हाइलाइट्स

  • चुनाव से पहले CM पद से हटाए गए बिप्लब कुमार देब
  • माणिक साहा होंगे त्रिपुरा के नए CM
  • पार्टी चाहती है संगठन के लिए काम करूं- बिप्लब

लेटेस्ट खबर

Morning Top 10 News: ज्ञानवापी मस्जिद पर आज फिर 'सुप्रीम' सुनवाई, 27 महीने बाद आजम खान जेल से रिहा

Morning Top 10 News: ज्ञानवापी मस्जिद पर आज फिर 'सुप्रीम' सुनवाई, 27 महीने बाद आजम खान जेल से रिहा

J&K: रामबन इलाके में ढहा निर्माणाधीन टनल का हिस्सा, 7 के फंसे होने की आशंका...रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

J&K: रामबन इलाके में ढहा निर्माणाधीन टनल का हिस्सा, 7 के फंसे होने की आशंका...रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

IPL 2022 Playoffs Scenario: दिल्ली का आखिरी मैच तय करेगा RCB का भविष्य, हसरंगा ने छीनी चहल से पर्पल कैप

IPL 2022 Playoffs Scenario: दिल्ली का आखिरी मैच तय करेगा RCB का भविष्य, हसरंगा ने छीनी चहल से पर्पल कैप

India-China LAC: पैंगोंग झील के पास बन रहे पुल पर भारत ने चीन को दिया करारा जवाब, कहीं ये बड़ी बातें

India-China LAC: पैंगोंग झील के पास बन रहे पुल पर भारत ने चीन को दिया करारा जवाब, कहीं ये बड़ी बातें

Quad Summit: पीएम मोदी 24 मई को जाएंगे जापान, जो बाइडेन से करेंगे मुलाकात

Quad Summit: पीएम मोदी 24 मई को जाएंगे जापान, जो बाइडेन से करेंगे मुलाकात

Biplab Deb Resign: त्रिपुरा में जिसने ढहाया लेफ्ट का किला, उसी से BJP ने लिया इस्तीफा, 4 मुख्य वजहें

Biplab Deb Resign: कर्नाटक, उत्तराखंड और गुजरात के बाद बीजेपी ने नॉर्थ ईस्ट राज्य त्रिपुरा (Tripura) में भी चुनाव से पहले मुख्यमंत्री बदल दिया है. राज्य के अगले सीएम डॉ. माणिक साहा (Manik Saha) होंगे.

राजनीति में कभी भी, कुछ भी हो सकता है. विधानसभा चुनाव से करीब 8 महीने पहले, त्रिपुरा (Tripura) में बड़ा उलटफेर दिखाई दिया है. मौजूदा सीएम बिप्लब देब ने अपने पद से इस्तीफा (Biplab Deb resigns) दे दिया. उनकी जगह अब प्रदेश की कमान डॉ. माणिक साहा (Manik Saha) के हाथ में होगी. अब सवाल ये उठता है कि जिस बिप्लब देब ने 2018 के विधानसभा चुनाव में BJP का परचम लहराकर, 25 साल तक रहे लेफ्ट फ्रंट (left front) के शासन को ध्वस्त कर दिया था, बीजेपी ने उसी शख्स को CM पद से हटाने का फैसला क्यों लिया ?

Tripura: बिप्लब देब के बाद मणिक साहा होंगे त्रिपुरा के CM, कांग्रेस छोड़कर आए थे पार्टी में

बिप्लब देब ने क्यों दिया इस्तीफा?

सीएम के इस्तीफे के कई कारण निकलकर सामने आ रहे हैं. पहला तो ये कि बिप्लब कुमार देब को लेकर त्रिपुरा बीजेपी में ही लगातार नाराजगी बढ़ रही थी. बिप्लब को उन्हीं की सरकार में विरोध का सामना करना पड़ रहा था. उनके विरोध में कई विधायकों ने दिल्ली (DELHI) तक के चक्कर लगाए. विधायकों ने संगठन और संगठन के नेताओं को साथ लेकर नहीं चलने के आरोप लगाकर 'दिल्ली दरबार' में शिकायत की.

दूसरा कारण ये कि अगले साल 2023 की शुरुआत में ही त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) अपने कदम त्रिपुरा की तरफ बढ़ा चुकी हैं. तृणमूल कांग्रेस (TMC) अब त्रिपुरा में तेजी से मजबूत हो रही है. ऐसे में माना जा रहा है कि बीजेपी की अंतर्कलह को दूर करने और चुनाव से पहले पार्टी को मजबूत करने के लिए बिप्लब से इस्तीफा लिया गया.

तीसरा और सबसे अहम कारण ये भी है कि बिप्लब कुमार देब से मनमुटाव के चलते 2 विधायक सुदीप राय (Sudeep Rai) और आशीष साह (Ashish Sah) कुछ महीने पहले पार्टी छोड़कर कांग्रेस (Congress) में शामिल हो गए थे. विधानसभा चुनाव होने में करीब 8 महीने बचे हैं. ऐसे में बीजेपी कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थी, इसीलिए बिप्लब को अपनी कुर्सी छोड़नी पड़ी.

