नीलगिरी के पत्तों में छिपा है सांस की तकलीफ और जुकाम, जानें इसके और भी फायदे - सांस की तकलीफ़ से हैं परेशान, नीलगिरी के पत्ते करेंगे कमाल | Editorji Hindi
  1. home
  2. > लाइफ़स्टाइल
  3. > सांस की तकलीफ़ से हैं परेशान, नीलगिरी के पत्ते करेंगे कमाल
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

सांस की तकलीफ़ से हैं परेशान, नीलगिरी के पत्ते करेंगे कमाल

Mar 03, 2021 15:23 IST | By Editorji News Desk

Eucalyptus यानी नीलगिरी के पौधे खास तौर से ऑस्ट्रेलिया, तस्मानिया और भारत के कुछ हिस्सों में पाए जाते हैं. इसकी पत्तियों में कुदरती केमिकल्स होते हैं जो कई बीमारियों को ठीक करने में अहम रोल निभाते हैं. अगर आपको सांस से जुड़ी कोई तकलीफ है तो आपके लिए नीलगिरी के पत्ते और उसका तेल किसी रामबाण से कम नहीं. नीलगिरी के पत्तों और तेल में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो सांस की नली से बैक्टीरिया को नष्ट करने में मददगार हैं. यूकेलिप्टस की चाय पीने के लिए आप इसकी पत्तियों का इस्तेमाल करें. अगर आपके गले में कफ या भारीपन महसूस हो रहा हो तो आप इसके गरारे भी कर सकते हैं। यूकेलिप्टस से गरारे करने से आप बंद नाक, कफ और बलगम से छुटकारा पा सकते हैं. इसके लिए आप गुनगुने पानी के साथ इसकी पत्तियों को डाल लें और गरारे करें. नीलगिरी में मौजूद एंटी बैक्टीरियल गुण माउथवॉश और दांतों को स्वस्थ रखने में मददगार होता है. इसके साथ ही नीलगिरी दांतों में मौजूद उन बैक्टीरिया से भी लड़ता है जो दांतों की सड़न और पीरियडोंटाइटिस का कारण बनते हैं. स्किन पर होने वाले कई संक्रमण के इलाज के लिए यूकेलिप्टस को फायदेमंद और असरदार माना जाता है. ये आपके घाव या चोट पर भी काम करता है और उसे ठीक करने में मदद करता है

लाइफ़स्टाइल