PM की अपील से बढ़ी चिंता, अचानक ब्लैकआउट से ग्रिड फेल होने का खतरा

  1. home
  2. > भारत
  3. > PM की अपील से बढ़ी चिंता, अचानक ब्लैकआउट से ग्रिड फेल होने का खतरा
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

PM की अपील से बढ़ी चिंता, अचानक ब्लैकआउट से ग्रिड फेल होने का खतरा

Apr 04, 2020 17:09 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से की गई इतवार रात 9 बजे लाइट्स ऑफ करने की अपील को लेकर पावर सेक्टर में चिंता का माहौल है. ये चिंता इस लिए है क्योंकि अचानक से लाइट्स ऑफ करने से ग्रिड के फेल होने का खतरा है. जानकारों के मुताबिक अगर कोई एक ग्रिड फेल होता है तो उसको ठीक करने में 12 से 16 घंटे का समय लग सकता है. सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी अथॉर्रिटी यानी सेरा के मुताबिक सामान्य रूप से एक ग्रिड को 49.95 से 50.05 हर्ट्ज की फ्रीक्वेंसी बैंड की आवश्यकता होती है. लेकिन बिजली सप्लाई में अचानक वृद्धि या कमी आती है तो ग्रिड फेल होने का खतरा बढ़ जाता है. वहीं जानकारों से राय लेकर इंडियन एक्सप्रेस ने एक रिपोर्ट छापी जिसमें कहा गया है कि देश के बिजली उत्पादन का 30 से 32 फीसदी ही घरों की बिजली सप्लाई में इस्तेमाल होता है लिहाजा इस बात की आशंका कम है कि अचानक लाइट्स ऑफ होने से ग्रिड फेल हो जाएं. बावजूद इसके बिजली कर्मी देश के सभी पांच पावर लोड डिस्पैच सेंटर और नेशनल डिस्पैच सेंटर का आपस में बेहतर तालमेल बिठाने में जुटे हैं ताकि ब्लैकआउट के दौरान ग्रिड फेल ना हों.

भारत