लेटेस्ट खबर

Bihar News: बाहुबली आनंद मोहन का जलवा, पेशी के लिए आए पूर्व सांसद पहुंचे घर

Bihar News: बाहुबली आनंद मोहन का जलवा, पेशी के लिए आए पूर्व सांसद पहुंचे घर

Maharashtra Cabinet Expansion: महाराष्ट्र में मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, फडणवीस को गृह और वित्त

Maharashtra Cabinet Expansion: महाराष्ट्र में मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, फडणवीस को गृह और वित्त

Madhya Pradesh News: करंट लगने से शख्स की मौत, तिरंगा लगाते हुए हादसा 

Madhya Pradesh News: करंट लगने से शख्स की मौत, तिरंगा लगाते हुए हादसा 

Independence Day 2022: BJP ने वीडियो जारी कर नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस का पलटवार

Independence Day 2022: BJP ने वीडियो जारी कर नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस का पलटवार

Har Ghar Tiranga: राष्ट्रीय ध्वज की बिक्री में बंपर उछाल, 500 करोड़ रु का हुआ व्यापार

Har Ghar Tiranga: राष्ट्रीय ध्वज की बिक्री में बंपर उछाल, 500 करोड़ रु का हुआ व्यापार

मंकी पॉक्स को हैल्थ इमरजेंसी घोषित करना क्या ज़रूरी था ?


पत्रकार गिरिजेश वशिष्ठ मंकी पॉक्स को ग्लोबल हैल्थ इमरजेंसी घोषित करने के औचित्य की समीक्षा कर रहे हैं. वो बता रहे हैं कि किस तरह एक्सपर्ट कमेटी को दरकिनार करके ये घोषणा की गई है.
The monkeypox outbreak is a public health emergency of international concern, the head of the World Health Organization said, overruling a divided expert panel to issue the group’s highest alert.

The move paves the way for stepped-up global cooperation to stop the virus, which has spread to dozens of countries. The last time the WHO made a similar declaration was during the early stages of the Covid-19 outbreak in January 2020.

US Health and Human Services Secretary Xavier Becerra called the WHO decision “a call to action for the global health community.” President Joe Biden’s administration has made vaccines, testing and treatments available and is “determined to accelerate our response in the days ahead,” he said in a statement.
***About Knocking News (नॉकिंग न्यूज़)***
This is a analysis channel of Girijesh Vashistha. Girijesh Vashistha is a senior journalist; he has worked with India Today group, Zee Network, Dainik Bhaskar, Dainik Jagran and sahara samay like Prominent News organizations for 34 years at Editor Level
ये चैनल पत्रकार गिरिजेश वशिष्ठ के विश्लेषणों का चैनल है. गिरिजेश वशिष्ठ वरिष्ठ पत्रकार हैं. वो इन्डिया टुडे ग्रुप, दिल्ली आजतक, ज़ी, दैनिक भास्कर, दैनिक जागरण, सहारा समय समेत अनेक महत्वपूर्ण समाचार संस्थानों में संपादक के स्तर पर जिम्मेदारियां संभाल चुके हैं और पिछले 34 साल से लगातार सक्रिय हैं.
यहां आपको मिलेगा नॉकिंग न्यूज़ (Knocking News) LIVE राजनीति, बॉलीवुड, देश-विदेश हर तरह की ख़बरें, कोरोना वायरस अपडेट्स, corona conspiracy से जुड़े वीडियो के लिए देखिए सिर्फ नॉकिंग न्यूज़ (Knocking News) हर रोज दिलचस्प और गरमा-गरम वीडियो के लिए सब्सक्राइब कीजिए
For donations and support you may pay from any app by using UPI facility. our upi id is....
**************
girijeshv@okicici
**************
Editorial Partner – editorji :
https://www.editorji.com/hindi/partner/knockingnew-com
Please subscribe to our youtube channel:
https://www.youtube.com/c/KnockingNews
Another channel for Girijesh Vashistha Videos:
https://www.youtube.com/c/girijeshvashistha
Check out the KnockingNews website for more news:
https://www.KnockingNews.com/
Like us on Facebook:
https://www.facebook.com/KnockingNews/
Follow us on twitter:
https://twitter.com/KnockingNews
Our videos also available on Instagram:
https://www.instagram.com/KnockingNews/...
Our telegram channel :
https://t.me/KNLive
Find us on dailymotion:
https://www.dailymotion.com/KnockingNews
latest videos are at odysee
https://odysee.com/@KnockingNews
***For sponsordhip and advertisement related enquiries please contact ***
Email - knockingnews@gmail.com
-For donations and support you may pay from any app by using UPI facility. our upi id is....
***************
girijeshv@okicici
********************
-For news information please mail on above address. mobile number will be shared only if required

