लॉकडाउन से भारतीय अर्थव्यवस्था को करीब 7.6 लाख के नुकसान का अनुमान

  1. home
  2. > भारत
  3. > लॉकडाउन से भारतीय अर्थव्यवस्था को करीब 7.6 लाख के नुकसान का अनुमान
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

लॉकडाउन से भारतीय अर्थव्यवस्था को करीब 7.6 लाख के नुकसान का अनुमान

Apr 03, 2020 17:12 IST

एक अनुमान की मानें तो लॉकडाउन के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था को 100 अरब डॉलर यानी करीब 7.6 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है. ये अनुमान क्रेडिट रेटिंग एजेंसी एक्यूट रेटिंग्स ने लगाया है. एजेंसी के मुताबिक भारतीय अर्थव्यवस्था को हर दिन 4.5 अरब डॉलर यानी करीब 34 हजार करोड़ रुपये के नुकसान का आंकलन है जोकि कम-ज्यादा भी हो सकता है. इस नुकसान का एक बड़ा असर देश के बैंकिंग सेक्टर पर भी पड़ेगा. वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भारतीय बैंकों का परिदृश्य नेगेटिव कर दिया है और अंदेशा जताया है कि एशिया-प्रशांत क्षेत्र की 20% गैर वित्तीय कंपनियां बंद हो सकती हैं. मूडीज इन्वेस्टर सर्विसेज की रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना महामारी से गैर वित्तीय क्षेत्र की 20% कंपनियों को हाई रिस्क का सामना करना पड़ेगा और ऐसा इसलिए क्योंकि ये कंज्यूमर्स की डिमांड में आ रहे बदलाव और वैश्विक यात्रा पर लगे अंकुश को सहन नहीं कर सकेंगे. मूडीज ने कहा कि कॉरपोरेट, छोटे एवं मझोले उद्योगों और खुदरा क्षेत्र में गिरावट से बैंकों की पूंजी और मुनाफे पर भी असर होगा और ये असर बैंकिंग व्यवस्था पर दबाव बढ़ाने वाला होगा. इसके अलावा रेटिंग एजेंसी क्रिसिल कि रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय कंपनियों का ऋण अनुपात चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में तीन साल के निचले स्तर पर पहुंच गया है जोकि अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा संकेत नहीं है.

भारत