हाइलाइट्स

  • उपहार कांड और 'बॉर्डर' फिल्म का कनेक्शन क्या?
  • ‘उपहार कांड’ में बच सकती थीं 59 जानें !
  • 'बॉर्डर' फिल्म न होती तो बच जाते लोग?
  • 13 जून से जुड़ा ये अहम इतिहास जानते हैं?

लेटेस्ट खबर

Delhi Auto-Taxi Fare Hike: दिल्ली में ऑटो-टैक्सी का सफर होगा महंगा, जानिए अब कितना देना होगा किराया?

Delhi Auto-Taxi Fare Hike: दिल्ली में ऑटो-टैक्सी का सफर होगा महंगा, जानिए अब कितना देना होगा किराया?

Manipur Landslide: मणिपुर भूस्खलन का CM बीरेन सिंह ने लिया जायजा, हादसे में अब तक 81 लोगों की मौत

Manipur Landslide: मणिपुर भूस्खलन का CM बीरेन सिंह ने लिया जायजा, हादसे में अब तक 81 लोगों की मौत

SpiceJet Emergency Landing: दिल्ली में स्पाइसजेट विमान की इमरजेंसी लैंडिंग, केबिन में धुआं

SpiceJet Emergency Landing: दिल्ली में स्पाइसजेट विमान की इमरजेंसी लैंडिंग, केबिन में धुआं

West Bengal: शुभेंदु अधिकारी के काफिले में दुर्घटना, BJP ने ‘साजिश’ की आशंका जताई

West Bengal: शुभेंदु अधिकारी के काफिले में दुर्घटना, BJP ने ‘साजिश’ की आशंका जताई

Shiv sena patch up: ठाकरे और शिंदे में होगी सलाह, BJP नेता का दावा- 12 सांसद पाला बदलने को तैयार

Shiv sena patch up: ठाकरे और शिंदे में होगी सलाह, BJP नेता का दावा- 12 सांसद पाला बदलने को तैयार

13 June Today’s History : 'बॉर्डर' फिल्म में धमाकों के सीन न होते तो ‘उपहार कांड’ में बच जाती 59 जानें !

13 जून 1997 को ही दिल्ली में उपहार सिनेमा अग्निकांड (Uphaar Cinema Fire) हुआ था...इस कांड ने दिल्ली ही नहीं पूरे देश को हिला कर रख दिया था. मरने वाले 59 लोगों में से 23 बच्चे थे. सबसे छोटा बच्चा महज एक महीने का था...जानिए 13 जून का ये दर्दनाक इतिहास...

Today in History 13 June : आज से 25 साल पहले सनी देओल (Sunny Deol) की फिल्म बॉर्डर (Border) आई थी...उसके एक-एक डायलॉग पर पूरा देश फिदा था...कलाकारों की अदाकारी और निर्देशन की वजह से फिल्म तो सुपर-डुपर हिट हो गई...लेकिन दिल्ली में इस फिल्म का फर्स्ट डे-फर्स्ट शो 59 लोगों की जिंदगी का लास्ट शो साबित हुआ...वो तारीख थी 13 जून 1997 की और वो कांड था उपहार सिनेमा अग्निकांड (Uphaar Cinema Fire)...इस कांड ने दिल्ली ही नहीं पूरे देश को हिला कर रख दिया था. मरने वाले 59 लोगों में से 23 बच्चे थे. सबसे छोटा बच्चा महज एक महीने का था..

नीलम कृष्णमूर्ति...(Neelam Krishnamurthy) दिल्ली के कालकाजी में रहती हैं...वे 13 जून 1997 की उस तारीख को हमेशा कोसती रहती हैं कि क्योंकि उसी दिन उन्होंने अपने दोनों बच्चों उन्नति और उज्जवल के लिए बॉर्डर फिल्म की टिकट खरीदी थी... दोनों बच्चों को थियेटर में छोड़ने के लिए उनके पति शेखर कृष्णमूर्ति गए थे. पहला शो दोपहर 3.15 मिनट पर था. लेकिन दोनों बच्चे थियेटर के अंदर गए तो फिर कभी घर लौट कर नहीं आए पाए... नीलम को पता है कि यदि वे दोनों जिंदा होते तो उन्नति 41 और उज्जवल 36 साल का होता...

