हाइलाइट्स

  • महाकालेश्वर की अराधना करने पर मरने के बाद यमराज द्वारा दी जाने वाली यातनाओं से मुक्‍ति मिलती है
  • सभी तीर्थों का जल ओंकारेश्वर में चढ़ाने से सारे तीर्थ पूरे माने जाते हैं
  • केदारनाथ के दर्शन के बिना बद्रीनाथ की यात्रा अधूरी मानी जाती है

लेटेस्ट खबर

10 बच्चे पैदा करने पर मिलेंगे 13 लाख रुपये, रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने दिया 'लखपति बेबी' ऑफर

10 बच्चे पैदा करने पर मिलेंगे 13 लाख रुपये, रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने दिया 'लखपति बेबी' ऑफर

Jaswant Singh Rawat: चीन के 300 सैनिकों को जसवंत सिंह ने अकेले सुलाई थी मौत की नींद | Jharokha 19 August

Jaswant Singh Rawat: चीन के 300 सैनिकों को जसवंत सिंह ने अकेले सुलाई थी मौत की नींद | Jharokha 19 August

Rajasthan: दलित महिला शिक्षक को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया, गहलोत सरकार में कैसी अनहोनी?

Rajasthan: दलित महिला शिक्षक को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया, गहलोत सरकार में कैसी अनहोनी?

Prayagraj News: प्रयागराज में फिल्मी स्टाइल में बदमाशों ने 6 लाख लूटे, घटना सीसीटीवी में कैद

Prayagraj News: प्रयागराज में फिल्मी स्टाइल में बदमाशों ने 6 लाख लूटे, घटना सीसीटीवी में कैद

Krunal के बाद इस भारतीय तेज गेंदबाज ने किया वार्विकशायर के साथ करार, जल्द होगा इंग्लैंड के लिए रवाना

Krunal के बाद इस भारतीय तेज गेंदबाज ने किया वार्विकशायर के साथ करार, जल्द होगा इंग्लैंड के लिए रवाना

Jyotirlinga in India: भारत में स्थित इन बारह जगहों पर महादेव की है अखंड कृपा, अलौकिक ज्योतिर्लिंग

Jyotirlinga in India: पुराणों और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इन 12 स्थानों पर जो शिवलिंग हैं उनमें ज्योति के रूप में भोलेनाथ स्वंय विराजमान हैं. लोगों की श्रद्धा है कि इन ज्योतिर्लिंगों के दर्शन मात्र से सभी पाप दूर हो जाते हैं.

वैसे तो पूरे भारत में महादेव के कई मंदिर और शिवालय हैं लेकिन भारत में 12 ज्योतिर्लिंगों का अलग ही महत्व है. पुराणों और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इन 12 स्थानों पर जो शिवलिंग हैं उनमें ज्योति के रूप में भोलेनाथ स्वंय विराजमान हैं. लोगों की श्रद्धा है कि इन ज्योतिर्लिंगों के दर्शन मात्र से सभी पाप दूर हो जाते हैं.

अगर आप भी महादेव के इस भव्य रूप के दर्शन के इच्छुक हैं तो आइए देशभर में ज्योतिर्लिंगों की स्थिति जान लेते हैं -

ये हैं भगवान शिव के 12 ज्‍योतिर्लिंग, यहां करें दर्शन

1. सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, गुजरात

गुजरात के काठियावाड़ क्षेत्र में अरब सागर के तट पर स्थित है देश का पहला ज्योतिर्लिंग सोमनाथ. शिव पुराण के अनुसार जब चंद्रमा को प्रजापति दक्ष ने क्षय रोग (TB) का श्राप दिया था तब इसी जगह पर चंद्रमा ने महादेव की पूजा कर श्राप से मुक्ति पाई थी. ऐसी मान्यता है कि स्वयं चंद्र देव ने इस ज्योतिर्लिंग की स्थापना की थी.

2. मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग, आंध्र प्रदेश

आंध्र प्रदेश में कृष्णा नदी के किनारे है श्रीशैल पर्वत जिसे दक्षिण का कैलाश भी कहते हैं. इसी पर्वत पर स्थित है मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग. इस ज्योतिर्लिंग के दर्शन कर लेने से आपके सभी कष्ट दूर होंगे.

3. महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग, मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश के उज्जैन में स्थित है क्षिप्रा नदी और इसी नदी के तट पर है महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग. ये एकमात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग है. यहां रोजाना होने वाली भस्म आरती विश्व प्रसिद्ध है. जो भी व्‍यक्‍ति इस मंदिर में आ कर महादेव की सच्‍चे मन से प्रार्थना करता है, उसे मरने के बाद यमराज द्वारा दी जाने वाली यातनाओं से मुक्‍ति मिलती है.

4. ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग, मध्य प्रदेश

ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मध्‍य प्रदेश के मालवा क्षेत्र में नर्मदा नदी के किनारे एक पर्वत पर स्थित है. मान्‍यता है कि तीर्थ यात्री सभी तीर्थों का जल लाकर ओंकारेश्वर में चढ़ाते हैं तभी उनके सारे तीर्थ पूरे माने जाते हैं.

5. केदारनाथ ज्योतिर्लिंग, उत्तराखंड

उत्तराखंड में अलकनंदा और मंदाकिनी नदियों के तट पर केदार नाम की चोटी पर केदारनाथ ज्योतिर्लिंग स्थित है. यहां से पूर्वी दिशा में श्री बद्री विशाल का बद्रीनाथ धाम है. मान्‍यता है कि भगवान केदारनाथ के दर्शन किए बिना बद्रीनाथ की यात्रा अधूरी और निष्‍फल है.

6. भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग, महाराष्ट्र

महाराष्ट्र में पुणे से करीब 100 किलोमीटर दूर डाकिनी में स्थित है भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग. इसे मोटेश्वर महादेव भी कहा जाता है.

ये भी देखें : Healthy Recipe : भोलेनाथ में रमने के लिए बिना भांग वाली ठंडाई पीकर देखिए

7. विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग, उत्तर प्रदेश

वाराणसी शहर जिसे धर्म नगरी काशी भी जाता है वहां पर गंगा नदी के तट पर स्थित है बाबा विश्‍वनाथ का मंदिर. ऐसी माना जाता है कि कैलाश छोड़कर भगवान शिव ने यहीं अपना स्थाई निवास बनाया था.

8. त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग, महाराष्ट्र

महाराष्‍ट्र के नासिक से 30 किलोमीटर दूर पश्चिम में स्थित है त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग. गोदावरी नदी के किनारे स्थित यह मंदिर काले पत्थरों से बना है. शिवपुराण में मान्यता है कि गौतम ऋषि और गोदावरी की प्रार्थना पर भगवान शिव ने इस स्थान पर निवास करने निश्चय किया और त्र्यंबकेश्वर नाम से विख्यात हुए.

9. वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग, झारखंड

झारखंड के देवघर में स्थित है वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग. इस मंदिर को वैद्यनाथधाम के नाम से भी जाना जाता है. कहा जाता है कि एक बार रावण ने तप के बल से महादेव को लंका ले जाने की कोशिश की, लेकिन रास्ते में रुकावट आ जाने से शर्त के अनुसार शिव जी यहीं स्थापित हो गए.

10. नागेश्वर ज्योतिर्लिंग, गुजरात

गुजरात में बड़ौदा क्षेत्र में गोमती द्वारका के करीब दर्शन होते हैं नागेश्‍वर मंदिर के. धार्मिक पुराणों में भगवान शिव को नागों का देवता बताया गया है और नागेश्वर का अर्थ होता है नागों का ईश्वर कहते हैं कि भगवान शिव की इच्छानुसार इस ज्योतिर्लिंग का नामकरण किया गया है.

11. रामेश्वर ज्योतिर्लिंग, तमिलनाडु

भगवान शिव का 11वां ज्योतिर्लिंग तमिलनाडु के रामनाथम नामक जगह पर है. ऐसा माना जाता है कि रावण की लंका पर चढ़ाई से पहले भगवान राम ने जिस शिवलिंग की पूजा की थी, वही रामेश्वर के नाम से जाना जाता है.

12. घृष्‍णेश्‍वर ज्योतिर्लिंग, महाराष्ट्र

महाराष्ट्र के संभाजीनगर के समीप दौलताबाद के पास स्थित है घृष्‍णेश्‍वर ज्योतिर्लिंग. भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से यह आखिरी ज्योतिर्लिंग है. इस ज्योतिर्लिंग को घुश्मेश्वर के नाम से भी जाना जाता है.

