हॉकी के 'महान' मेजर ध्यानचंद | Editorji Hindi
  1. home
  2. > एडिटरजी स्पेशल
  3. > हॉकी के 'महान' मेजर ध्यानचंद
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

हॉकी के 'महान' मेजर ध्यानचंद

Aug 29, 2020 18:40 IST

मेजर ध्यानचंद मतलब हॉकी का जादूगर. भारतीय हॉकी की शान. एक ऐसा हॉकी प्लेयर, जो जब टर्फ पर स्टिक लेकर दौड़ता था तो कामयाबी उसके कदम चूम लेती थी.
ब्रिटिश इंडिया यानी आजाद भारत से पहले मेजर ध्यानचंद ने 1928, 1932 और 1936 में लगातार 3 ओलिंपिक स्वर्ण जीते. इन तीन ओलिंपिक में 'दद्दा' के नाम से मशहूर ध्यानचंद ने 39 गोल दागे. कहते हैं वर्ल्ड वॉर की वजह से अगले दो ओलिंपिक टल गए नहीं तो उनके नाम लगातार 5 गोल्ड जीतने का रिकॉर्ड होता.

29 अगस्त 2020... यानी इलाहाबाद में जन्मे मेजर ध्यानचंद का 115वां जन्मदिन. देश के खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने बड़े ही आदर भाव के साथ फूल अर्पण कर उन्हें नमन किया.

दद्दा के कमाल को ट्वीट के जरिए भारतीय क्रिकेटर अजिंक्य रहाणे ने भी याद किया. मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन को देश नेशनल स्पोर्ट्स डे के तौर पर मनाता है. इस दिन खिलाड़ियों और उनके गुरुओं को बड़े बड़े स्पोर्ट्स सम्मान से नवाजा जाता है. लेकिन एक सम्मान जिसे खुद मेजर ध्यानचंद को दिए जाने की मांग लगातार उठ रही है वो है भारत रत्न.
GFX IN
पूर्व हॉकी प्लेयर और मेजर ध्यानचंद के बेटे अशोक कुमार ने अपने पिता को भारत रत्न दिए जाने की मांग को अपनी न बताकर आम जनता की मांग बताया है. तो वहीं क्रिकेटर से सांसद बने गौतम गंभीर ने ये कहते हुए कि हिन्दुस्तान के इतिहास में मेजर ध्यानचंद से बड़ा खिलाड़ी न तो पैदा हुआ है और न होगा, उन्हें भारत रत्न देने की मांग की है.
GFX OUT
खैर, ध्यानचंद को भारत रत्न दिए जाने पर छिड़ी बहस का सिलसिला थोड़ा लंबा है. लेकिन एक बात तो तय है कि जैसे फुटबॉल में पेले हुए, क्रिकेट में डॉन ब्रैडमैन, वैसे ही हॉकी में थे मेजर ध्यानचंद. 

एडिटरजी स्पेशल