हाइलाइट्स

  • PK-कांग्रेस के बीच फिर नहीं बनी बात
  • प्रशांत किशोर चाहते हैं फ्री हैंड
  • कांग्रेस बारी-बारी से चाहती है बदलाव
  • भरोसे की कमी भी बनी बड़ी वजह

लेटेस्ट खबर

Hyderabad Vs Bhagyanagar: भाग्यनगर कैसे बन गया हैदराबाद? सुलतान का इश्क या हीरों का कारोबार, क्या है वजह!

Hyderabad Vs Bhagyanagar: भाग्यनगर कैसे बन गया हैदराबाद? सुलतान का इश्क या हीरों का कारोबार, क्या है वजह!

Shah Rukh Khan की फिल्म 'Jawan' में नजर आएंगे Vijay Sethupathi, एक्टर निभाएंगे विलेन का किरदार?

Shah Rukh Khan की फिल्म 'Jawan' में नजर आएंगे Vijay Sethupathi, एक्टर निभाएंगे विलेन का किरदार?

Evening News Brief: कश्मीर में आतंकियों का Live सरेंडर, Wagon R ने सबको पीछे छोड़ा... 10 बड़ी खबरें

Evening News Brief: कश्मीर में आतंकियों का Live सरेंडर, Wagon R ने सबको पीछे छोड़ा... 10 बड़ी खबरें

Weather Report: इन राज्यों में भारी बारिश का रेड अलर्ट, अगले 4 दिनों तक भयंकर बारिश की चेतावनी

Weather Report: इन राज्यों में भारी बारिश का रेड अलर्ट, अगले 4 दिनों तक भयंकर बारिश की चेतावनी

Sawan Somvar Vrat 2022: जानिये सावन में सोमवार के व्रत का विशेष महत्त्व और तरीका

Sawan Somvar Vrat 2022: जानिये सावन में सोमवार के व्रत का विशेष महत्त्व और तरीका

Prashant Kishor-Congress Deal: 15 दिन, दर्जनों बैठक फिर भी नहीं बनी बात...एक क्लिक में देखें सभी थ्योरी

PK-Congress Deal: पिछले 15 दिनों की अटकलों पर प्रशांत किशोर ने खुद ही विराम लगाते हुए कहा कि कांग्रेस को मेरी नहीं, अच्छी लीडरशिप की जरूरत है.

Prashant Kishor-Congress Deal: चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) और कांग्रेस (Congress) का गठबंधन एक बार फिर से नहीं हो पाया. पिछले 15 दिनों से चल रही अटकलों पर प्रशांत किशोर ने खुद ही विराम लगाते हुए कहा कि कांग्रेस को मेरी नहीं, अच्छी लीडरशिप और बड़े पैमाने पर बदलाव की जरूरत है.

सवाल उठता है कि कई दौर की बैठकों, 600 पेज के प्रेजेंटेशन के बाद भी प्रशांत किशोर और कांग्रेस की बात क्यों नहीं बनी?

मीडिया रिपोर्ट्स में प्रशांत किशोर और कांग्रेस के बीच गठबंधन नहीं होने को लेकर कई थ्योरी चल रही है.

पहली थ्योरी

एक रिपोर्ट्स के मुताबिक कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 'एम्पावर्ड एक्शन ग्रुप 2024' बनाया है. यह ग्रुप रणनीति तैयार करने के लिए बनाई गई है. कांग्रेस ने पीके को इसी ग्रुप में शामिल होने का न्योता दिया था. लेकिन वह वरिष्ठ नेताओं के साथ खुद के लिए अधिक स्वतंत्रता ढूंढ़ रहे थे. कांग्रेस उन्हें सभी वरिष्ठों के साथ मिलकर काम करवाना चाह रही थी. जबकि पीके पार्टी को लेकर सभी बड़े फैसले ख़ुद करना चाह रहे थे. लिहाज़ा बात नहीं बनी.

दूसरी थ्योरी

दूसरी रिपोर्ट्स के मुताबिक पीके ने प्रियंका गांधी वाड्रा को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का सुझाव दिया था. जबकि पार्टी राहुल गांधी को फिर से अध्यक्ष बनाना चाहती है. प्रशांत किशोर चाहते थे कि पीएम कैंडिडेट और पार्टी अध्यक्ष दो अलग-अलग शख्स हों. इस मुद्दे पर भी दोनों की बात नहीं बनी.

तीसरी थ्योरी

तीसरी रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रशांत किशोर का मानना था कि कांग्रेस- बिहार, महाराष्ट्र और जम्मू-कश्मीर जैसे अहम राज्यों मेंअपने पुराने सहयोगियों को छोड़ दें और पूरी तरह कांग्रेस के लिए समर्पित हो जाएं. PK ने सुझाव दिया था कि कांग्रेस, ममता बनर्जी की TMC और केसीआर की TRS जैसी रीजनल पार्टीज से गठबंधन कर ले. जबकि कांग्रेस पुराने सहयोगियों को साथ लेकर चलना चाहती है.

