Social media influencer regulation asks to label paid content prominently - सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर पर नकेल कसने की तैयारी, पहले की तरह धड़ल्ले से नहीं बना पाएंगे वीडियो | Editorji Hindi
  1. home
  2. > टेक-ऑटो
  3. > सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर पर नकेल कसने की तैयारी, पहले की तरह धड़ल्ले से नहीं बना पाएंगे वीडियो
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर पर नकेल कसने की तैयारी, पहले की तरह धड़ल्ले से नहीं बना पाएंगे वीडियो

Feb 23, 2021 16:47 IST

अब सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर एडवरटाइजिंग स्टैंडर्ड काउंसिल ऑफ इंडिया के रेगुलेशन के दायरे में आएंगे. इंफ्लुएंसर को अब कोई भी पोस्ट करने से पहले बताना होगा कि वह पोस्ट एक आम पोस्ट है या प्रमोशनल. ASCI इस मामले में पारदर्शिता लाने के लिए जल्द दिशानिर्देश जारी करने जा रही है. दिशानिर्देश के मसौदे के मुताबिक सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर को किसी ब्रांड या प्रोडक्ट के प्रमोशन से जुड़ी सामग्री के बारे में अपने पोस्ट में पूरी जानकारी देनी होगी. उन्हें विज्ञापन वाले पोस्ट में डिसक्लोजर लेबल हाइलाइट करने होंगे. यह कंटेंट में ऊपर होना चाहिए, ताकि लोगों को पहली नजर में ही पता चल जाए कि यह पोस्ट आम पोस्ट है या प्रमोशनल. यह डिसक्लोजर लेबल्स किसी प्लेटफॉर्म पर डाले गए कंटेंट की पहली दो लाइन में नजर आने चाहिए. ASCI के अप्रूव्ड लेबल्स में ऐड, कोलैब, प्रोमो, स्पॉन्सर्ड या पार्टनरशिप शामिल हैं. बता दें कि डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी एडलिफ्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर का बाजार सालाना 543 से 1,087 करोड़ रुपये के बीच है.

 

 

टेक-ऑटो