लेटेस्ट खबर

Cyclone Gulab: ओडिशा-आंध्र के तटीय इलाकों से टकराने के बाद कमजोर पड़ा 'गुलाब', 2 मछुआरों की मौत

Cyclone Gulab: ओडिशा-आंध्र के तटीय इलाकों से टकराने के बाद कमजोर पड़ा 'गुलाब', 2 मछुआरों की मौत

Goa के पूर्व CM लुइजिन्हो फलेरो आज कांग्रेस से दे सकते हैं इस्तीफा, TMC का थामेंगे दामन !

Goa के पूर्व CM लुइजिन्हो फलेरो आज कांग्रेस से दे सकते हैं इस्तीफा, TMC का थामेंगे दामन !

Bengal: भवानीपुर उपचुनाव में BJP ने झोंकी पूरी ताकत, 80 जगहों पर 80 नेता ममता के खिलाफ करेंगे प्रचार

Bengal: भवानीपुर उपचुनाव में BJP ने झोंकी पूरी ताकत, 80 जगहों पर 80 नेता ममता के खिलाफ करेंगे प्रचार

Central Vista Project: कंस्ट्रक्शन साइट पर अचानक पहुंचे PM, नए संसद भवन के निर्माण कार्य का लिया जायजा

Central Vista Project: कंस्ट्रक्शन साइट पर अचानक पहुंचे PM, नए संसद भवन के निर्माण कार्य का लिया जायजा

Top-5 Smart Watch: 3,000 रुपये से कम में खरीदनी है बेस्ट स्मार्टवॉच, देखें लिस्ट

Top-5 Smart Watch: 3,000 रुपये से कम में खरीदनी है बेस्ट स्मार्टवॉच, देखें लिस्ट

Guru Purnima 2021: जानिये कौन थे महर्षि व्यास और गुरु पूर्णिमा को क्यों कहा जाता है व्यास पूर्णिमा

हिन्दू कैलेंडर के हिसाब से आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है. इस साल गुरु पूर्णिमा 24 जुलाई को मनाई जायेगी.

Guru Purnima 2021: हिन्दू धर्म में गुरु को भगवान का दर्जा दिया गया है. संत कबीर का लिखा, ‘गुरु’ को समर्पित एक दोहा आपने ज़रूर पढ़ा या सुना होगा. 

गुरू गोविन्द दोऊ खड़े, काके लागूं पांय

बलिहारी गुरू अपने गोविन्द दियो बताय

इसका अर्थ है जब गुरु और गोविन्द (ईश्वर) एक साथ खड़े हों तब पहले किन्हें प्रणाम करना चाहिए. गुरु ने ही गोविन्द से हमारा परिचय कराया है इसलिए गुरु का स्थान गोविन्द से भी ऊंचा है.

गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima) का पर्व गुरुओं को नमन करने और उनके द्वारा दिए गए ज्ञान के प्रति आभार व्यक्त करने का पर्व है.

गुरु पूर्णिमा 2021 तिथि  

हिन्दू कैलेंडर के हिसाब से आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है. इस साल गुरु पूर्णिमा 24 जुलाई को मनाई जायेगी. धार्मिक मान्यता है कि आषाढ़ मास की पूर्णिमा को वेद व्यास जी का जन्म हुआ था इसलिए गुरु पूर्णिमा को व्यास पूर्णिमा भी कहा जाता है. 

महर्षि वेद व्यास ने महाभारत की रचना की. सभी 18 पुराणों के रचयिता भी महर्षि वेद व्यास को माना जाता है. लगभग 15000 साल से भी पहले आज ही के दिन आदिगुरु शिव ने गुरु पूर्णिमा के दिन सप्तऋषियों को पहला शिष्य बनाया और उन्हें योगिक विज्ञान की शिक्षा दी. इतना ही नही माना जाता है कि करीब 2600 साल पहले तथागत बुद्ध ने आषाढ़ी पूर्णिमा के दिन सारनाथ में पांच भिक्षुओं को धर्म का पहला उपदेश दिया था.

गुरु पूर्णिमा के पावन अवसर पर लोग भगवान की आराधना करते हैं और अपने गुरुओं का आशीर्वाद लेते हैं. इस दिन लोग भगवान विष्णु की पूजा करते हैं, मंदिर जाते हैं और व्रत करते हैं. गुरु पूर्णिमा के दिन ज़रूरतमंदों को दान करने का भी विशेष महत्त्व है.

अप नेक्स्ट

Guru Purnima 2021: जानिये कौन थे महर्षि व्यास और गुरु पूर्णिमा को क्यों कहा जाता है व्यास पूर्णिमा

Guru Purnima 2021: जानिये कौन थे महर्षि व्यास और गुरु पूर्णिमा को क्यों कहा जाता है व्यास पूर्णिमा

World Contraception Day 2021: हर प्रेगनेंसी हो मनचाही!

World Contraception Day 2021: हर प्रेगनेंसी हो मनचाही!

Fibre Deficiency: क्या आप ले रहे हैं पर्याप्त फाइबर? जानिये एक दिन में कितनी मात्रा लेना है ज़रूरी

Fibre Deficiency: क्या आप ले रहे हैं पर्याप्त फाइबर? जानिये एक दिन में कितनी मात्रा लेना है ज़रूरी

नई स्टडी में दावा: वैक्सीन ले चुकीं प्रेगनेंट महिलाओं से शिशुओं को मिलती है उच्च स्तर की एंटीबॉडी

नई स्टडी में दावा: वैक्सीन ले चुकीं प्रेगनेंट महिलाओं से शिशुओं को मिलती है उच्च स्तर की एंटीबॉडी

छोड़ना चाहते हैं नॉनवेज खाना? ये फायदे आपको करेंगे Meatless diet के लिए प्रोत्साहित

छोड़ना चाहते हैं नॉनवेज खाना? ये फायदे आपको करेंगे Meatless diet के लिए प्रोत्साहित

MooLoo for Cows: गायें भी 'टॉयलेट' में जाकर करेंगी सूसू-पॉटी, दी जा रही है ख़ास ट्रेनिंग

MooLoo for Cows: गायें भी 'टॉयलेट' में जाकर करेंगी सूसू-पॉटी, दी जा रही है ख़ास ट्रेनिंग