ा देते थे. साइकिल पर घूम-घूम कर पार्टी के लिए प्रचार किया करते थे. उसी जमाने में उन्हें खांटी सादगी पसंद और जमीन से जुड़ा नेता माने जाना लगा.

Also Read : Mulayam Singh Yadav Death News - SP संस्थापक मुलायम सिंह यादव का निधन

जाने-माने बॉडी बिल्डर थे

मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवम्बर 1939 को इटावा जिले के सैफई गांव (Saifai, Etawah) में हुआ था. वो एक किसान परिवार से तालुक रखते थे. मुलायम सिंह यादव अपने 5 भाई-बहनों में दूसरे नंबर पर और शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) उनके छोटे भाई हैं. मुलायम सिंह सियासी अखाड़े में कूदने से पहले जाने-माने बॉडी बिल्डर थे. उनके समर्थक उन्हें पहलवान कह कर पुकारा करते थे.

'नेताजी' बनने की कहानी (Mulayam Singh Yadav Career)

मुलायम सिंह ने अपने सियासी सफर की शुरूआत महज 15 साल की उम्र में की थी. उन्होंने 1954 में समाजवादी नेता डॅा. राममनोहर लोहिया (Socialist leader Dr. Ram Manohar Lohia) के नहर रेट आंदोलन में हिस्सा लिया और जेल गए. लोहिया ही उन्हें राजनीति में लेकर आए. मुलायम सिंह यादव 1967 में संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी (United Socialist Party) के टिकट पर पहली बार UP विधानसभा पहुंचे. इसके बाद 1977-78 में मुलायम सिंह यादव को उत्तर प्रदेश सरकार में सहकारिता एंव पशुपालन मंत्री बनाया गया. बस फिर शुरू हो गई 'नेताजी' बनने की कहानी.

भरने लगे अपनी उड़ान

मुलायम सिंह यादव 80 के दशक तक अपने राजनीतिक गुरु चौधरी चरण सिंह (Political Guru Chaudhary Charan Singh) के साथ मिलकर इंदिरा गांधी को वंशवाद के मुद्दे पर घेरते रहे, लेकिन जैसे ही चौधरी साहब ने राष्ट्रीय लोकदल में अमेरिका से लौटे अपने बेटे अजित सिंह को पार्टी में अहमियत देनी शुरू की, मुलायम सिंह का सपना टूटने लगा, फिर क्या भरने लगे अपनी उड़ान और बन गए नेताजी.

समाजवादी पार्टी का गठन

चौधरी चरण सिंह के निधन के बाद लोकदल लगभग टूट सी गई. पार्टी के नेता बिखरने लगे, पार्टी के एक बड़े धड़े की अगुवाई मुलायम सिंह यादव करने लगे. साल 1992 में नेताजी ने समाजवादी पार्टी का गठन किया, जिसका प्रतीक चिन्ह साइकल रखा और उसपर खूब सवारी की.

मुलायम सिंह यादव का राजनीतिक सफर (Mulayam Singh Yadav Political Career)

- 1967 से लेकर 1996 तक 8 बार विधायक
- 1982 से 87 तक विधान परिषद के सदस्य
- 1996 से अबतक 7 बार लोकसभा में पहुंचे
- पहली बार 1989 में UP के मुख्यमंत्री
- 1993-95 में दूसरी बार मुख्यमंत्री बने
- 2003-2007 में तीसरी बार मुख्यमंत्री
- 1996- देवगौडा सरकार में रक्षा मंत्री

कहते हैं मुलायम सिंह यादव ने प्रदेश की राजनीति में पिछड़े समाज की खूब राजनीति की, उत्तर प्रदेश में यादव समाज के सबसे बड़े नेता के रूप में मुलायम सिंह की पहचान हो गई. राम मंदिर आंदोलन के शुरुआती दिनों में वो मुस्लिमों के पसंदीदा नेता बन गए.

नेताजी तो अपनी जिंदगी के अंत तक सदन में अटल रहे. लेकिन साल 2012 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की बड़ी जीत के बाद उन्होंने अपनी विरासत को अपने बेटे अखिलेश यादव को सौंप दिया. अखिलेश के मुख्यमंत्री बनते परिवार और पार्टी में बड़ी बगावत देखने को मिली, कहीं भाई शिवपाल नाराज दिखे, तो कहीं उनके साथ काम करने वाले नेता. लेकिन अंत में समाजवादी पार्टी की कमान अखिलेश यादव संभाल रहे हैं.

