World Heart Day 2019: खामोशी से जान लेता है साइलेंट हार्ट अटैक | Editorji Hindi
  1. home
  2. > लाइफ़स्टाइल
  3. > World Heart Day 2019: खामोशी से जान लेता है साइलेंट हार्ट अटैक
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

World Heart Day 2019: खामोशी से जान लेता है साइलेंट हार्ट अटैक

Sep 28, 2019 18:31 IST

दुनिया में लाखों लोग ऐसे हैं जो दिल की बीमारियों से जूझ रहे हैं... भारत में दिल की बीमारी से होने वाली मौतों की संख्या चिंता का विषय है..यहां हर पांचवां इंसान दिल का मरीज है। हर साल 29 अक्टूबर को वर्ल्ड हार्ट डे मनाया जाता है। इस दिन का मनाने का मुख्य उद्देश्य है दिल की सेहत को लेकर लोगों का जागरुक करना ताकि वो रख सकें दिल का ख्याल, वर्ल्ड हार्ट डे पर इस बार की थीम (MY Heart, Your Heart) है
जरूरी नहीं कि हर दिल के दौरे किसी वॉर्निंग साइन यानि चेतावनी के साथ आए। हार्ट अटैक के करीब आधे मामले 'साइलेंट' होते हैं जो कि मौत के रिस्क को बढ़ाते हैं। वर्ल्ड हार्ट डे पर आइये समझते हैं कि आखिर कैसे खतरनाक है ये 'साइलेंट हार्ट अटैक'
(GFX--क्या है और कितना खतरनाक ?)
साइलेंट हार्ट अटैक के पहले से लक्षण नहीं दिखते हैं, अक्सर इनडाइजेशन, बुखार, मांसपेशियों में दर्द को नज़रअंदाज कर देते हैं
(GFX--बदहज़मी, बुखार, मांसपेशियों में दर्द को न करें नज़रअंदाज)
ये अटैक दिल पर इतना दबाव बनाता है कि लोग इसे झेल नहीं पाते..हालांकि साइलेंट हार्ट अटैक भी संकेत देता है जिनपर ध्यान देकर आप समय पर अपना इलाज करा सकते हैं।
GFX--
Header- साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण
पैरों में सूजन
बहुत ज्यादा थकावट महसूस होना
अकसर बेचैनी और सीने में दर्द रहना
अचानक से सांस लेने में तकलीफ होना
बहुत पसीना और चक्कर आना
जबड़े और गर्दन में दर्द होना

हालांकि ये लक्षण हार्ट अटैक की इंटेंसिटी को नहीं बताते..फिर भी, इन लक्षणों के देखकर हमें सावधान रहने की जरूरत है और जरूरी है कि इसके साथ साथ लाइफस्टाइल में भी बदलाव करें...क्योंकि अगर आपका दिल स्वस्थ तो आप भी स्वस्थ

लाइफ़स्टाइल