और पढ़ें- Bulldozer In Delhi: दिल्ली के 5 इलाकों में चला बुलडोजर...अब शाहीन बाग की बारी !

चौथी थ्योरी

चौथी रिपोर्ट्स के मुताबिक जिस एम्पावर्ड एक्शन ग्रुप की बात सुरजेवाला कर रहे हैं, प्रशांत किशोर को इस ही ग्रुप का सदस्य बनने का ऑफर मिला था जो उन्होंने ठुकरा दिया. सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस नेतृत्व के साथ प्रशांत किशोर की किसी बड़े पद को लेकर बात चल रही थी इसीलिए महज एक कमिटी का सदस्य बनाए जाने का प्रस्ताव पीके को रास नहीं आया.

पांचवी थ्योरी

पांचवीं रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रशांत किशोर ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चन्द्रशेखर राव से से मुलाकात की थी और उनकी फर्म IPAC ने पहले ही राव की पार्टी TRS के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन कर लिया था. पहले ही पीके के सुझावों से असहज कांग्रेस को उनका राव से मिलना और टीआरएस के साथ उनकी डील रास नहीं आई और एक बार फिर पीके कांग्रेसी होते-होते रह गए.

और पढ़ें- PM Modi की राह पर बढ़ रहे हैं CM Arvind Kejriwal, ऐसा क्यों कह रहे हैं लोग?

हालांकि ज्यादातर थ्योरी के मुताबिक कांग्रेस, किसी बाहरी व्यक्ति को अपनी कमान पूरी तरह से नहीं देना चाहती थी. वहीं प्रशांत किशोर अपने हाथ बांध कर काम नहीं करना चाहते थे. 45 साल के प्रशांत किशोर त्वरित बदलाव चाहते थे, जबकि पार्टी नेतृत्व, चरणबद्ध तरीके से बदलाव चाहती थी.

पिछले साल भी वार्ता असफल होने के बाद प्रशांत किशोर ने कहा था कि वह पार्टी का बड़ा भरोसा जीतने में विफल रहे. एक इंटरव्यू के दौरान पीके ने कहा था कि कई लोगों को लगता है कि प्रशांत किशोर और कांग्रेस को स्वाभाविक तौर पर एक साथ आकर काम करना चाहिए. लेकिन इसके लिए दोनों पक्षों को भरोसे का बड़ा कदम लेना होगा. यह कांग्रेस के भीतर नहीं हो पाया.

उन्होंने एक पुराना अनुभव शेयर करते हुए कहा था, मेरा यूपी में उनके साथ काम करने का बुरा अनुभव है. लिहाजा मैं बेहद सशंकित था. मैं नहीं चाहता था कि हाथ बांधते हुए मैं इसमें शामिल होऊं... कांग्रेस नेतृत्व, मेरी पृष्ठभूमि के कारण, मैं उनके प्रति 100 फीसदी वफादार रहूंगा, इसको लेकर उनका सशंकित होना गलत भी नहीं था. लेकिन वो एक बात को लेकर निश्चिंत थे कि बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस में व्यापक बदलाव जरूरी हैं.

एक नजर डालते हैं कि पीके की तरफ से प्रेजेंटेशन में क्या कहा गया था?

पीके ने प्रेजेंटेशन में क्या कहा था?

  • कांग्रेस पूरे देश में सिर्फ अकेले चुनाव लड़े
  • कांग्रेस सभी पार्टियों के साथ आए और UPA को मजबूत करे
  • कुछ जगहों पर कांग्रेस अकेले चुनाव लड़े
  • कुछ जगहों पर सहयोगियों के साथ मिलकर
  • बताए सुझावों पर 10 दिनों के अंदर काम शुरू हो
  • कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति हो
  • महासचिव प्रियंका गांधी का पार्टी में रोल तय हो
  • संसदीय बोर्ड का पुनर्गठन किया जाए

विवाद की वजह

यानी कि कांग्रेस को आगे की राह अब खुद ही चलनी होगी. अगर प्रशांत किशोर की सलाह मानें तो समस्याओं को ठीक करने के लिए, कांग्रेस को लीडरशिप और मजबूत इच्छाशक्ति की जरूरत होगी. अच्छी बात यह है कि इस बार कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को भरोसे में लिया और उनकी सलाह पर आगे बढी हैं. इतना ही नहीं यह भी तय किया गया है कि भावी चुनावों में पार्टी की जीत और हार ही वरिष्ठ नेताओं की जवाबदेही तय करने का मानक होगा.