अप नेक्स्ट

Mulayam Singh Yadav: पहलवान से नेताजी कैसे बने मुलायम सिंह यादव? लखनऊ की सड़कों पर दौड़ती थी साइकिल

Mulayam Singh Yadav: पहलवान से नेताजी कैसे बने मुलायम सिंह यादव? लखनऊ की सड़कों पर दौड़ती थी साइकिल

Gujarat assembly election: अमित शाह बोले- वोट बैंक की वजह से कांग्रेस ने कभी आतंकी हमलों की निंदा नहीं की

Gujarat assembly election: अमित शाह बोले- वोट बैंक की वजह से कांग्रेस ने कभी आतंकी हमलों की निंदा नहीं की

Baba Ramdev: 'साड़ी और सलवार' में फिर फंस गए रामदेव! देखती रह गई महिलाएं...देखें Video

Baba Ramdev: 'साड़ी और सलवार' में फिर फंस गए रामदेव! देखती रह गई महिलाएं...देखें Video

Bihar News: CM नीतीश ने किया बड़ा ऐलान, शराब का धंधा छोड़ने वाले को 1 लाख रुपये देगी सरकार

Bihar News: CM नीतीश ने किया बड़ा ऐलान, शराब का धंधा छोड़ने वाले को 1 लाख रुपये देगी सरकार

FIFA World Cup: फुटबॉल की दीवानगी गैर-इस्लामिक? केरल में मुस्लिम संगठन के फरमान के बाद विवाद

FIFA World Cup: फुटबॉल की दीवानगी गैर-इस्लामिक? केरल में मुस्लिम संगठन के फरमान के बाद विवाद

UP NEWS: मेरठ के शुगर मिल में लगी भीषण आग, चीफ इंजीनियर की मौत और कई झुलसे

UP NEWS: मेरठ के शुगर मिल में लगी भीषण आग, चीफ इंजीनियर की मौत और कई झुलसे

और वीडियो

Shraddha Murder Case: जंगल मे मिले अवशेष श्रद्धा के ही थे, पिता के DNA से हुआ नमूने का मिलान

Shraddha Murder Case: जंगल मे मिले अवशेष श्रद्धा के ही थे, पिता के DNA से हुआ नमूने का मिलान

Evening News Brief: जंगल में मिले अवशेष श्रद्धा के ही थे...सत्येन्द्र जैन को नहीं मिलेगा स्पेशल खाना

Evening News Brief: जंगल में मिले अवशेष श्रद्धा के ही थे...सत्येन्द्र जैन को नहीं मिलेगा स्पेशल खाना

Rajasthan News: खत्म हो गया Ambulance का डीजल, धक्का मारते-मारते मरीज की मौत...Video वायरल

Rajasthan News: खत्म हो गया Ambulance का डीजल, धक्का मारते-मारते मरीज की मौत...Video वायरल

Gujarat: CM योगी ने केजरीवाल को बताया 'आतंकवाद का हितैषी', AAP बोली- गुंडागर्दी चाहिए तो इनको वोट दें

Gujarat: CM योगी ने केजरीवाल को बताया 'आतंकवाद का हितैषी', AAP बोली- गुंडागर्दी चाहिए तो इनको वोट दें

UP NEWS:  कलयुगी बेटे ने मां को पटक-पटककर पीटा, वायरल हुआ Video

UP NEWS: कलयुगी बेटे ने मां को पटक-पटककर पीटा, वायरल हुआ Video

Shraddha Murder Case: आफताब के फ्लैट पर आने वाली लड़की की पहचान, दिल्ली पुलिस ने की पूछताछ

Shraddha Murder Case: आफताब के फ्लैट पर आने वाली लड़की की पहचान, दिल्ली पुलिस ने की पूछताछ

ISRO PSLV-C54 Launch : अंतरिक्ष में ISRO की नई उड़ान, भूटान के सैटेलाइट के साथ नौ उपग्रह किए लॉन्च

ISRO PSLV-C54 Launch : अंतरिक्ष में ISRO की नई उड़ान, भूटान के सैटेलाइट के साथ नौ उपग्रह किए लॉन्च

Gujarat election: गुजरात में बीजेपी देगी कांग्रेस से दोगुनी नौकरी, नड्डा ने जारी किया घोषणा पत्र

Gujarat election: गुजरात में बीजेपी देगी कांग्रेस से दोगुनी नौकरी, नड्डा ने जारी किया घोषणा पत्र

Delhi news : कांग्रेस नेता ने की SI के साथ गाली-गलौज और बदसलूकी, हुए गिरफ्तार

Delhi news : कांग्रेस नेता ने की SI के साथ गाली-गलौज और बदसलूकी, हुए गिरफ्तार

26/11 Mumbai Attack: मुंबई हमले की 14वीं बरसी आज, भुलाई नहीं जा सकती आतंकियों की कायराना हरकत

26/11 Mumbai Attack: मुंबई हमले की 14वीं बरसी आज, भुलाई नहीं जा सकती आतंकियों की कायराना हरकत

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.