1. home
  2. > एडिटरजी स्पेशल
  3. > राफ़ेल पर सवाल-जवाब
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

राफ़ेल पर सवाल-जवाब

Jul 30, 2020 00:34 IST

आसमान का सिकंदर कहे जाने वाले राफेल फाइटर जेट ने भारत में गृहप्रवेश कर लिया है. इसमें कोई संदेह नहीं कि राफ़ेल के आने से भारतीय वायुसेना की ताकत में बेहद इजाफा होगा...भारत से पहले फ्रांस ये विमान मिस्त्र, कतर, ब्राजील, लीबिया, मोरक्को और स्विट्जरलैंड को भी बेच चुका है...लेकिन इसे लेकर तमाम सवाल-जवाब का सिलसिला अब भी जारी है...आइए नज़र डालते हैं इसी विवाद पर सवाल- क्या वायुसेना की जरुरत पूरी होगी? जवाब- नहीं, एयरफोर्स को कम से कम 42 लडा़कू स्क्वाड्रंस की जरूरत है सवाल- कितने विमान खरीदने की पहली बार बात हुई? जवाब- सबसे पहले वाजपेयी सरकार ने 126 राफ़ेल खरीदने का प्रस्ताव रखा यूपीए सरकार ने 126 एयरक्राफ्ट खरीदने को अगस्त 2007 में मंजूरी दी सवाल- यूपीए सरकार में सौदा परवान क्यों नहीं चढ़ा? जवाब- तकनीक ट्रांसफर के मामले में दोनों पक्षों में गतिरोध दसॉ एविएशन को भारत में बनने वाले विमानों की गुणवत्ता पर भरोसा नहीं था उसका कहना था कि इतने विमान के उत्पादन में 3 करोड़ मानव घंटे की जरूरत HAL ने कहा- 9 करोड़ घंटे लगेंगे, दसॉ ने कहा- लागत कई गुना बढ़ जाएगी सवाल- क्या थी यूपीए सरकार की डील? जवाब- 126 में से 18 विमान तैयार मिलेंगे बाकी 108 विमान भारत में ही HAL तैयार करेगा यूपीए 126 विमानों के लिए 54,000 करोड़ रुपये दे रही थी सवाल- क्या है मोदी सरकार की डील? जवाब- मोदी सरकार सिर्फ 36 विमानों के लिए 58,000 करोड़ दे रही है एक विमान की कीमत 1611 करोड़ रु. के आसपास यूपीए सरकार 458 करोड़ में ही खरीद रही थी एक विमान NDA सरकार का दावा- उसने डील में 12,600 करोड़ रु.बचाए मिस्र और कतर के मुकाबले भारत को 25% की छूट दी: फ्रांस

एडिटरजी स्पेशल