ये भी पढ़ें| Nupur Sharma Hate Speech: क्या पैगंबर मोहम्मद विवाद ने मुसलमानों को एकजुट होने का मौका दिया?

BBC को नीलम ने जो बताया उसके मुताबिक शाम करीब 4.55 मिनट पर उपहार सिनेमाहॉल के ग्राउंड प्लोर पर मौजूद ट्रांसफॉर्मर रूम में आग लगी...लपटें तेजी से फैलने लगीं. इन सब से बेखबर लोग फिल्म देखने में लगे रहे. कुछ चश्मदीद तो ये भी कहते हैं कि आग लगने की शुरू में जानकारी इसलिए नहीं मिली क्योंकि बॉर्डर मूवी में धमाके की आवाजों में आग की आवाज छिप गई. उधर कुछ ही देर में आग की लपटें हॉल के अंदर तक पहुंच गईं. हॉल चारों तरफ से बंद था. ऐसे में लोग भाग नहीं सकें. कुछ लोग जिंदा जल गए तो कुछ भगदड़ में कुचल कर खत्म हो गए. जो लोग ऊपर की मंजिल में थे वो खिड़कियों से बाहर कूदने लगे. इस हादसे में 103 लोग बुरी तरह घायल भी हुए थे...हादसा इसलिए भी और भयानक हो गया क्योंकि दमकल की गाड़ियां ग्रीन पार्क में लगी जाम में फंस गईं. इस पूरी घटना ने दिल्ली ही नहीं पूरे देश को हिला कर रख दिया.

उधर, जैसे-जैसे हादसे की जांच आगे बढ़ी हमारे सिस्टम की पोल खुलती गई...थियेटर से बाहर निकलने का सिर्फ एक रास्ता था...आग से बचने के लिए पूरी इमारत में पुख्ता इंतजाम नहीं थे. पुलिस ने थियेटर के मालिक सुशील और गोपाल अंसल के खिलाफ गैर इरादतन हत्या और लापरवाही से मौत का मामला दर्ज किया. लेकिन मुश्किल ये थी कि उनके खिलाफ पुख्ता केस तैयार नहीं हो पा रहा है...दूसरी तरफ नीलम कृष्णामूर्ति और दूसरे उपहार पीड़ित लोगों ने संगठन बनाकर संघर्ष तेज कर दिया...नतीजा ये हुआ कि 24 जुलाई 1997 को ये केस सीबीआई को ट्रांसफर हो गया. निचली अदालत ने हादसे के लिए अंसल बंधुओं को दोषी ठहराया और दो साल की सजा सुनाई...मामला फिर हाईकोर्ट में पहुंचा. कानूनी दांवपेंच का इस्तेमाल कर अंसल बंधुओं ने सजा को कम कराकर एक साल करवा लिया. लेकिन उपहार पीड़ित हार मानने को तैयार नहीं थे...वे सुप्रीम कोर्ट पहुंचे..जहां से साल 2015 में अदालत ने पीड़ितों को 30-30 करोड़ रुपये जुर्माना भरने और एक साल की सजा का फैसला सुनाया. यानी उपहार पीड़ितों को इंसाफ 18 सालों बाद मिला..

चलते-चलते आज की तारीख में दूसरी बड़ी खबरों पर भी निगाह मार लेते हैं.

  • 1290 : खिलजी प्रमुख जलालुद्दीन फिरोजशाह दिल्ली की गद्दी पर बैठा
  • 1909: केरल के पालाघाट में ई एम एस नंबूदरिपाद का जन्म
  • 1932: ब्रिटेन ने 72 वर्षों तक स्वेज नहर का नियंत्रण रखने के बाद उसे मिस्र को सौंपा
  • 2012: पाकिस्तान के मशहूर गजल गायक मेंहदी हसन का निधन

BIG NEWS: यहां CLICK कर देखें हर बड़ी खबर

अप नेक्स्ट

13 June Today’s History : 'बॉर्डर' फिल्म में धमाकों के सीन न होते तो ‘उपहार कांड’ में बच जाती 59 जानें !

13 June Today’s History : 'बॉर्डर' फिल्म में धमाकों के सीन न होते तो ‘उपहार कांड’ में बच जाती 59 जानें !

Heavy rains: दो दिन की बारिश में खुल गई महानगरों की पोल, बिहार में बदहाली शाप नहीं Trend!

