Allahabad HC made a strong comment, saying - adults have the right to live on their own | Editorji Hindi
  1. home
  2. > लोकल ख़बरें
  3. > इलाहाबाद HC का फैसला- हर बालिग को अपनी मर्जी से जीने का हक 
replay trump newslist
up NEXT IN 5 SECONDS sports newslist
tap to unmute
00:00/00:00
NaN/0

इलाहाबाद HC का फैसला- हर बालिग को अपनी मर्जी से जीने का हक 

Dec 29, 2020 13:32 IST

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दूसरे धर्म में शादी के मामले में सख्त टिप्प्णी की है. कोर्ट ने कहा कि बालिग होने पर व्यक्ति अपनी इच्छा से और अपनी शर्तों पर जिंदगी जी सकता है. दरअसल हाईकोर्ट ने एटा जिले की एक युवती द्वारा दूसरे धर्म के व्यक्ति से शादी करने को जायज ठहराते हुए, उसे हिफाजत से उसके पति के घर पहुंचाने का आदेश भी दिया. 18 दिसंबर को लड़की की याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस पंकज नकवी और जस्टिस विवेक अग्रवाल की बेंच ने कहा कि याचिकाकर्ता हाईस्कूल के प्रमाण पत्र के मुताबिक बालिग हो चुकी है, और उसे अपनी इच्छा और शर्तों पर जीवन जीने का हक है. बता दें कि एटा की सीएजेएम कोर्ट ने लड़की को सीडब्ल्यूसी को सौंप दिया था, जिसने उसे उसके घर वालों को दे दिया था. 

 

लोकल ख़बरें