'Kahin Door Jab Din Dhal Jaaye' lyricist Yogesh Gaur dies | Editorji Hindi
  1. home
  2. > बॉलीवुड
  3. > रिमझिम गिरे सावन... जैसे गीत लिखने वाले योगेश गौर का मुंबई में निधन
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

रिमझिम गिरे सावन... जैसे गीत लिखने वाले योगेश गौर का मुंबई में निधन

May 30, 2020 14:24 IST

बॉलीवुड के मशहूर और वरिष्ठ गीतकार योगेश गौर का शुक्रवार को मुंबई में निधन हो गया, वे 77 वर्ष के थे. उनका जन्म 19 मार्च 1943 को लखनऊ में हुआ था. फिल्म 'आनंद', 'छोटी सी बात', 'रजनीगंधा', 'बातों बातों में' जैसी कई फिल्मों में गाने लिखकर 70 और 80 के दशक‌ में उन्होंने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाई थी. लगभग 50 साल बाद भी फिल्म 'आनंद' के लिए लिखे उनके गीत 'रिमझिम गिरे सावन', 'दूर कहीं जब दिन ढल जाए' और 'जिंदगी कैसी है पहेली हाय' आज भी संगीत प्रेमियों में उतनी ही लोकप्रिय हैं. उन्होंने फिल्मों के अलावा कई टीवी धारावाहिकों की कहानी भी लिखी. योगेश के सिनेमा का सफर फिल्म रॉबिन से शुरू हुआ था. योगेश के निधन पर सिनेमा के कई दिग्गज सितारे उन्हें सोशल मीडिया पर याद कर रहे हैं. लीजेंड्री सिंगर लता मंगेशकर ने योगेश गौर को श्रद्धांजलि दी. लता मंगेशकर ने कहा कि वे बहुत शांत और मधुर स्वभाव के इंसान थे.

बॉलीवुड