Rakesh Tikait re powered kisaan aandolan - आंदोलन के बुझते दीपक में तेल की तरह गिरे टिकैत के आंसू, फिर जुटे किसान | Editorji Hindi
  1. home
  2. > भारत
  3. > आंदोलन के बुझते दीपक में तेल की तरह गिरे टिकैत के आंसू, फिर जुटे किसान
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

आंदोलन के बुझते दीपक में तेल की तरह गिरे टिकैत के आंसू, फिर जुटे किसान

Jan 29, 2021 14:43 IST

गुरुवार को एक समय जब ये लगा कि अब किसान आंदोलन निपट सा गया है उसी समय राकेश टिकैत ने गाजीपुर बॉर्डर पर मोर्चा संभाला. दोपहर तक उनके सरेंडर करने की चर्चाएं हावी थीं लेकिन इस बीच में ही घटनाक्रम तेजी से बदला और राकेश टिकैत मंच पर बोलते बोलते भावुक हो गए. गुरुवार को ऐसे कई मौके आये जब किसानों ने अपने नेता राकेश टिकैत को रोते हुए देखा और उनकी इन तस्वीरों ने आंदोलन के बुझते दीपक में तेल डाल दिया. रातों रात हजारों की संख्या में किसान एक बार फिर गाजीपुर और दूसरे बॉर्डर पर जुटने लगे और आंदोलन को तेज करने की बात कही. टिकैत को लोगों का भरपूर साथ मिला और अब एक बार फिर से किसानों ने अपनी मांगों को लेकर सरकार पर दबाव बढ़ाना शुरू कर दिया है.

भारत