Golden opportunity for fringe Team India cricketers | Editorji
  1. home
  2. > sports
  3. > Golden opportunity for fringe Team India cricketers
prev iconnext button of playermute button of playermaximize icon
mute icontap to unmute
video play icon
00:00/00:00
prev iconplay paus iconnext iconmute iconmaximize icon
close_white icon

भूल जाइए पेन ड्राइव, यूएसबी स्टिक और हार्ड ड्राइव क्योंकि अब DNA मे स्टोर होगा आपका डिजिटल डेटा!

Apr 16, 2021 20:17 IST | By Editorji News Desk

Digital data into DNA: न्यू मैक्सिको की लॉस अलामोस नेशनल लैबोरेट्री (Los Alamos National Laboratory - LANL)) के रिसर्चर्स ने एक कोडेक्स विकसित किया है जो 1 ग्राम डीएनए में 2 करोड़ 15 लाख GB डिजिटल डेटा स्टोर कर सकते हैं. शोधकर्ताओं ने हमारे डिजिटल डेटा को कम से कम त्रुटियों के Four-Letter Genetic Alphabet में बदलने की नई तकनीक विकसित की है जिसके तहत अब डीएनए में डिजिटल डेटा स्टोर किया जा सकेगा. बता दें कि जिन डीएनए में डेटा सेव होगा वो सिंथेटिक डीएनए होंगे. यानी हमसे जुड़ी जानकारी हजारों साल तक सिंथेटिक डीएनए के रूप में संग्रहित रहेगी.

एक ग्राम डीएनए में 215 पेटाबाइट्स डेटा (2.15 करोड़ जीबी) संग्रहण की क्षमता होती है. इस तकनीक की मदद से डेटा स्टोरेज करने के लिए लाखों-करोड़ों कम्प्यूटर, मैग्नेटिक टेप, ऑनलाइन सर्वर और क्लाउड स्टोरेज की जरुरत नहीं पड़ेगी. डीएनए के एक अणु में हम अपने एक साल के बराबर का डेटा हजारों सालों के लिए सिंथेटिक डीएनए के रूप में संग्रहीत कर सकेंगे. इससे पृथ्वी पर मौजूद हर चीज की जानकारी स्टोर की जा सकेगी.

 

Sports