हाइलाइट्स

  • अखिलेश के इस्तीफे के बाद खाली हुई आजमगढ़ सीट
  • विधानसभा में आजमगढ़ की सभी सीटों पर SP जीती
  • धर्मेंद्र यादव की परंपरागत सीट बदायूं रही है

लेटेस्ट खबर

ZEE NEWS के एंकर रोहित रंजन को नोएडा पुलिस ने हिरासत में लिया, छत्तीसगढ़ की पुलिस के साथ हुई छीनाझपटी

ZEE NEWS के एंकर रोहित रंजन को नोएडा पुलिस ने हिरासत में लिया, छत्तीसगढ़ की पुलिस के साथ हुई छीनाझपटी

Chiranjeevi की अपकमिंग फिल्म 'GodFather' का शानदार टीजर हुआ आउट, एक्टर का दिखा राउडी स्टाइल

Chiranjeevi की अपकमिंग फिल्म 'GodFather' का शानदार टीजर हुआ आउट, एक्टर का दिखा राउडी स्टाइल

UP: हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों वाले कागज के टुकड़े में चिकन बेच रहा था शख्स, गिरफ्तार

UP: हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों वाले कागज के टुकड़े में चिकन बेच रहा था शख्स, गिरफ्तार

Darlings Teaser Out: टीजर में Alia Bhatt का दिखा 'थोड़ा डार्क…थोडा कॉमेडी' वाला अंदाज, इस दिन होगी रिलीज

Darlings Teaser Out: टीजर में Alia Bhatt का दिखा 'थोड़ा डार्क…थोडा कॉमेडी' वाला अंदाज, इस दिन होगी रिलीज

Jagannath Rath Yatra 2022: दुनियाभर में मशहूर है पुरी की जगन्नाथ रथयात्रा, जानिये इससे जुड़े रोचक तथ्य

Jagannath Rath Yatra 2022: दुनियाभर में मशहूर है पुरी की जगन्नाथ रथयात्रा, जानिये इससे जुड़े रोचक तथ्य

Azamgarh Bypolls 2022: अखिलेश ने ऐन मौके पर क्यों बदली रणनीति? धर्मेंद्र यादव को क्यों छोड़ना पड़ा बदायूं

आखिर क्या वजह रही कि एसपी ने बामसेफ के संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे बलिहारी बाबू के बेटे सुशील आनंद ( Sushil Anand ) का टिकट काटकर ऐन मौके पर परिवार के ही धर्मेंद्र यादव को टिकट देने का फैसला किया? आइए जानते हैं...

उत्तर प्रदेश में दो संसदीय सीटों पर हो रहे उपचुनाव की वजह से राजनीतिक हलचल फिर तेज हो गई है. आजमगढ़ ( Azamgarh Parliament Seat Bypolls ) और रामपुर ( Rapur Parliament Seat Bypolls ) सीटों पर हो रहे उपचुनाव में सभी की नजरें हैं. समाजवादी पार्टी (एसपी) प्रमुख अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav ) ने आजमगढ़ की सांसदी से इस्तीफा दिया था. पहले इस सीट पर सुशील आनंद को टिकट दिए जाने की चर्चा थी लेकिन ऐन मौके पर पार्टी ने धर्मेंद्र यादव ( Dharmendra Yadav SP Candidate ) को टिकट धमा दिया.

ये भी देखें- UP Lok Sabha by-elections : कौन हैं सपा के रामपुर से लोकसभा उपचुनाव में उम्मीदवार आसिम राजा?

आखिर क्या वजह रही कि एसपी ने बामसेफ के संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे बलिहारी बाबू के बेटे सुशील आनंद ( Sushil Anand ) का टिकट काटकर ऐन मौके पर परिवार के ही धर्मेंद्र यादव को टिकट देने का फैसला किया? आइए जानते हैं अखिलेश की रणनीति को...

आजमगढ़ की 10 की 10 सीटें SP के खाते में

आजमगढ़ में विधानसभा की 10 सीटें आती हैं. इसमें से गोपालपुर, सागरी, मुबारकपुर, आजमगढ़, मेहनगर जहां आजमगढ़ संसदीय सीट के अंतर्गत आती हैं, तो अतरौलिया, निजामाबाद, फूलपुर-पवई, दीदारगंज और लालगंज सीटें लालगंज संसदीय सीटों के अंदर आती है. बड़ी बात ये है कि 2022 के विधानसभा चुनाव ( UP Assembly Elections 2022 ) में इन सभी सीटों पर एसपी ने कब्जा जमाया था और इसकी बड़ी वजह मुस्लिम और यादव वोट बैंक का एकजुट होकर पार्टी के पक्ष में आना था.

