1. home
  2. > भारत
  3. > उन्नाव पीड़िता की आखिरी ख्वाहिश...जिंदा ना रहें दरिंदे
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

उन्नाव पीड़िता की आखिरी ख्वाहिश...जिंदा ना रहें दरिंदे

Dec 07, 2019 09:10 IST

मैं जीना चाहती हूं. ये आखिरी कुछ शब्द उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने अंतिम सांस लेने से पहले अपने भाई से कहे थे. वेंटिलेटर पर जाने से पहले भी पीड़िता डॉक्टरों से बमुश्किल यही पूछ पाई थी कि मैं बच जाऊंगी या नहीं. जीने की चाह के साथ ही पीड़िता की आखिरी ख्वाहिश थी कि उसके गुनहगारों को कड़ी से कड़ी सजा मिले. आखिरी समय में पीड़िता ने भावुक अपील की थी कि मेरी ये हालत करने वाला कोई जिंदा ना रहे. गुरुवार को उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने की इस वारदात से पूरा देश शर्मसार है और गुनहगारों को फांसी देने की मांग हो रही है.

भारत