Congress in Madhya Pradesh hits out at Shivraj Government on hiding death numbers - क्या MP में भी छिपाई गई कोरोना मौतें? CSR रिपोर्ट पर कांग्रेस हमलावर | Editorji Hindi
  1. home
  2. > राजनीति
  3. > क्या MP में भी छिपाई गई कोरोना मौतें? CSR रिपोर्ट पर कांग्रेस हमलावर
prev icon/Assets/images/svg/play_white.svgnext button of playermute button of playermaximize icon
mute icontap to unmute
video play icon
00:00/00:00
prev iconplay paus iconnext iconmute iconmaximize icon
close_white icon

क्या MP में भी छिपाई गई कोरोना मौतें? CSR रिपोर्ट पर कांग्रेस हमलावर

Jun 13, 2021 14:28 IST | By Editorji News Desk

कोविड मौतों के आंकड़ों को लेकर विपक्ष एमपी की शिवराज सरकार (Shivraj Government) पर सवाल उठाता ही रहा, ऐसे में सिविल रजिस्ट्रेशन सिस्टम के सरकारी डेटा को लेकर अब राजनीतिक बयानबाजी और तेज हो गई है. इस डेटा के मुताबिक इस साल सिर्फ जनवरी से मई महीने में राज्य में पिछले साल के मुकाबले 1.9 लाख से ज्यादा मौतें हुई हैं.अब इस रिपोर्ट को लेकर कांग्रेस सरकार पर बेहद आक्रामक हो गई है, मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता भूपेंदेर गुप्ता ने CRS की रिपोर्ट के आधार पर कहा कि मई 2020 में 34,320 लोगों की मौत हुई थी.

जबकि मई 2021 में यह डेटा बढ़कर 1,64,838 तक पहुंच गया, गुप्ता ने कहा कि पूर्व सीएम कमलनाथ ने मई के महीने में डेढ़ लाख मौतों के आंकड़े की बात की थी, जाहिर है सीआरएस के डेटा से सरकार पर सवाल तो उठते ही हैं कि आखिर इतनी मौतें किस वजह से हुई और इनमें कोरोना की वजह से हुई मौतों की संख्या कितनी थी, इस मसले पर कमलनाथ ने भी ट्वीट कर कहा कि जनवरी से मई 2019 की तुलना में 2021 में 1.9 लाख लोगों की मौत हुई है और इन मौतों की वजह कोरोना वायरस ही है.

क्या MP में भी छिपाई गई कोरोना मौतें? CSR रिपोर्ट पर कांग्रेस हमलावर

1/3

क्या MP में भी छिपाई गई कोरोना मौतें? CSR रिपोर्ट पर कांग्रेस हमलावर

Prashant Kishor: IPAC की टीम का आरोप- त्रिपुरा पुलिस ने सर्वे करने गए लोगों को किया नजरबंद

2/3

Prashant Kishor: IPAC की टीम का आरोप- त्रिपुरा पुलिस ने सर्वे करने गए लोगों को किया नजरबंद

BS Yediyurappa के इस्तीफे से लिंगायत समाज नाराज, BJP को दी नुकसान भुगतने की चेतावनी

3/3

BS Yediyurappa के इस्तीफे से लिंगायत समाज नाराज, BJP को दी नुकसान भुगतने की चेतावनी

राजनीति