Politicians and journalists upheld Sushant's Murder Theory: Study | Editorji Hindi
  1. home
  2. > भारत
  3. > नेताओं-पत्रकारों ने फायदे के लिए उछाली सुशांत की ‘मर्डर’ थ्योरी: स्टडी
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

नेताओं-पत्रकारों ने फायदे के लिए उछाली सुशांत की ‘मर्डर’ थ्योरी: स्टडी

Oct 07, 2020 23:26 IST

अमेरिका की मशहूर मिशिगन यूनिवर्सिटी की एक स्टडी में दावा किया गया है कि कुछ नेताओं, पत्रकारों और मीडिया हाउस ने अपने फायदे के लिए जानबूझकर सुशांत की ‘मर्डर’ थ्योरी का मुद्दा उछाला. "Anatomy of a Rumors: Social Media and Suicide of Sushant Singh Rajput" टाइटल वाली इस प्री-प्रिंट स्टडी में कहा गया है कि राजनेताओं के अकाउंट्स सुशांत केस में नरेटिव को सुसाइड से मर्डर में बदलने में बेहद अहम रहे. स्टडी दिखाती है कि जो कंटेंट बिल्कुल बेसलेस मर्डर थ्योरीज को प्रमोट कर रहा था, उन्हें सुसाइड थ्योरी से कहीं ज्यादा ट्रैक्शन मिला. 

स्टडी के मुताबिक नेताओं के अकाउंट्स ने मिड जुलाई में CBI जांच की मांग को लेकर समन्वित कोशिश शुरू की जबकि पत्रकारों ने अगस्त की शुरुआत में महाराष्ट्र सरकार विरोधी नरेटिव को पूरी ताकत से आगे बढ़ाया. स्टडी में पाया गया कि बीजेपी से जुड़े अकाउंट्स ‘मर्डर’ शब्द का इस्तेमाल करने में अधिक आक्रामक थे. इस पूरे प्रकरण में दुष्प्रचार अभियान के निशाने पर सबसे ज्यादा रिया चक्रवर्ती, आदित्य ठाकरे और सलमान खान रहे. मिशिगन यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स की एक टीम ने करीब 7000 यूट्यूब वीडियोज और 10,000 ट्वीट्स की एनालिसिस के बाद ये स्टडी सामने रखी है. 

 

भारत