चौथा कारण ये है कि त्रिपुरा से एक संदेश लगातार जा रहा था और वह ये कि बिप्लब, सरकार और संगठन के बीच तालमेल नहीं बना पा रहे हैं. जो लोग राजनीति की थोड़ी भी समझ रखते हैं, उन्हें चुनाव में बीजेपी के संगठन के महत्व और कार्यशैली का अच्छे से पता होगा. इसके साथ ही राज्य में BJP की सहयोगी पार्टी IPFT भी उनसे बहुत ज्यादा खुश नहीं थी.

बता दें कि इस्तीफे से एक दिन पहले ही बिप्लब कुमार देब ने गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) से मुलाकात की थी, माना जा रहा है कि शाह के कहने पर ही उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा है. इसके अलावा बिप्लब देब अपने बयानों को लेकर भी लगातार विवादों में रहे हैं.

Latest Hindi News - Biplab Kumar Deb Resign: त्रिपुरा के CM बिप्लब देब का इस्तीफा, मणिक साहा होंगे अगले CM

अप नेक्स्ट

Biplab Deb Resign: त्रिपुरा में जिसने ढहाया लेफ्ट का किला, उसी से BJP ने लिया इस्तीफा, 4 मुख्य वजहें

Biplab Deb Resign: त्रिपुरा में जिसने ढहाया लेफ्ट का किला, उसी से BJP ने लिया इस्तीफा, 4 मुख्य वजहें

Kerala: शिक्षक ने 30 सालों तक किया यौन शोषण, 75 छात्राओं ने बताई आपबीती, फेसबुक पोस्ट से शुरू हुआ #Metoo

Kerala: शिक्षक ने 30 सालों तक किया यौन शोषण, 75 छात्राओं ने बताई आपबीती, फेसबुक पोस्ट से शुरू हुआ #Metoo

Driving License के नियमों में सरकार ने किया बड़ा बदलाव, जानें अब कैसे बनेगा DL

Driving License के नियमों में सरकार ने किया बड़ा बदलाव, जानें अब कैसे बनेगा DL

RBI Hikes Repo Rate: EMI होगी महंगी, RBI ने बढ़ा दी ब्याज दरें...जानें कितनी कटेगी जेब?

RBI Hikes Repo Rate: EMI होगी महंगी, RBI ने बढ़ा दी ब्याज दरें...जानें कितनी कटेगी जेब?

Jodhpur: बालमुकुंद बिस्सा थे कौन, जिनकी मूर्ति पर झंडा लगाने पर भड़की हिंसा

Jodhpur: बालमुकुंद बिस्सा थे कौन, जिनकी मूर्ति पर झंडा लगाने पर भड़की हिंसा

World Press Freedom Day 2022: जानें विश्व प्रेस आजादी दिवस का इतिहास, क्या है दुनिया में भारत की रैंकिंग?

World Press Freedom Day 2022: जानें विश्व प्रेस आजादी दिवस का इतिहास, क्या है दुनिया में भारत की रैंकिंग?

और वीडियो

Patiala Violence: हिंदू और सिख एक दूसरी की जान के दुश्मन क्यों बने? 15 प्वॉइंट में जानिए

Patiala Violence: हिंदू और सिख एक दूसरी की जान के दुश्मन क्यों बने? 15 प्वॉइंट में जानिए

Nuclear Bomb Attack: परमाणु बम फटने के बाद क्या होता है, हमले के बाद कैसे बचे?

Nuclear Bomb Attack: परमाणु बम फटने के बाद क्या होता है, हमले के बाद कैसे बचे?

Exit Poll Results 2022: जानें कब कब गलत साबित हुए एग्जिट पोल?

Exit Poll Results 2022: जानें कब कब गलत साबित हुए एग्जिट पोल?

Elections 2022: जानें क्या है Exit Poll और Opinion Poll ? ये रही पूरी ABCD

Elections 2022: जानें क्या है Exit Poll और Opinion Poll ? ये रही पूरी ABCD

UP Elections 2022 : 2nd Phase की वोटिंग को समझिए

UP Elections 2022 : 2nd Phase की वोटिंग को समझिए

UP Elections 2022 : दूसरे चरण में इन दिग्गजों की किस्मत दांव पर

UP Elections 2022 : दूसरे चरण में इन दिग्गजों की किस्मत दांव पर

छात्र आंदोलन में FIR झेलने वाले Khan Sir को कितना जानते हैं आप?

छात्र आंदोलन में FIR झेलने वाले Khan Sir को कितना जानते हैं आप?

UP Elections: स्वामी प्रसाद मौर्य के कॉन्फिडेंस की वजह क्या है?

UP Elections: स्वामी प्रसाद मौर्य के कॉन्फिडेंस की वजह क्या है?

UP Elections: अयोध्या-मथुरा छोड़ योगी ने क्यों चुनी गोरखपुर सदर सीट?

UP Elections: अयोध्या-मथुरा छोड़ योगी ने क्यों चुनी गोरखपुर सदर सीट?

UP Elections 2022 : 35 सालों की 'टाइम मशीन'!

UP Elections 2022 : 35 सालों की 'टाइम मशीन'!

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.