Allegations of scam in the name of Ram Mandir Trust - राम मंदिर के नाम पर 'कथित' फ्रॉड, ₹2 करोड़ की जमीन ₹18 करोड़ में बदली | Editorji Hindi
  1. home
  2. > लोकल ख़बरें
  3. > Ram Mandir: 2 करोड़ की जमीन 6 min में 18.5 करोड़ की हुई, घोटाले का आरोप
prev icon/Assets/images/svg/play_white.svgnext button of playermute button of playermaximize icon
mute icontap to unmute
video play icon
00:00/00:00
prev iconplay paus iconnext iconmute iconmaximize icon
close_white icon

Ram Mandir: 2 करोड़ की जमीन 6 min में 18.5 करोड़ की हुई, घोटाले का आरोप

Jun 13, 2021 23:24 IST | By Editorji News Desk

UP में समाजवादी पार्टी की सरकार के दौरान राज्य मंत्री रहे पवन पांडेय और आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने राम मंदिर ट्रस्ट (Ram Mandir Trust) द्वारा खरीदी गई एक जमीन के सौदे में घोटाले (Land Scam) का आरोप लगाया है. पवन पांडेय के मुताबिक 18 मार्च 2021 को 12080 वर्ग मीटर यानि 1.208 हेक्टेयर जमीन का बैनामा और एंग्रीमेंट हुआ और इसी खरीद फरोख्त में करोड़ों रुपये का हेर-फेर किया गया. पांडेय का दावा है कि 2 करोड़ रुपये की खरीदी गई जमीन का कुछ ही मिनटों बाद राम जन्मभूमि ट्रस्ट के नाम 18.5 करोड़ रुपये का बिक्री एग्रीमेंट किया गया. यानी अगर पांडेय का दावा सही है तो 10 मिनट के भीतर ही 2 करोड़ रुपये में खरीदी गई जमीन 18 करोड़ रुपये में एक पार्टी से दूसरी पार्टी के पास चली गई .

पवन पांड़े की तरफ से किए गए इस दावे पर जहां विपक्ष बीजेपी सरकार को घेर रहा है वहीं श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय का कहना है कि ये कोरा आरोप है और आरोप तो हम पर महात्मा गांधी की हत्या के बाद भी लगे हैं. राय के मुताबिक वो ऐसे आरोपों की परवाह नहीं करते लेकिन मामले को विस्तार से देखा जरूर जायेगा.

Ram Mandir: 2 करोड़ की जमीन 6 min में 18.5 करोड़ की हुई, घोटाले का आरोप

1/3

Ram Mandir: 2 करोड़ की जमीन 6 min में 18.5 करोड़ की हुई, घोटाले का आरोप

Rain Update: हिमाचल में आफत की बारिश से अब तक 14 की मौत, 90% सड़कें बंद

2/3

Rain Update: हिमाचल में आफत की बारिश से अब तक 14 की मौत, 90% सड़कें बंद

Rain Havoc: दिल्ली में ऑरेंज अलर्ट जारी, मौसम विभाग ने चेताया ना करें पहाड़ी इलाकों की यात्रा

3/3

Rain Havoc: दिल्ली में ऑरेंज अलर्ट जारी, मौसम विभाग ने चेताया ना करें पहाड़ी इलाकों की यात्रा

भारत