Markets open higher, midcaps surge | Editorji
  1. home
  2. > business
  3. > Markets open higher, midcaps surge
prev icon/Assets/images/svg/play_white.svgnext button of playermute button of playermaximize icon
mute icontap to unmute
video play icon
00:00/00:00
prev iconplay paus iconnext iconmute iconmaximize icon
close_white icon

अलविदा बालासुब्रह्मण्यम !

Sep 25, 2020 17:49 IST

मखमली आवाज के मालिक  एसपी बालासुब्रह्मण्यम अब हमारे बीच नहीं रहे. पर उनके गीतों ने उन्हें अमर बना दिया है .रूप सुहाना लगता है,दिल दीवाना, मेरे रंग में रंगने वाली, पहला पहला प्यार जैसे गीत आज भी लोगों को खूब भाते हैं. इंडस्ट्री में से प्यार से 'एसपीबी' कहे जाने वाले मशहूर गायक बाला सुब्रह्मण्यम का जन्म आंध्रप्रदेश के एक तेलुगू ब्राह्मण परिवार में हुआ था. उन्होंने बचपन में गायन को एक शौक के रूप में अपनाया था. हारमोनियम और बांसुरी में महारथ उन्हें बचपन में ही मिल गई थी. एसपीबी की जिंदगी में बड़ा मोड़ आया 1964 में जब उन्होंने एक संगीत प्रतियोगिता जीती थी, जिसके बाद संगीत निर्देशक एसपी कोडंदापानी की छत्रछाया में आये और संगीत की दुनिया में छा गए. एसपीबी ने इलैयाराजा के बैंड में बतौर गिटारिस्ट और हारमोनियम प्लेयर काम भी किया है.

 अपने 40 सालों के करियर में उन्होंने तेलुगू, तमिल, कन्नड़, हिंदी और मलयालम समेत 5 भारतीय भाषाओं में 40,000 से अधिक गाने रिकॉर्ड किए.  एसपीबी ने रजनीकांत, कमल हासन, सलमान खान, भाग्यराज, मोहन, गिरीश कर्नाड, मिथुन गणेश, नागेश, कार्तिक, रघुवरन, विनोद कुमार जैसे कई कलाकारों के लिए गाने गाए. क्या आप जानते हैं कि एसपीब के पास दो गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड भी हैं. एक रिकॉर्ड उन्हें सबसे ज्यादा गाने गाने के लिए तो दो दूसरा सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक संगीतकार उपेंद्र कुमार के लिए 21 गाने रिकॉर्ड करने के लिए मिला.   6 राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुके बालसुब्रह्मण्यम को  2001 में पद्म श्री और 2011 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था. 

Business