जिले में मुस्लिम आबादी 15 फीसदी से ज्यादा है. यादव वोट बैंक भी संख्या में प्रभावशाली है. पार्टी का यादव वोट बैंक बीएसपी के दलित कैडर से दूरी रखता है. अखिलेश किसी भी कीमत पर इस यादव वोट बैंक को नाराज नहीं करना चाहते थे, जो पहले लोकसभा के चुनाव में और फिर विधानसभा के चुनाव में उनके साथ मजबूती से खड़ा रहा.

गुड्डू जमाली और निरहुआ ने बढ़ाया SP का डर

शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली ( Shah Alam Alias Guddu Jamali ) यहां BSP कैंडिडेट हैं. वहीं, बीजेपी ने भोजपुरी सुपरस्टार दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' ( Dinesh Lal Yadav 'Nirahua' ) को टिकट दिया है. 2019 के लोकसभा चुनाव में अखिलेश को यहां 60 फीसदी वोट मिले थे जबकि निरहुआ को 35 फीसदी. 2014 में इस सीट से मुलायम ने दावेदारी ठोंकी थी तब उन्हें 35.43 फीसदी वोट मिले थे.

2019 में अखिलेश को बढ़त इसलिए भी मिली क्योंकि बीएसपी और एसपी साथ मिलकर चुनाव लड़े थे. अब क्योंकि दोनों के रास्ते अलग है और बीएसपी ने प्रभावशाली मुस्लिम चेहरे गुड्डू जमाली को मैदान में उतार दिया है.

ये भी देखें- Rajya Sabha Election: बिना चुनाव के ही राज्यसभा पहुंचे कई दिग्गज, सिब्बल से लेकर जयंत तक की सीधी एंट्री

ऐसे में मुस्लिम वोट बंटने का भी अंदेशा है. वहीं, निरहुआ को लेकर भी पू्र्वांचल में लोगों की दीवानगी किसी से छिपी नहीं है. सुशील आनंद निश्चित ही इन दोनों के सामने कमजोर कैंडिडेट साबित हो रहे थे और लड़ाई दो दलों बीजेपी और बीएसपी के बीच होती दिखाई दे रही थी. ऐसे में जरा सी चूक, SP के सभी समीकरण ध्वस्त कर सकती थी.

धर्मेंद्र यादव को टिकट क्यों दिया गया?

आजमगढ़ में पहले SP के टिकट पर डिंपल यादव ( Dimple Yadav ) के चुनाव लड़ने की सुगबुगाहट थी लेकिन तमाम तरह की मुश्किलों को देखते हुए आखिरकार पार्टी ने धर्मेंद्र यादव ( Dharmendra Yadav ) को चुना. हालांकि धर्मेंद्र यादव की सीट बदायूं रही है, जहां से अभी स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी संघमित्रा मौर्य ( Sanghmitra Maurya ) सांसद हैं. वह 2019 में बीजेपी के टिकट पर जीती थीं.

धर्मेंद्र ने ना ना करते हामी तो भरी लेकिन आजमगढ़ पहुंचकर ये भी कह दिया कि बदायूं से उनका रिश्ता कायम रहेगा. धर्मेंद्र को टिकट देने के पीछे पार्टी की मंशा ये संदेश देने की है कि सीट यादव परिवार के पास ही रहेगी. ऐसी स्थिति में वोटर एकजुट होकर मजबूती से SP का पक्ष ले सकता है.