अप नेक्स्ट

मंकी पॉक्स को हैल्थ इमरजेंसी घोषित करना क्या ज़रूरी था ?

मंकी पॉक्स को हैल्थ इमरजेंसी घोषित करना क्या ज़रूरी था ?

सलमान रुश्दी पर हमले से भारत के लिए क्या सीख है. क्या अब सही कदम उठाने का समय है.

सलमान रुश्दी पर हमले से भारत के लिए क्या सीख है. क्या अब सही कदम उठाने का समय है.

कोरोना वापस लौटा, क्या चिंता करने की ज़रूरत है ?

कोरोना वापस लौटा, क्या चिंता करने की ज़रूरत है ?

क्या है लव जेहाद का सच, क्यों बढ़ने लगे हैं मामले

क्या है लव जेहाद का सच, क्यों बढ़ने लगे हैं मामले

अभी तो महंगाई की शुरुआत है. ऐसे ही फैसले होते रहे तो गरीब हो जाओगे

अभी तो महंगाई की शुरुआत है. ऐसे ही फैसले होते रहे तो गरीब हो जाओगे

कार की बिक्री के आंकड़ों से जानिये देश की हकीकत. कहां जाए गरीब

कार की बिक्री के आंकड़ों से जानिये देश की हकीकत. कहां जाए गरीब

और वीडियो

क्यों बढ़ रहा है छोटे छोटे बच्चों की खरीद फरोख्त का चलन

क्यों बढ़ रहा है छोटे छोटे बच्चों की खरीद फरोख्त का चलन

ज़िंदगी फिर मिलेगी दोबारा, मरे हुए को जिंदा कर देने वाली तकनीक

ज़िंदगी फिर मिलेगी दोबारा, मरे हुए को जिंदा कर देने वाली तकनीक

आखिर देश का पैसा कहां जा रहा है? इतना खोखला क्यों है खज़ाना

आखिर देश का पैसा कहां जा रहा है? इतना खोखला क्यों है खज़ाना

क्या आप मिसाइल के बारे में ये सच जानते हैं. कैसे करती हैं तबाही ?

क्या आप मिसाइल के बारे में ये सच जानते हैं. कैसे करती हैं तबाही ?

रुस से भिड़कर योरप ने खुद को ऐसे किया, तबाह. जानिये क्या है अब हाल

रुस से भिड़कर योरप ने खुद को ऐसे किया, तबाह. जानिये क्या है अब हाल

चीन - ताईवान का युद्ध होगा या नहीं? क्या होगा चीन का रुख ?

चीन - ताईवान का युद्ध होगा या नहीं? क्या होगा चीन का रुख ?

एक के बाद एक बुरी खबर, अब नौकरियों पर संकट और एक्सपोर्ट की शामत

एक के बाद एक बुरी खबर, अब नौकरियों पर संकट और एक्सपोर्ट की शामत

क्या मोदी जी अब कंपनियों की वसूली करवाने लगे हैं ? किसलिए डाल रहे हैं दबाव?

क्या मोदी जी अब कंपनियों की वसूली करवाने लगे हैं ? किसलिए डाल रहे हैं दबाव?

5 जी की ऊंची नीलामी से खुश हों या दुखी, अर्थव्यवस्था के इस दौर में ये कितना सही

5 जी की ऊंची नीलामी से खुश हों या दुखी, अर्थव्यवस्था के इस दौर में ये कितना सही

क्या चीन अमेरिका ने चीन के सामने हार मान ली. शी की धमकी से डर गए बाइडेन

क्या चीन अमेरिका ने चीन के सामने हार मान ली. शी की धमकी से डर गए बाइडेन

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.