अप नेक्स्ट

Jyotirlinga in India: भारत में स्थित इन बारह जगहों पर महादेव की है अखंड कृपा, अलौकिक ज्योतिर्लिंग

Jyotirlinga in India: भारत में स्थित इन बारह जगहों पर महादेव की है अखंड कृपा, अलौकिक ज्योतिर्लिंग

Amarnath Yatra 2022: 3 साल के बाद अमरनाथ यात्रा शुरू, घाटी में गूंज रहे भोलेनाथ के जयकारे

Amarnath Yatra 2022: 3 साल के बाद अमरनाथ यात्रा शुरू, घाटी में गूंज रहे भोलेनाथ के जयकारे

Global travel and tourism development index:भारत इंटरनेशनल टूरिस्ट अराइवल के मामले में गिरा 8 रैंक नीचे

Global travel and tourism development index:भारत इंटरनेशनल टूरिस्ट अराइवल के मामले में गिरा 8 रैंक नीचे

Indian Tourism industry: भारत में कहां से आते हैं सबसे ज़्यादा टूरिस्ट

Indian Tourism industry: भारत में कहां से आते हैं सबसे ज़्यादा टूरिस्ट

Uttarakhand cycle rally: माउंटेन बाइकिंग के दीवानों के लिए आदि कैलाश एक्सप्लोर करने का ख़ास मौका

Uttarakhand cycle rally: माउंटेन बाइकिंग के दीवानों के लिए आदि कैलाश एक्सप्लोर करने का ख़ास मौका

Valley of Flowers: फूलों से भरी घाटी को देखने का समय आ गया है, स्वर्ग से भी सुंदर है ये जगह

Valley of Flowers: फूलों से भरी घाटी को देखने का समय आ गया है, स्वर्ग से भी सुंदर है ये जगह

और वीडियो

Buddha Purnima 2022: बौद्ध धर्म की नींव स्थापित करने वाले ये ऐतिहासिक स्थल है बेहद महत्वपूर्ण

Buddha Purnima 2022: बौद्ध धर्म की नींव स्थापित करने वाले ये ऐतिहासिक स्थल है बेहद महत्वपूर्ण

Mountains calling: पहाड़ों पर हेल्थ संबंधी परेशानियां बताएंगी कि आप माउंटेन पर्सन हैं या नहीं

Mountains calling: पहाड़ों पर हेल्थ संबंधी परेशानियां बताएंगी कि आप माउंटेन पर्सन हैं या नहीं

River Rafting Tips: पहली बार करने जा रहे हैं राफ्टिंग...इन बातों को ध्यान में रखें

River Rafting Tips: पहली बार करने जा रहे हैं राफ्टिंग...इन बातों को ध्यान में रखें

Solo Travelling Tips: पहली बार सोलो ट्रिप की कर रहे हैं प्लानिंग, इन बातों का रखें ख्याल

Solo Travelling Tips: पहली बार सोलो ट्रिप की कर रहे हैं प्लानिंग, इन बातों का रखें ख्याल

Trekking: ट्रेकिंग के लिए जा रहे हैं पहली बार, इन बातों को ध्यान से कर लें नोट, सफर होगा आसान

Trekking: ट्रेकिंग के लिए जा रहे हैं पहली बार, इन बातों को ध्यान से कर लें नोट, सफर होगा आसान

Hanuman Jayanti 2022: उत्तर भारत के ये पांच हनुमान मंदिरों से जुड़ी है लोगों की आस्था

Hanuman Jayanti 2022: उत्तर भारत के ये पांच हनुमान मंदिरों से जुड़ी है लोगों की आस्था

Amarnath Yatra 2022: दो साल बाद होने जा रहे हैं बाबा बर्फानी के दर्शन, मात्र 5000 रुपए में करें यात्रा

Amarnath Yatra 2022: दो साल बाद होने जा रहे हैं बाबा बर्फानी के दर्शन, मात्र 5000 रुपए में करें यात्रा

International Women's Day: सोलो ट्रैवलिंग के लिए बेस्ट हैं ये जगहें, बेफिक्र होकर महिलाएं घूम सकती हैं

International Women's Day: सोलो ट्रैवलिंग के लिए बेस्ट हैं ये जगहें, बेफिक्र होकर महिलाएं घूम सकती हैं

World's Largest Cruise: पानी में उतरने को तैयार दुनिया का सबसे बड़ा क्रूज, कई लग्जरी सुविधाओं से लैस

World's Largest Cruise: पानी में उतरने को तैयार दुनिया का सबसे बड़ा क्रूज, कई लग्जरी सुविधाओं से लैस

Restaurant on Wheels: रेस्टोरेंट ऑन व्हील्स में उठाइए शाही खाने का स्वाद, नागपुर में अनूठा रेस्टोरेंट

Restaurant on Wheels: रेस्टोरेंट ऑन व्हील्स में उठाइए शाही खाने का स्वाद, नागपुर में अनूठा रेस्टोरेंट

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.