अप नेक्स्ट

Azamgarh Bypolls 2022: अखिलेश ने ऐन मौके पर क्यों बदली रणनीति? धर्मेंद्र यादव को क्यों छोड़ना पड़ा बदायूं

Azamgarh Bypolls 2022: अखिलेश ने ऐन मौके पर क्यों बदली रणनीति? धर्मेंद्र यादव को क्यों छोड़ना पड़ा बदायूं

UP: हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों वाले कागज के टुकड़े में चिकन बेच रहा था शख्स, गिरफ्तार

UP: हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों वाले कागज के टुकड़े में चिकन बेच रहा था शख्स, गिरफ्तार

Panchkula club firing: नाइट क्लब के बाहर फायरिंग में दो घायल, आरोपी फरार

Panchkula club firing: नाइट क्लब के बाहर फायरिंग में दो घायल, आरोपी फरार

Lalu Yadav : ICU में भर्ती लालू यादव की सामने आई तस्वीर, बेटी ने पिता को बताया 'हीरो'...लिखा इमोशनल पोस्ट

Lalu Yadav : ICU में भर्ती लालू यादव की सामने आई तस्वीर, बेटी ने पिता को बताया 'हीरो'...लिखा इमोशनल पोस्ट

 Mumbai : भारी बारिश से सड़कों पर जमा पानी, NDRF तैनात, सीएम ने कहा- सतर्क रहें

Mumbai : भारी बारिश से सड़कों पर जमा पानी, NDRF तैनात, सीएम ने कहा- सतर्क रहें

Mohammed Zubair Case: सीतापुर कोर्ट में जुबैर की पेशी, अदालत ने 14 दिन की न्‍यायिक हिरासत में भेजा

Mohammed Zubair Case: सीतापुर कोर्ट में जुबैर की पेशी, अदालत ने 14 दिन की न्‍यायिक हिरासत में भेजा

और वीडियो

Maharashtra: शिंदे गुट की मांग, व्हिप का उल्लंघन करने वाले उद्धव खेमे के विधायक हों 'अयोग्य घोषित'

Maharashtra: शिंदे गुट की मांग, व्हिप का उल्लंघन करने वाले उद्धव खेमे के विधायक हों 'अयोग्य घोषित'

UP News: 2024 में किसके साथ चुनाव लड़ेंगे राजभर? अखिलेश को लेकर क्या की टिप्पणी?

UP News: 2024 में किसके साथ चुनाव लड़ेंगे राजभर? अखिलेश को लेकर क्या की टिप्पणी?

Maharashtra Politics: रामलला के दर्शन करने सभी विधायकों संग अयोध्या जाएंगे शिंदे, जीत के बाद किया ऐलान

Maharashtra Politics: रामलला के दर्शन करने सभी विधायकों संग अयोध्या जाएंगे शिंदे, जीत के बाद किया ऐलान

'Kejriwal Anthem' गाने वाली MLA पर मान सरकार मेहरबान, पंजाब में बनाया मंत्री

'Kejriwal Anthem' गाने वाली MLA पर मान सरकार मेहरबान, पंजाब में बनाया मंत्री

Saharanpur Violence: कोर्ट ने 8 आरोपियों को किया बरी, पुलिस ने बेरहमी से की थी पिटाई

Saharanpur Violence: कोर्ट ने 8 आरोपियों को किया बरी, पुलिस ने बेरहमी से की थी पिटाई

Maharashtra News:संजय राउत के खिलाफ वारंट जारी, मानहानी के मामले में फंसे शिवसेना नेता

Maharashtra News:संजय राउत के खिलाफ वारंट जारी, मानहानी के मामले में फंसे शिवसेना नेता

PM Modi ने 90 साल की बुजूर्ग महिला के छुए पैर, जानें- कौन हैं पासाला कृष्णमूर्ति

PM Modi ने 90 साल की बुजूर्ग महिला के छुए पैर, जानें- कौन हैं पासाला कृष्णमूर्ति

Watch Video: Moosewala को मारने के बाद हत्यारों ने कार में मनाया जश्न, हाथों में लहराये हथियार

Watch Video: Moosewala को मारने के बाद हत्यारों ने कार में मनाया जश्न, हाथों में लहराये हथियार

Petrol-Diesel Price: महाराष्ट्र में सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल, CM एकनाथ शिंदे का बड़ा ऐलान

Petrol-Diesel Price: महाराष्ट्र में सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल, CM एकनाथ शिंदे का बड़ा ऐलान

MooseWala Murder: धरा गया मूसेवाला पर नजदीक से गोलियां दागने वाला अंकित सिरसा, 19 की उम्र में बना हत्यारा

MooseWala Murder: धरा गया मूसेवाला पर नजदीक से गोलियां दागने वाला अंकित सिरसा, 19 की उम्र में बना हत्यारा

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.