अप नेक्स्ट

Prashant Kishor-Congress Deal: 15 दिन, दर्जनों बैठक फिर भी नहीं बनी बात...एक क्लिक में देखें सभी थ्योरी

Prashant Kishor-Congress Deal: 15 दिन, दर्जनों बैठक फिर भी नहीं बनी बात...एक क्लिक में देखें सभी थ्योरी

Evening News Brief: कश्मीर में आतंकियों का Live सरेंडर, Wagon R ने सबको पीछे छोड़ा... 10 बड़ी खबरें

Evening News Brief: कश्मीर में आतंकियों का Live सरेंडर, Wagon R ने सबको पीछे छोड़ा... 10 बड़ी खबरें

Weather Report: इन राज्यों में भारी बारिश का रेड अलर्ट, अगले 4 दिनों तक भयंकर बारिश की चेतावनी

Weather Report: इन राज्यों में भारी बारिश का रेड अलर्ट, अगले 4 दिनों तक भयंकर बारिश की चेतावनी

Delhi Shopping Festival: दिल्ली में एक महीने के शॉपिंग फेस्टिवल ऐलान, मिलेगा भारी डिस्काउंट

Delhi Shopping Festival: दिल्ली में एक महीने के शॉपिंग फेस्टिवल ऐलान, मिलेगा भारी डिस्काउंट

Compulsory Retirement: योगी सरकार 50 पार भ्रष्‍ट अफसरों को करेगी जबरिया रिटायर, जानें क्या है तैयारी

Compulsory Retirement: योगी सरकार 50 पार भ्रष्‍ट अफसरों को करेगी जबरिया रिटायर, जानें क्या है तैयारी

Mukhtar Abbas Naqvi Resigns: नकवी का केंद्रीय कैबिनेट से इस्तीफा, उपराष्ट्रपति चुनाव में उतरने की चर्चा

Mukhtar Abbas Naqvi Resigns: नकवी का केंद्रीय कैबिनेट से इस्तीफा, उपराष्ट्रपति चुनाव में उतरने की चर्चा

और वीडियो

Lalu Prasad Yadav Health Update: लालू को एयर एंबुलेंस से दिल्ली लाने की तैयारी, हॉस्पिटल पहुंचे CM नीतीश

Lalu Prasad Yadav Health Update: लालू को एयर एंबुलेंस से दिल्ली लाने की तैयारी, हॉस्पिटल पहुंचे CM नीतीश

Amarnath Yatra: उबड़ खाबड़ जमीन पर हेलिकॉप्टर की खौफनाक लैंडिंग, DGCA ने लिया ऐक्शन

Amarnath Yatra: उबड़ खाबड़ जमीन पर हेलिकॉप्टर की खौफनाक लैंडिंग, DGCA ने लिया ऐक्शन

Social Media Policy: Twitter ने दी भारत सरकार को चुनौती, कंटेंट हटाने के आदेश के खिलाफ पहुंचा हाईकोर्ट 

Social Media Policy: Twitter ने दी भारत सरकार को चुनौती, कंटेंट हटाने के आदेश के खिलाफ पहुंचा हाईकोर्ट 

Maharashtra: शिंदे के स्वागत में झूम उठीं पत्नी लता, खूब बजाया ड्रम

Maharashtra: शिंदे के स्वागत में झूम उठीं पत्नी लता, खूब बजाया ड्रम

CM Bhagwant Mann Wedding: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान की कल शादी, डॉ. गुरप्रीत कौर से रचाएंगे शादी

CM Bhagwant Mann Wedding: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान की कल शादी, डॉ. गुरप्रीत कौर से रचाएंगे शादी

Kaali Poster Controversy: TMC की बेरुखी से नाराज महुआ मोइत्रा, Twitter पर किया अनफॉलो

Kaali Poster Controversy: TMC की बेरुखी से नाराज महुआ मोइत्रा, Twitter पर किया अनफॉलो

Nashik Murder: नासिक में मुस्लिम धर्मगुरु की गोली मारकर हत्या, 'सूफी बाबा' के नाम से थे मशहूर

Nashik Murder: नासिक में मुस्लिम धर्मगुरु की गोली मारकर हत्या, 'सूफी बाबा' के नाम से थे मशहूर

Maharashtra CM Eknath Shinde ने दिया उद्धव ठाकरे को करारा जवाब, कहा उधार की सरकार नहीं ,आम लोगों की सरकार

Maharashtra CM Eknath Shinde ने दिया उद्धव ठाकरे को करारा जवाब, कहा उधार की सरकार नहीं ,आम लोगों की सरकार

Vice President Election 2022 : कौन बनेगा नया उपराष्ट्रपति? NDA की ओर से इन चार नामों की चर्चा तेज

Vice President Election 2022 : कौन बनेगा नया उपराष्ट्रपति? NDA की ओर से इन चार नामों की चर्चा तेज

Kerala politics: केरल सरकार में मंत्री का विवादित बयान, संविधान को बताया लूट को बढ़ावा देने वाला

Kerala politics: केरल सरकार में मंत्री का विवादित बयान, संविधान को बताया लूट को बढ़ावा देने वाला

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.