The History Of Ripped Jeans - विद्रोह के चलते शुरू हुआ रिप्ड जींस का चलन कैसे बना फैशन ट्रेंड, जानिये दिलचस्प कहानी | Editorji Hindi
  1. home
  2. > लाइफ़स्टाइल
  3. > रिप्ड जींस के अस्तित्व की कहानी
prev iconnext button of playermute button of playermaximize icon
mute icontap to unmute
video play icon
00:00/00:00
prev iconplay paus iconnext iconmute iconmaximize icon
close_white icon

रिप्ड जींस के अस्तित्व की कहानी

Mar 20, 2021 09:58 IST | By Editorji News Desk

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत (Uttarakhand Chief Minister) के महिलाओं की रिप्ड जींस  या फटी हुई जींस को लेकर दिए बयान के बाद से विवाद शुरू हो गया है. मुख्यमंत्री का कहना था कि औरतों को फटी हुई जींस में देखकर हैरानी होती है और उनके मन में ये सवाल उठता है कि इससे समाज में क्या संदेश जाएगा. जिसके बाद से ही सोशल मीडिया पर भी रिप्ड जींस (Ripped Jeans) ताज़ा चर्चा का एक मुद्दा बन गयी. लेकिन क्या आप जानते हैं जिस रिप्ड जींस को लेकर इतनी बातें हो रही हैं उसकी शुरुआत कब और कैसे हुई थी? है ना ये एक दिलचस्प सवाल...चलिए हम आपको बताते हैं.


जींस पहनने का चलन 1870 से ही शुरू हो गया था.(History of Ripped Jeans) दुनिया की पहली जीन्स जर्मन बिजनेसमैन लोएब स्ट्रॉड्स ने डिज़ाइन की थी. जिसने बाद में अपना नाम बदलकर Levi रख लिया था और आज ये ब्रांड हम सबके बीच में एक जाना पहचाना नाम है. मोटे कपड़े की मज़बूत और टिकाऊ ये पैन्ट्स फैक्ट्रियों में काम करने वाले मज़दूरों के लिए बनाई गयी थीं. ये नीले रंग में डाई की जाती थीं ताकि उन्हें पहनने वालों को मज़दूरों के रूप में पहचाना जा सके. तो ये तो बात हुई जींस की अब आपको बताते हैं रिप्ड जीन्स के बारे में. रिप्ड जींस का फैशन पहली जींस आने के लगभग 100 साल बाद आया. उस से पहले फटी जींस पहनना गरीबी की निशानी माना जाता था. वही लोग फटी हुई जींस पहनते थे जो जींस नहीं खरीद पाते थे. हालांकि 1970 के बाद ये फैशन बन गया और लोगों ने खुद ही अपनी जींस को रिप्ड करना शुरू कर दिया. कहा जाता है कि 70 के दशक में जब पंक बैंड का कल्चर पॉपुलर हो रहा था, फटी जींस पहनना पारंपरिक तरीकों या किसी भी मुद्दे का विरोध करने का जरिया बन गया था. पंक एक तरह का म्यूजिक जॉनर है. इसी दौरान एक पंक मूवमेंट भी शुरू हुआ था जिसके ज़रिये फटी जींस पहन कर कई मुद्दों पर विरोध प्रदर्शन किया गया था. उस वक़्त पुरुषों के साथ महिलाओं ने भी रिप्ड जींस पहनकर काफी प्रोटेस्ट किये.

पॉप कल्चर के चलते बहुत से रॉक स्टार्स जैसे बीटल्स, रैमोंस, सेक्स पिस्टल वगैरह ने इसे पूरी दुनिया में फेमस कर दिया. इन्होंने समाज के प्रति अपने गानों से गुस्सा दिखाने के लिए फटी हुई जींस पहनी और धीरे धीरे ये लुक फैशन में आ गया.

बीच में रिप्ड जींस का ट्रेंड फीका हो गया था लेकिन साल 2010 में ये ट्रेंड फिर वापस आया. डीजल और बॉलमैन जैसे डिज़ाइनर्स ने इसे दोबारा लॉन्च किया और अपने स्टोर्स में उतारा. कुछ इंटरनेशनल फैशन शोज में सुपर मॉडल्स भी रिप्ड जींस पहने हुए नज़र आयीं. और अब ये जींस लगभग हर लड़की के वार्डरॉब का हिस्सा बन चुकी है.

लाइफ़स्टाइल