How Tendulkar's idea helped India win 2011 World Cup

  1. home
  2. > cricket
  3. > How Tendulkar's idea helped India win 2011 World Cup
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

भारत में कोरोना: 100 केस पहुंचने में लगे 45 दिन, 1 लाख केस में महज 111

May 19, 2020 20:05 IST

30 जनवरी, 2020 भारत में कोरोना वायरस की एंट्री... केरल का एक छात्र जो वुहान के एक विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर रहा था. जब छात्र छुट्टी बिताने अपने घर केरल के त्रिशूर आया तो उसमें कोरोना के लक्षण मिले. जांच में पता चला कि वो कोरोना से संक्रमित है. 19 मई, 2020 लगभग साढ़े तीन महीने के बाद भारत में 1 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. हम कैसे साढ़े तीन महीनों में ही यहां तक पहुंचे? ((GFX VO)) भारत में शुरुआती 100 केस पहुंचने में 45 दिन का समय लगा था. वहीं 100 से 1000 केस पहुंचने में महज 14 दिनों का वक्त लगा. अगले 16 दिनों में भारत का नंबर 10,000 तक चला गया और फिर देश में कोविड 19 की संख्या 20,000 को पार करने में सिर्फ 8 दिन लगे. अगले 10,000 मामलों में 7 दिन लगे और उसके चार दिनों बाद ही कोरोना संक्रमितों की संख्या 40 हजार पहुंच गई. उसके बाद भारत में 40 से 50 हजार कोरोना के केस पहुंचने में सिर्फ 3 दिन लगे. उसके बाद अगले 7 दिनों में भारत में 25 हजार नए केस सामने आए, जिससे भारत की टैली 75 हजार तक पहुंच गई. और आखिर के 6 दिनों में भारत में कोरोना की रफ्तार बेहद तेज रही और ये आंकड़ा एक लाख के पार पहुंच गया. HEADER एक लाख केस पहुंचने का सफर 1-100 -- 45 दिन 100-1000 -- 14 दिन 1000-10,000 -- 16 दिन 10,000-20,000 -- 8 दिन 20,000 - 30,000 - 7 दिन 30,000-40,000 -- 4 दिन 40,000 - 50,000 --- 3 दिन 50,000 to 75,000: 7 दिन 75,000 to 1,00,000: 6 दिन ((GFX OUT)) आखिर के कुछ दिन भारत में कोरोना संक्रमण की रफ्तार बेहद तेज रही. देशभर में हर रोज हर 24 घंटे में 5 हजार कोरोना के नए मामले सामने आते रहे. आज भारत कोरोना संक्रमण के मामले में दुनियाभर में 11वें नंबर पर आ खड़ा है. संक्रमण के मामले में भारत चीन को भी पीछे छोड़ चुका है. भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. लेकिन राहत भरी खबर ये है कि भारत में रिकवरी रेट सुधर कर 38.73 प्रतिशत पर पहुंच गया है. साथ ही मरने वालों का आंकड़ा सिर्फ 3 फीसदी है. अब तक करीब 40 हजार लोग रिकवर हो कर घर लौट चुके हैं. HEADER भारत में कोरोना संक्रमण 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत मरने वालों का आंकड़ा- 3 फीसदी अब तक 40 हजार से ज्यादा लोग ठीक हुए रिकवरी रेट सुधर कर 38.73% पहुंचा ((GFX IN)) Show on Map देशभर में महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु, दिल्ली, राजस्थान और मध्य प्रदेश सबसे प्रभावित राज्यों में शामिल हैं. ((GFX)) भारत में कोरोना वायरस की शुरूआत तो शहरों से हुई. लेकिन आज देशभर के 736 जिलों में से 550 जिलों में कोरोना वायरस ने अपनी दस्तक दे दी है. आखिर के 15 दिनों में देशभर के 170 जिलों में कोरोना ने अपना कदम रखा है. GFX IN HEADER देशभर में फैला कोरोना संक्रमण देशभर के कुल 736 जिलों में से 550 जिले कोरोना से प्रभावित आखिर के 15 दिनों में 180 जिलों तक पहुंचा कोरोना संक्रमण ((Show on Map)) पिछले 1 मई से बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, मध्य प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए. बताया गया कि प्रवासी मजदूरों के अपने घर लौटने के बाद ये नंबर बढ़े हैं. और शुरू शुरू में कोरोना के केस अमूमन शहरों में देखने को मिलते थे. लेकिन मजदूरों की घर वापसी के बाद गांवों तक कोरोना संक्रमण पहुंचा है. अब भारत में 18 मई से लॉकडाउन का चौथा चरण लागू हो गया है. 24 मार्च से देशभर में हुए लॉकडाउन से भारत की अर्थव्यवस्था की हालत खराब है, क्योंकि लोग अपने अपने घरों में बंद हैं. ((GFX)) इंटरनेशनल मैनेजमेंट कंसल्टेंसी कंपनी आर्थर डी लिटिल ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया है कि लॉकडाउन की वजह से भारत में 13.5 करोड़ नौकरियां जा सकती हैं. साथ ही रिपोर्ट में ये भी दावा किया गया है कि भारत में आने वाले दिनों में गरीबी अपने चरम पर होगी, जिससे भारत की जीडीपी में भी भारी गिरावट आएगी. HEADER लॉकडाउन का नुकसान भारत में जा सकती हैं 13.5 करोड़ लोगों की नौकरियां भारत में आने वाले दिनों में गरीबी अपने चरम पर होगी -- Source:Arthur D Little Study हैरान कर देने वाली बात ये है कि दुनियाभर के कई एक्सपर्ट का कहना है कि भारत में कोरोना वायरस का पीक टाइम जुलाई से अगस्त के बीच में आ सकता है.