kids who flopped badly | Editorji Hindi
  1. home
  2. > एडिटरजी स्पेशल
  3. > नेपोटिजम की बहस है बेफिजूल: ये स्टार किड्स रहे फ्लॉप
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

नेपोटिजम की बहस है बेफिजूल: ये स्टार किड्स रहे फ्लॉप

Jul 30, 2020 16:24 IST

 

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या ने नेपोटिजम पर नई बहस शुरू कर दी है. कई लोगों ने आवाज उठाई है कि बॉलीवुड में स्टार किड्स के लिए जगह पाना आसान है. उन्हें निर्देशकों और निर्माताओं तक आसानी से पहुंच मिल सकती है और यहां तक ​​कि वो खुद लॉन्च भी हो सकते हैं. वैसे ये बात जितनी सच है उतना ही सच ये भी है कि अगर आपके पास कोई प्रतिभा नहीं है, तो फिल्मों में अभिनय करना निश्चित रूप से आसान नहीं है. कई एक्टर्स अपने पिता और दादा द्वारा लॉन्च किए जाने के बावजूद बुरी तरह से असफल हुए हैं....

हिट पिता और फ्लॉप बेटे की लिस्ट में सबसे ऊपर मेगास्टार अमिताभ बच्चन और उनके बेटे अभिषेक बच्चन हैं. ये तब है जबकि अभिषेक ने 'गुरु', 'रावण' और दिल्ली 6 जैसी कई हिट फ़िल्में दीं, लेकिन उनका करियर बॉलीवुड में अपने मेगा स्टार पिता बिग बी की तरह नहीं चला, जिन्होंने इस उम्र में भी अपने फैंस का भरोसा कायम रखा है.

इसी तरह हेमा मालिनी और धर्मेंद्र के बच्चों से भी दर्शकों को बहुत उम्मीदें थीं. लेकिन एशा देओल और बॉबी देओल बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने में असफल रहे. एशा देओल याद रखने लायक एक ही फिल्म दी वो थी साल 2006 में आई ब्लॉकबस्टर 'धूम' जिसमें उन्होंने एक आइटम नंबर दिया था. जबकि बॉबी देओल ने 'बरसात', 'गुप्त', और 'सोल्जर' जैसी हिट फिल्मों से प्रसिद्धि तो हासिल की...इसके बादव वे 'रोमियो' और 'हाउसफुल 4', जैसी फिल्मों में दिखाई तो दिए लेकिन किसी ने उनकी चर्चा नहीं की.

'मिस्टर इंडिया', 'नायक', 'राम लखन' और 'ताल' जैसी सुपरहिट फिल्में दे चुके अनिल कपूर के बच्चे फैशनिस्टा सोनम कपूर और हर्षवर्धन कपूर भी उनकी तरह सफलता का स्वाद नहीं चख सके. इन्हें देखकर हम कह सकते हैं कि अगर आपके पिता बॉलीवुड के सुपरस्टार भी हो तो जरूरी नहीं कि आप भी सफल होंगे

जितेंद्र के बेटे तुषार कपूर भी अपने पिता की तरह सफलता का स्वाद नहीं चख सके. उन्होंने कई शानदार फिल्मों में अभिनय किया, लेकिन वे इंडस्ट्री में सफलता का आनंद लेने में असफल रहे.

डिस्को डांसर के नाम से मशहूर, मिथुन चक्रवर्ती का नाम भी हिंदी फिल्म उद्योग के सफल अभिनेताओं में लिया जाता है. इसके विपरीत, उनके बेटे मिमोह चक्रवर्ती एक एक्टर के तौर पर असफल रहे.

शत्रुघ्न सिन्हा 'खामोश' कहेंगे, लेकिन हम उनकी बेटी सोनाक्षी और बेटे लव के बारे में कैसे चुप रह सकते हैं, जिन्होंने बॉलीवुड में सभी निर्माताओं के पास होने के बावजूद भी बॉलीवुड में कोई चमक नहीं दिखाई.

महान अभिनेता राज कपूर के बेटे स्वर्गीय ऋषि कपूर कपूर परिवार के नाम और प्रतिष्ठा तक जीवित रहे, लेकिन उनके भाई रणधीर और राजीव कपूर कई प्रयासों के बावजूद फिल्म निर्माताओं को जीतने में असफल रहे.

हालांकि कपूर खानदार की विरासत को आगे बढ़ाते हुए, करिश्मा, करीना और रणबीर कपूर ने निश्चित रूप से फिल्म उद्योग में अपनी प्रतिभा से जगह बनाने में सफलता हासिल की.
ऐसे में बड़ा सवाल ये है कि क्या निर्माता और निर्देशकों तक पहुंच होने से ही बॉलीवुड में सफलता मिल जाती है या प्रतिभा भी जरूरी है....वैसे ज्यादातर उदाहरण तो यही बताते हैं कि प्रतिभा ही सफलता की पहली शर्त है...

 

एडिटरजी स्पेशल