कोरोना फैलाने के लिए धार्मिक अल्पसंख्यकों को दोषी ठहराना गलत: अमेरिका

  1. home
  2. > कोविड-19
  3. > कोरोना फैलाने के लिए धार्मिक अल्पसंख्यकों को दोषी ठहराना गलत: अमेरिका
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

कोरोना फैलाने के लिए धार्मिक अल्पसंख्यकों को दोषी ठहराना गलत: अमेरिका

Apr 03, 2020 23:48 IST

अमेरिका ने कोरोना वायरस के फैलने के लिए धार्मिक अल्पसंख्यकों पर आरोप लगाने को गलत बताया है. गुरुवार को धार्मिक आजादी मामलों के अमेरिकी राजदूत सैम ब्राउनबैक ने कहा कि.. सरकारोंं को साफ बताना चाहिए कि ये एक महामारी है जिसेस पूरी दुनिया जूझ रही है, और इसका किसी धर्म या अल्पसंख्यकों से कोई लेना देना नहीं. उन्होंने कहा कि दुनियाभर की सरकारों को ऐसे आरोपों को पुरजोर तरीके से खत्म करना चाहिए और बताना चाहिए कि ये एक महामारी है जिससे सबको मिलकर लड़ना है. अमेरिका की ओर से ये बयान नई दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के एक धार्मिक आयोजन की पृष्ठभूमि में आया है, जिसे लेकर भारतीय मीडिया और सोशल मीडिया में तबलीगी जमात और अल्पसंख्यकों को निशाने पर लिया जा रहा है. अमेरिकी राजदूत ने धार्मिक समूहों से भी सोशल डिस्टेंशिंग का पालन करने को कहा है. ब्राउनबैक ने ईरान और चीन में शांतिपूर्ण धार्मिक कैदियों को रिहा करने की भी मांग की है.

कोविड-19