कोर्ट के लिए मंदिर प्राथमिकता नहीं तो कानून बनाए सरकार: भागवत | Editorji Hindi
  1. home
  2. > भारत
  3. > कोर्ट के लिए मंदिर प्राथमिकता नहीं तो कानून बनाए सरकार: भागवत
prev iconnext button of playermute button of playermaximize icon
mute icontap to unmute
video play icon
00:00/00:00
prev iconplay paus iconnext iconmute iconmaximize icon
close_white icon

कोर्ट के लिए मंदिर प्राथमिकता नहीं तो कानून बनाए सरकार: भागवत

Nov 25, 2018 22:00 IST

विश्व हिंदू परिषद् की धर्म सभा में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने भी हुंकार भरी। भागवत ने कहा कि अयोध्या में सदियों से अयोध्या में रामलला विराजमान हैं. हिंदुओं में धैर्य है इसलिए 30 साल का समय लग गया है..जनता के दबाव में कानून लाएगी सरकार । बाईट- मोहन भागवत, आरएसएस प्रमुख- अगर किसी कारण, अपनी व्यवस्था के कारण या पता नहीं अपने समाज की संवेदना को ना जानने के कारण न्यायालय की प्राथमिकता नहीं है तो सरकार सोचे की इस मंदिर को बनाने के लिए कानून कैसे आ सकता है और शीघ्र इस कानून को लाए यही उचित है।

भारत