om birla letter created controversy among experts of standing committees | Editorji Hindi
  1. home
  2. > राजनीति
  3. > स्पीकर ओम बिड़ला की चिट्ठी पर भड़के जानकार, कहा- ये तो घुसैपठ है
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

स्पीकर ओम बिड़ला की चिट्ठी पर भड़के जानकार, कहा- ये तो घुसैपठ है

Aug 29, 2020 14:56 IST

लोकसभा स्पीकर द्वारा संसदीय कमेटी के अध्यक्षों को दिए नए नए निर्देशों पर बहस तेज हो गई है. इस पर कई पूर्व संसदीय समितियों के प्रमुखों ने न सिर्फ आपत्ति जताई है बल्कि आश्चर्य भी व्यक्त किया है. दरअसल स्पीकर ओम बिड़ला ने बीते 25 अगस्त को सभी स्थायी समितियों के अध्यक्षों को चिट्ठी लिखकर कहा था कि वे अदालतों में लंबित किसी भी मामले पर चर्चा करने से बचें. चिट्ठी में बिड़ला ने कहा है कि इस मीटिंग की कोई भी ब्रीफिंग मीडिया में लीक न हो. इसी चिट्ठी पर पूर्व में एक संसदीय पैनल की अध्यक्षता कर चुके वीरप्पा मोइली ने कहा कि संसदीय समितियां खुद संसद का विस्तृत रुप है लिहाजा ये निर्देश अटपटा सा है. दूसरी तरफ पीएसी के पूर्व अध्यक्ष केवी थॉमस ने बताया है कि इससे पहले किसी स्पीकर ने कभी किसी स्टैंडिंग कमेटी के काम में इस तरह से दखल नहीं दिया. लोकसभा के पूर्व महासचिव सुभाष कश्यप भी पूछ रहे हैं कि ऐसी कौन सी परिस्थिति आ गई कि स्पीकर को ये निर्देश देना पड़ा. हालांकि सुभाष कश्यप ने ये भी बताया कि स्पीकर के पास संसदीय कमेटियों को निर्देश जारी करने की शक्ति है लेकिन आमतौर पर ऐसा नहीं होता. इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ

राजनीति