What will be closed and open on 8 December? Know here | Editorji Hindi
  1. home
  2. > ख़बर को समझें
  3. > 8 दिसंबर भारत बंद: जानें क्या बंद रहेगा और क्या खुलेगा ?
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

8 दिसंबर भारत बंद: जानें क्या बंद रहेगा और क्या खुलेगा ?

Dec 07, 2020 21:31 IST

तारीख-8 दिसंबर 2020, दिन-मंगलवार... कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों का भारत बंद. किसानों के इस बंद को सभी विपक्षी दलों और ट्रेड यूनियनों का भी सपोर्ट हासिल है. इसलिए मंगलवार को घर से ना ही निकलें तो बेहतर है. 

किसानों का भारत बंद- क्या हो सकती है परेशानी ?

टैक्सी-ऑटो मिलने में हो सकती है परेशानी 
दूध, फल, सब्जी की हो सकती है दिक्कत 
कई पेट्रोल पंप भी मंगलवार को रहेंगे बंद  
ट्रांसपोर्टेशन में हो सकती है दिक्कत 
दुकानें और कारोबार बंद रहेंगे 
हरियाणा, पंजाब और राजस्थान में सभी मंडियां बंद 
किसान यूनियनों ने शांतिपूर्ण विरोध की कही बात 

भारत बंद - किसे राहत, क्या खुलेगा?

एंबुलेंस और इमरजेंसी सर्विस 
अस्पताल, क्लिनिक खुले रहेंगे
शादी के कार्यक्रमों को छूट 
मुंबई में सरकारी बस सेवा चालू रहेगी
मुंबई में टैक्सी और ऑटो भी चालू रहेंगे
गुजरात समेत कई भाजपा राज्यों ने कहा बंद का नहीं होगा असर  

बंद को किन पॉलिटिकल पार्टियों का समर्थन ?
1.कांग्रेस
2.माकपा
3.डीएमके
4.सीपीआई
5.राजद
6. एनसीपी
7.जेएमएम
8.सपा
9. शिवसेना
10.अकाली दल
11.भाकपा-माले
12. गुपकार गठबंधन
13.टीएमसी
14.टीआरएस
15.एआईएमआईएम
16. आम आदमी पार्टी
17. पीडब्ल्यूपी
18. बीवीए
19. आरएसपी
20. एफबी
21. एसयूसीआई (सी)
22. स्वराज इंडिया
23.जेडीएस
24. बसपा

बंद को पॉलिटिकल पार्टियों के अलावा किन साथ मिला है अब वो भी जान लीजिए.

बंद को किसका साथ ?

हरियाणा-पंजाब के अलावा यूपी, दिल्ली, ओडिशा, उत्तराखंड, प. बंगाल, एमपी, राजस्थान और तमिलनाडु के किसानों का भी समर्थन 
दिल्ली गुड्स ट्रांसपोर्ट्स एसोसिएशन का भी समर्थन
दिल्ली टैक्सी टूरिस्ट ट्रांसपोर्टर्स एसोसिएशन का भी सपोर्ट
कई टैक्सी संगठनों ने भी बंद को सपोर्ट करने का फैसला लिया 

अब आप ये भी जान लीजिए कि आखिर-


किन कानूनों का विरोध कर रहे हैं किसान ?
किसान संगठन कृषक (सशक्तीकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा करार अधिनियम 2020,
कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) अधिनियम 2020
और आवश्यक वस्तु संशोधन अधिनियम 2020 का विरोध कर रहे हैं.

इन कानूनों को लेकर सरकार का दावा है कि ये किसानों की जिंदगी संवारने वाले हैं लेकिन कई किसान इन कानूनों को बर्बाद करने वाला बता रहे हैं.

 

ख़बर को समझें