Heavy rains: दो दिन की बारिश में खुल गई महानगरों की पोल, बिहार में बदहाली शाप नहीं Trend!

Udaipur Murder: कन्हैयालाल की हत्या का जिम्मेदार कौन? रियाज-गौस को एक महीने में मिलेगी सजा!

Udaipur Murder: कन्हैयालाल की हत्या का जिम्मेदार कौन? रियाज-गौस को एक महीने में मिलेगी सजा!

Apple iPhone 1: आज ही बाजार में आया था पहला आईफोन, मच गया था तहलका!

Apple iPhone 1: आज ही बाजार में आया था पहला आईफोन, मच गया था तहलका!

Field Marshal General Sam Manekshaw: 9 गोलियां खाकर सर्जन से कहा- गधे ने दुलत्ती मार दी, ऐसे थे मानेकशॉ

Field Marshal General Sam Manekshaw: 9 गोलियां खाकर सर्जन से कहा- गधे ने दुलत्ती मार दी, ऐसे थे मानेकशॉ

Black Hole Tragedy: 20 June, Today History- कलकत्ता की इस घटना ने भारत में खोल दिए अंग्रेजी राज के दरवाजे

Black Hole Tragedy: 20 June, Today History- कलकत्ता की इस घटना ने भारत में खोल दिए अंग्रेजी राज के दरवाजे

और वीडियो

5 June in History: क्या आप जानते हैं- औरंगजेब ने दिल्ली से लेकर गुवाहाटी तक मंदिर भी बनवाए थे

5 June in History: क्या आप जानते हैं- औरंगजेब ने दिल्ली से लेकर गुवाहाटी तक मंदिर भी बनवाए थे

Loudspeaker Row: BJP पर गरम रहने वाले Raj Thackeray, उद्धव सरकार पर सख्त क्यों?

Loudspeaker Row: BJP पर गरम रहने वाले Raj Thackeray, उद्धव सरकार पर सख्त क्यों?

Russia-Ukraine War: ‘वैक्यूम बम’ यानी फॉदर ऑफ ऑल बम ? जानिए सबकुछ

Russia-Ukraine War: ‘वैक्यूम बम’ यानी फॉदर ऑफ ऑल बम ? जानिए सबकुछ

UP Elections 2022: अंदर से कैसा दिखता है योगी आदित्यनाथ का मठ, देखें Exclusive Video

UP Elections 2022: अंदर से कैसा दिखता है योगी आदित्यनाथ का मठ, देखें Exclusive Video

UP Elections : यूपी चुनाव में क्या प्रियंका पलटेंगी बाजी?

UP Elections : यूपी चुनाव में क्या प्रियंका पलटेंगी बाजी?

UP Elections 2022: क्या जाति फैक्टर बिगाड़ेगा BJP का खेल?

UP Elections 2022: क्या जाति फैक्टर बिगाड़ेगा BJP का खेल?

छात्र आंदोलन में FIR झेलने वाले Khan Sir को कितना जानते हैं आप?

छात्र आंदोलन में FIR झेलने वाले Khan Sir को कितना जानते हैं आप?

सोतीगंज: उत्तर प्रदेश का 'बदनाम बाज़ार' जिसपर योगी ने जड़ा ताला!

सोतीगंज: उत्तर प्रदेश का 'बदनाम बाज़ार' जिसपर योगी ने जड़ा ताला!

UP Elections 2022: राज्य में क्या है मुस्लिम वोटों का सच?

UP Elections 2022: राज्य में क्या है मुस्लिम वोटों का सच?

UP Elections 2022 : मायावती के बिना क्यों अधूरी है यूपी की राजनीति? जानें पूरी कहानी

UP Elections 2022 : मायावती के बिना क्यों अधूरी है यूपी की राजनीति? जानें पूरी कहानी

Editorji Technologies Pvt. Ltd. © 2022 All Rights Reserved.